सुनम

--Advertisement--

कैंडल जलाकर नशा न करने का दिया संदेश

पंजाब में फैल रहे नशे के विरोध में विभिन्न संगठनों की ओर से समाज सेवी अनिल गोयल की अगुवाई में कैंडल मार्च निकाला...

Danik Bhaskar

Jul 08, 2018, 03:45 AM IST
पंजाब में फैल रहे नशे के विरोध में विभिन्न संगठनों की ओर से समाज सेवी अनिल गोयल की अगुवाई में कैंडल मार्च निकाला गया, जिसमें विभिन्न समाजसेवी संगठनों ने भाग लिया। इस मौके पर अनिल गोयल ने कहा कि वर्तमान समय में पंजाब के जो हालात हैं, वह सिर्फ एक सप्ताह तक विरोध करने से नहीं सुधर सकते। कैंडल मार्च निकालने का मुख्य मकसद नौजवानों को नशे से दूर करना है। यदि उनके द्वारा निकाले गए कैंडल मार्च के प्रभाव से एक भी नौजवान नशे को त्याग देता है तो वह समझेंगे की उनका मकसद कामयाब होगा। इस मौके पर रोटरी क्लब के प्रधान शिव जिंदल ने कहा कि नशा हमारे नौजवानों की खत्म कर रहा है, जिससे पंजाब का भविष्य खतरे में है। उन्होंने नशे की दलदल में धंस चुके नौजवानों से अपील की कि वह नशा न करें। इसका खमियाजा उनके परिवार को भी भुगतना पड़ता है। इस मौके पर शशी गर्ग, लक्षक शर्मा आदि उपस्थित थे। (टिंका)

सुनाम में कैंडल मार्च निकालकर नशे के खिलाफ जागरूक करते हुए समाजसेवी संगठनों के सदस्य।

नशे के विरुद्ध चेतना मार्च निकाला

शेरपुर|पंजाब में फैल रहे नशे के विरोध में आम आदमी पार्टी की ओर से क्षेत्र विधायक कुलवंत सिंह पंडोरी की अगुवाई में चेतना मार्च निकाला गया। कुलवंत पंडोरी ने कहा कि पंजाब में पिछली अकाली भाजपा सरकार के दौरान नशे का व्यापार शुरू हुआ व कांग्रेस के राज में यह धंधा रुकने की बजाय और फैल रहा है, जिस कारण पंजाब के युवा चिट्टे जैसे नशे का शिकार होकर तबाह हो रहे हैं। इस मौके पर दलवीर सिंह ढिल्लों, परमतृप्त कालाबूला, अमरीश कुमार, अजमेर सिंह, गगन सरां, दविंदर बंधेशा, तेजा सिंह आजाद आदि उपस्थित थे। (शर्मा)

चिट्टा पंजाब च रहण नी देना, चिट्टे दे व्यपारियां नूं फांसी लाओ

सिटी पार्क में नशे के खिलाफ कैंडल मार्च करते नशा विरोधी कमेटी के सदस्य।

संगरूर| नशा विरोधी स्टेट कमेटी की ओर से डॉ. एएसमान, बलदेव सिंह गोसल, प्रो. संतोख कौर, जगन्नाथ गोयल की अगुवाई में नशे के खिलाफ कैंडल मार्च निकाला गया। इस संबंध में अमरीक गागा, रीतू शर्मा ने कहा कि कैंडल मार्च में कमेटी सदस्यों ने चिट्टा पंजाब च रहण नी देना, चिट्टे दे व्यपारियां नूं फांसी लाओ, नशा छड्‌डो, कोहड़ वड्‌डो, जागो आई आ, नशा त्यागो भाई हुण जागो आई आ, के नारे लगाकर लोगों को जागरूक किया। सिटी पार्क में लोगों से नशे के खिलाफ हस्ताक्षर भी करवाए गए, जिसमें काफी संख्या में नौजवान, महिलाओं ने भाग लिया। इस मौके पर डॉ. एएसमान ने कहा कि चिट्टे का प्रयोग कभी भी नहीं करना चाहिए। यह ऐसा घातक नशा है यदि पहली बार इसकी ओवरडोज हो जाए तो व्यक्ति की मौत हो जाती है। इसलिए गांव में नशे के खिलाफ लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करें। (रजत गोयल)

Click to listen..