• Hindi News
  • Punjab
  • Tarantaran
  • जम्मू में शहीद हुए जवान मनदीप सिंह का सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार
--Advertisement--

जम्मू में शहीद हुए जवान मनदीप सिंह का सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

Tarantaran News - जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में आतंकवादियों के खिलाफ सेना की छेड़ी मुहिम की ट्रेनिंग में जवानों की टुकड़ी से बिछड़...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:35 AM IST
जम्मू में शहीद हुए जवान मनदीप सिंह का सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार
जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में आतंकवादियों के खिलाफ सेना की छेड़ी मुहिम की ट्रेनिंग में जवानों की टुकड़ी से बिछड़ कर चिनाब दरिया में डूबने से शहीद हुए जवान मनदीप सिंह का पार्थिव शरीर वीरवार को उनके गांव कलसियां खुर्द पहुंचा। उनका सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। मनदीप सिंह भारतीय सेना की 118 बटालियन इंजीनियरिंग कोर के जवान थे और छह सालों से सेवा निभाते आ रहे थे। उनका पार्थिव शरीर गांव में पहुंचते ही शोक की लहर दौड़ गई। उल्लेखनीय है कि 8 जनवरी को 17 जवानों के साथ ट्रेनिंग करते हुए मनदीप सिंह अपने साथियों से बिछड़ गए थे, काफी कोशिशों के बाद उनका पार्थिव शरीर 30 जनवरी को मिल सका। जब युवा मनदीप सिंह का शव साथी जवान तिरंगे में लपेटकर पैतृक गांव कसलियां खुर्द लाए तो शहीद के अंतिम दर्शन के लिए लोग जुटने शुरू हो गए। सेना के अधिकारियों के साथ-साथ जिला प्रशासन अधिकारी एसडीएम सुरिंदर सिंह पट्‌टी, नायब सूबेदार बलबीर सिंह, पूर्व विधायक प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा सहित कई अधिकारी पहुंचे। परिजनों के साथ-साथ सभी की आंखें नम थीं।

बेसुध हुई जवान की मां

जवान बेटे का पार्थिव शरीर देख मां सुखविंदर कौर बेसुध हो गईं। वह तिरंगे में लिपटे बेटे को कभी पुकारती तो कभी रोने लगती। इस तरह कई बार बेसुध हुई, जिसे परिजन संभालते रहे।

शहादत

भास्कर न्यूज | तरनतारन

जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में आतंकवादियों के खिलाफ सेना की छेड़ी मुहिम की ट्रेनिंग में जवानों की टुकड़ी से बिछड़ कर चिनाब दरिया में डूबने से शहीद हुए जवान मनदीप सिंह का पार्थिव शरीर वीरवार को उनके गांव कलसियां खुर्द पहुंचा। उनका सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। मनदीप सिंह भारतीय सेना की 118 बटालियन इंजीनियरिंग कोर के जवान थे और छह सालों से सेवा निभाते आ रहे थे। उनका पार्थिव शरीर गांव में पहुंचते ही शोक की लहर दौड़ गई। उल्लेखनीय है कि 8 जनवरी को 17 जवानों के साथ ट्रेनिंग करते हुए मनदीप सिंह अपने साथियों से बिछड़ गए थे, काफी कोशिशों के बाद उनका पार्थिव शरीर 30 जनवरी को मिल सका। जब युवा मनदीप सिंह का शव साथी जवान तिरंगे में लपेटकर पैतृक गांव कसलियां खुर्द लाए तो शहीद के अंतिम दर्शन के लिए लोग जुटने शुरू हो गए। सेना के अधिकारियों के साथ-साथ जिला प्रशासन अधिकारी एसडीएम सुरिंदर सिंह पट्‌टी, नायब सूबेदार बलबीर सिंह, पूर्व विधायक प्रो. विरसा सिंह वल्टोहा सहित कई अधिकारी पहुंचे। परिजनों के साथ-साथ सभी की आंखें नम थीं।

बेसुध हुई जवान की मां

जवान बेटे का पार्थिव शरीर देख मां सुखविंदर कौर बेसुध हो गईं। वह तिरंगे में लिपटे बेटे को कभी पुकारती तो कभी रोने लगती। इस तरह कई बार बेसुध हुई, जिसे परिजन संभालते रहे।

मनदीप सिंह

तरनतारन के गांव कलसियां खुर्द में जैसे ही जवान का पार्थिव शरीर पहुंचा, सारा गांव इकट्‌ठा हो गया

X
जम्मू में शहीद हुए जवान मनदीप सिंह का सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..