Hindi News »Punjab »Sunam» देश में 85 प्रतिशत लोग माइनर डिप्रेशन का शिकार पौष्टिक खाना, कसरत करने से कम होगा असर : मुनि

देश में 85 प्रतिशत लोग माइनर डिप्रेशन का शिकार पौष्टिक खाना, कसरत करने से कम होगा असर : मुनि

जैन स्थानक में धार्मिक समागम का आयोजन किया गया। धार्मिक समागम को संबोधित करते हुए परणीत मुनि महाराज ने कहा कि...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 25, 2018, 03:55 AM IST

जैन स्थानक में धार्मिक समागम का आयोजन किया गया। धार्मिक समागम को संबोधित करते हुए परणीत मुनि महाराज ने कहा कि डिप्रेशन एक बीमारी बनती जा रही है। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार 2020 तक यह बीमारी दूसरी बीमारी का रूप ले लेगी। भारतीय लोग माइनर डिप्रेशन के शिकार हैं। भारत में 15 प्रतिशत मेजर डिप्रेशन व 85 प्रतिशत लोग माइनर डिप्रेशन के शिकार हैं। गांवों की बजाय शहरों में डिप्रेशन के व्यक्ति है। यह बीमारी आदमी के दिमाग से जुड़ी हुई है। जिस प्रकार आदमी का शरीर कमजोर हो तो बाहर का वायरस शरीर पर जल्दी हावी हो जाता है, जिस कारण बुखार-जुकाम आदि जल्दी हो जाता है। उसी तरह जो आदमी दिमागी रूप से कमजोर हो तो वह छोटी छोटी बातों को बर्दाश्त नहीं कर पाता। भारत देश में ज्यादातर लोग डॉक्टर पर विश्वास करते हैं दवाइयों पर नहीं। अगर आप दिमागी रूप से स्वस्थ रहना चाहते हैं तो पौष्टिक खाना खाएं, योग-कसरत करें। माइनर डिप्रेशन को हम खुद ही कम कर सकते हैं। जिस प्रकार शरीर के किसी सामान्य अंग पर चोट को हम खुद ठीक कर सकते हंै उसी प्रकार माइनर डिप्रेशन को हम कम कर सकते हैं। मेजर डिप्रेशन में आदमी को दवा की जरूरत पड़ती है। कोई भी बीमारी आती है तो पहले उसका छोटा रूप ही होता है। जिस प्रकार पेड़ के पीछे बीज की भूमिका होती है, हर आदमी के पीछे एक बच्चे की भूमिका होती है, हर पक्षी के पीछे एक अंडे की भूमिका होती है। उसी प्रकार छोटी बीमारी को कभी भी नजरअंदाज न किया जाए। इस मौके पर प्रेम जैन, जगजीव जैन, अरिहंत जैन, कौशल जैन, शिव जैन, राजीव जैन, डॉ. मनोहर जैन, विपिन जैन, सुरेन्द्र जैन, रवि जैन, पूर्ण जैन आदि उपस्थित थे। (टिंका)

जैन स्थानक में धार्मिक समागम करवाया

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sunam

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×