• Home
  • Punjab News
  • Sunam News
  • भाकियू ने आढ़ती की दुकान के बाहर दिया धरना
--Advertisement--

भाकियू ने आढ़ती की दुकान के बाहर दिया धरना

भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) की ओर से आढ़ती रमनीक कुमार की दुकान के आगे धरना दिया गया। यूनियन के जिला नेता...

Danik Bhaskar | May 24, 2018, 04:00 AM IST
भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) की ओर से आढ़ती रमनीक कुमार की दुकान के आगे धरना दिया गया। यूनियन के जिला नेता दरबारा सिंह व ब्लाक प्रधान जसवंत सिंह ने बताया कि आढ़ती ने नमोल के किसान जगजीत सिंह से खाली परनोट पर हस्ताक्षर करवा लिए थे। 2001 में उसने आढ़ती के साथ हिसाब किताब कर आढ़ती बदल लिया था, परंतु आढ़ती की मौत के बाद उसके लड़के ने खाली प्रोनोट पर मर्जी की रकम भर कर किसान पर 10 लाख का केस कर दिया था। उन्होंने मांग की कि प्रोनोट बिलकुल नकली है, इसे रद्द किया जाए, खाली परनोटों पर हस्ताक्षर करवाने बंद किए जाएं। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि प्रशासन की ओर से इस पर कोई कार्रवाई न की गई तो यूनियन की ओर से तीखा संघर्ष किया जाएगा। आढ़ती रमनीक कुमार ने सभी आरोप निराधार बताते कहा कि उसका किसान जगदीश सिंह के साथ अदालत में केस चल रहा था जिसका फैसला उसके हक में हो गया है। केस हारने के बाद किसान दूसरे साथियों को लेकर धरना देकर उस पर दबाव डालना चाहता है ताकि किसान को उनके पैसे वापिस न करने पड़े। इस मौके पर सुखपाल सिंह, महिंदर, संतराम, रामपाल, जसवीर आदि उपस्थित थे। (टिंका)

सुनाम में आढ़ती की दुकान के समक्ष धरना देते किसान।

भाकियू ने केंद्र सरकार के विरुद्ध की नारेबाजी

भवानीगढ़ |भारतीय किसान यूनियन की बैठक जिला प्रधान गुरमीत सिंह कपियाल की प्रधानगी में हुई। बैठक को संबोधित करते हुए गुरमीत सिंह ने बताया कि यूनियन की ओर से किसानों की मांगो को लेकर 26 मई को जिला स्तरीय रोष मार्च कर डीसी को ज्ञापन सौंपा जाएगा। किसानों की ओर से 1 से लेकर 10 जून तक शहरों में कोई समान न बेचने का ऐलान कर पहले ही केन्द्र सरकार के विरुद्घ रोष प्रदर्शन किया जा रहा है। परंतु फिर भी केन्द्र सरकार पैट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी कर आर्थिक तौर पर परेशान किसानों का गला घोट रही है। इस दौरान यूनियन की ओर से केन्द्र सरकार के विरुद्घ नारेबाजी भी की गई। इस मौके पर कशमीर सिंह घराचों, दरबारा सिंह, चंद सिंह चन्नों, सुखदेव सिंह, जसवंत सिंह, जगदेव सिंह आदि उपस्थित थे। (लखविंदर)

जमीन की बोली रद्द करने पर दलितों ने जताया रोष

सुनाम |गांव नमोल की मिर्जा पत्ती की रिजर्व कोटे की जमीन की बोली स्थगित कर दी गई है। क्रांतिकारी पेंडू मजदूर यूनियन के राज्य प्रधान संजीव मिंटू ने बताया कि दलित भाईचारे की ओर से रिजर्व कोटे की बोली मजदूर धर्मशाला में करवाने की मांग की गई। जिस पर बीडीपीओ की ओर से बोली मजदूर धर्मशाला में करवाने की प्रवानगी दे दी गई। परंतु इस पर पंचायत सचिव ने असहमति प्रगट कर दी। जिस कारण बोली को स्थगित कर दिया गया। जिस कारण दलित भाईचारे की ओर से गांव में रोष मार्च किया गया। दूसरी ओर गांव नमोल की रिजर्व कोटे की बोली दलित मजदूर धर्मशाला में की गई। दलित भाईचारे की ओर से तय किए गए मजदूर गुरदित्त सिंह, गुरसेव सिंह व पारस सिंह ने बोली की सिक्योरिटी भरी गई परंतु बीडीपीओ की ओर पिछले वर्ष की अपेक्षा बोली 7 प्रतिशत बढ़ा कर करने पर दलितों ने इसका विरोध किया। उन्होंने मांग की कि पिछले वर्ष से 50 रुपए बढ़ाकर बोली दी जाए। जिस पर बीडीपीओं ने असहमति प्रगट की तो बोली स्थगित कर दी। मौके पर धर्मपाल कौर, बिमल कौर, जसविंदर कौर, बबली सिंह आदि उपस्थित थे। (टिंका)