• Home
  • Punjab News
  • Sunam News
  • 18 वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों को वाहन न दें अभिभावक : हरदेव
--Advertisement--

18 वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों को वाहन न दें अभिभावक : हरदेव

शहर में ट्रैफिक की समस्या को हल करवाने के लिए आदर्श नवयुवक वेलफेयर सोसायटी ने रामेश्व शिव मंदिर में ट्रैफिक...

Danik Bhaskar | Jul 04, 2018, 04:00 AM IST
शहर में ट्रैफिक की समस्या को हल करवाने के लिए आदर्श नवयुवक वेलफेयर सोसायटी ने रामेश्व शिव मंदिर में ट्रैफिक अवेयरनेस कैंप लगाया। समारोह में डीएसपी विलियम सिंह जेजी, कांग्रेस पार्टी के जिला प्रधान राजिंदर राजा, ब्रह्म कुमारी आश्रम से मीरा कुमारी ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। इसके अतिरिक्त आढ़ती एसोसिएशन के जिला प्रधान दलजीत सिंह, यूथ अकाली दल के जिला प्रधान मनिंदर सिंह लखमीरवाला ने विशेष तौर पर शिरकत की।

समारोह को संबोधित करते हुए ट्रैफिक शिक्षा सैल के इंचार्ज हरदेव सिंह, ट्रैफिक इंचार्ज नरिंदरपाल सिंह व वरिंदर कुमार ने कहा कि माता-पिता को चाहिए कि वे अपने 18 वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों को वाहन न देें, ताकि किसी भी तरह के हादसों को रोका जा सके। डीएसपी विलीयम जेजी ने कहा कि बच्चों के परिजनों को अपनी जिम्मेवारी समझनी चाहिए। जब तक बच्चों को ट्रैफिक नियमों की पूरी जानकारी न हो तब तक बच्चों को वाहन चलाने की आज्ञा नहीं मिलनी चाहिए। पुलिस का काम बच्चों के चालान काटना नहीं है बल्कि बच्चों को ट्रैफिक नियमों के बारे में जागरूक कर सड़क पर होने वाले हादसों को रोकना है। कांग्रेस नेता रजिंदर राजा ने कहा कि युवाओं का देश की तरक्की में अहम योगदान है। छोटे बच्चों का वाहन चलाना उनके माता-पिता पर निर्भर करता है इसलिए समारोह में बच्चों से पहले उनके माता-पिता को जागरूक किया जा रहा है। समारोह में फिल्म के माध्यम से भी ट्रैफिक नियमों की जानकारी दी गई। इस मौके पर अग्रवाल महिला सभा की प्रधान शशि गर्ग, सचिव निर्मला रानी, जीवन बांसल, रामेश्व मंदिर के प्रधान राकेश काका, रोटरी क्लब के प्रधान शिव जिंदल, दविंदरपाल सिंह, करूण बांसल, अशोक कांसल, मुनीष गुप्ता, पंकज डोगरा, अमरिंदर बिटू, सोनी विक्र, संजीव गुगलानी, विकास बांसल, शीतल मित्तल, हरदीप सिंह, मनजीत सिंह, यादविंदर सिंह, प्रेम गुगलानी, डॉ. साहिल, पंकज अरोड़ा हेमंत, प्रेम अग्रवाल आदि उपस्थित थे। (टिंका)

सुनाम में डीएसपी विलियम जेजी को सम्मानित करते गणमान्य।