--Advertisement--

धान रोपाई 10 से, बिजली के लिए संघर्ष होगा

भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) की बैठक ब्लाक प्रधान जसवंत सिंह तोलावाल की अगुवाई में गुरुद्वारा सचखंड साहिब...

Danik Bhaskar | May 26, 2018, 03:50 AM IST
भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) की बैठक ब्लाक प्रधान जसवंत सिंह तोलावाल की अगुवाई में गुरुद्वारा सचखंड साहिब में हुई। बैठक में जिला प्रधान अमरीक सिंह गंढूआ ने विशेष तौर पर शिरकत की। बैठक के दौरान आने वाले धान के सीजन की रूपरेखा तैयार की गई। अमरीक सिंह गंढू़आ ने कहा कि पंजाब सरकार ने 20 जून से पहले धान लगाने पर पाबंदी लगाई है, जिसका भाकियू विरोध करती है। यूनियन ने फैसला किया है कि पंजाब में 10 जून से ही धान लगाई जाएगी, 10 जून तक पूरी बिजली लेेने के लिए तीखा संघर्ष शुरू किया जाएगा। यदि सरकार ने बिजली न दी तो यूनियन पावरकॉम के कार्यालयों का घेराव करेगी। उन्होंने कहा कि बिजली मोटरों के लोड की फीस 1200 रुपए की जाए, यदि सरकार यह स्कीम जल्दी लागू नहीं करती तो किसी अधिकारी को खेतों में मोटर चेक नहीं करने दी जाएगी। खेतों में मोटर चैक करने वाले अधिकारियों का घेराव किया जाएगा। विभाग को चाहिए कि वह निर्विघन बिजली सप्लाई देने के लिए सभी प्रबंध मुकम्मल करे, क्योंकि सीजन के दौरान बिजली सप्लाई प्रभावित होने से किसानों को काफी परेशानी होती है। कर्ज के बदले किसी भी किसान की गिरफ्तारी व जमीन की कुर्की नहीं होने दी जाएगी, ऐसा करने वाले बैंक अधिकारियों को बंधक बनाया जाएगा। कर्जमाफ करवाने संबंधी 28 मई को डीआर कार्यालय के समक्ष रोष धरना दिया जाएगा। इस मौके पर दरबारा सिंह छाजला, सुखपाल मानक,अजैब जखेपल, रामसरन सिंह, गोबिंद सिंह, रामपाल सुनाम, गुरमेल शाहपुर, भगवंत मैदेवास आदि उपस्थित थे। (टिंका,अशोक)

सुनाम में बैठक को संबोधित करते अमरीक सिंह गंढ़ूआ।