• Hindi News
  • National
  • चिकित्सा का नोबल जीतने वाले भारतीय मूल के प्रथम वैज्ञानिक

चिकित्सा का नोबल जीतने वाले भारतीय मूल के प्रथम वैज्ञानिक

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
डॉ. हरगोविंद खुराना एक भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिक थे, जिन्हें वर्ष 1968 में प्रोटीन संश्लेषण में न्यूक्लिटाइड की भूमिका का प्रदर्शन करने के लिए चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार साझा तौर पर दो और अमेरिकी वैज्ञानिकों के साथ दिया गया। यह पुरस्कार पाने वाले वह भारतीय मूल के प्रथम वैज्ञानिक थे। हरगोविंद खुराना का जन्म अविभाजित भारत के रायपुर (जिला मुल्तान, पंजाब) में 09 जनवरी 1922 में हुआ था। 1945 में एमएससी उत्तीर्ण कर वे भारत सरकार की छात्रवृत्ति पर इंग्लैंड चले गए। वहां लिवरपूल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर ए.रॉबर्टसन् के अधीन डाॅक्टरेट किया। इन्हें फिर भारत सरकार से शोधवृत्ति मिली और ये ज्यूरिख (स्विट्जरलैंड) के फेडरल इंस्टिटयूट ऑफ टेक्नॉलोजी में प्रोफेसर वी. प्रेलॉग के साथ रिसर्च में लग गए। सन् 1960 में ये संयुक्त राज्य अमेरिका के विस्कान्सिन विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के पद पर नियुक्त हुए और अमेिरकी नागरिकता स्वीकार कर ली।

First person

Dr. Hargovind khurana

खबरें और भी हैं...