Hindi News »Rajasthan »Aahor» पोल नहीं मिलने से आहोर से नहीं जोड़ पाए छह जीएसएस, बार- बार हो रही कटौती

पोल नहीं मिलने से आहोर से नहीं जोड़ पाए छह जीएसएस, बार- बार हो रही कटौती

अडाणी ग्रुप दस करोड़ की लागत से भैंसावाड़ा में बना रहा 132केवी आहोर जीएसएस, 9 में से 6 फीडर आहोर जीएसएस से जुड़ने के बाद...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 01, 2018, 02:00 AM IST

अडाणी ग्रुप दस करोड़ की लागत से भैंसावाड़ा में बना रहा 132केवी आहोर जीएसएस, 9 में से 6 फीडर आहोर जीएसएस से जुड़ने के बाद सुधरेगी व्यवस्थाएं

भास्कर न्यूज | गुडा बालोतान

कस्बे समेत उम्मेदपुर 132 केवी स्टेशन से निकलने वाले आहोर फीडर के उम्मेदपुर, गुडाबालोतान, दयालपुरा, चांदराई, शंखवाली, अजीतपुरा, रामा, घाणा, भाद्राजून 33/11 केवी जीएसएस से जुड़े संबंधित दर्जनों गांवों में पिछले तीन चार दिनों से बार-बार अघोषित कटौती होने से ग्रामीण परेशान है। गौरतलब है कि उम्मेदपुर 132 केवी स्टेशन से निकलने वाले आहोर फीडर के उम्मेदपुर, गुडाबालोतान, दयालपुरा, चांदराई, शंखवाली, अजीतपुरा, रामा, घाणा, भाद्राजून 33/11 केवी जीएसएस में से उम्मेदपुर, गुडाबालोतान, व चांदराई जीएसएस की विद्युत लाइनों के रख-रखाव का जिम्मा उम्मेदपुर डिस्कॉम के अधीन है। जबकि दयालपुरा, शंखवाली, अजीतपुरा, रामा, घाणा व भाद्राजून 33/11 केवी जीएसएस के विद्युत लाइनों के रख-रखाव का जिम्मा आहोर डिस्कॉम अधिकारियों के जिम्मे पर है। पिछले तीन चार दिनों से अजीतपुरा, रामा, घाणा व भाद्राजून जीएसएस की विद्युत लाइनों में बार-बार फाल्ट आने से एक-साथ नौ जीएसएस की विद्युत आपूर्ति बाधित चल रही है। उम्मेदपुर डिस्कॉम अधिकारियों की माने तो अधिकांश फाल्ट लम्बी दूरी पर आए हुए अजीतपुरा, रामा, घाणा व भाद्राजून जीएसएस की लाइनों में आने से एक साथ नौ जीएसएस की आपूर्ति प्रभावित होती है।

इधर, आहोर डिस्कॉम अधिकारियों को कई बार विद्युत लाइनों के फाल्ट को ठीक करवाने के लिए कहा जाता है, लेकिन चार पांच दिन बाद वही स्थिति उत्पन्न हो जाती है। इसका स्थाई समाधान करवाने को लेकर विद्युत विभाग की ओर से इन छ: जीएसएस को उम्मेदपुर 132 केवी से अलग करके भैंसवाड़ा में करीब 10 करोड़ की लागत से अडाणी ग्रुप की ओर से बनाए गए नए 132 केवी स्टेशन से जोडा जाना प्रस्तावित है। ताकि उम्मेदपुर से करीब 70-80 किमी दूरी पर आए हुए भाद्राजून व घाणा गांव तक पूरे वॉल्टेज के साथ विद्युत आपूर्ति सुचारू ढंग से बनी रहेगी। और उम्मेदपुर 132 केवी से निकलने वाले आहोर फीडर के नौ में से छह जीएसएस कम होते ही यहां पर भी वॉल्टेज की समस्या समाप्त हो जाएगी। लेकिन आहोर डिस्कॉम अधिकारियों द्वारा इसको लेकर कार्रवाई नहीं की जा रही है।

चाहिए 450 बिजली पोल, मिले सिर्फ 200 : अधिकारियों की माने तो दोनों जीएसएस को सीधे तौर पर जोड़ने का काम चल रहा है, लेकिन उच्च अधिकारियों की ओर से समय पर विद्युत पोल व अन्य सामान उपलब्ध नहीं करवाए जाने से कार्य धीमी गति से चल रहा है। आहोर डिस्कॉम की ओर से सीधे लाइन ले जाने के लिए 450 विद्युत पोल की डिमांड की गई थी। उसके बदले अभी तक 200 पोल ही मिले है जिससे कार्य में रुकावट आ रही है।

आहोर डिस्कॉम अधिकारी नहीं कर रहे सुनवाई

आहोर डिस्कॉम के अधीन दयालपुरा, शंखवाली अजीतपुरा, रामा, घाणा व भाद्राजून जीएसएस की लाइनों में बार बार फाल्ट आने से गुडा बालोतान, उम्मेदपुर, चांदराई जीएसएस की विद्युत आपूर्ति बंद हो जाती है। इसके लिए कई मर्तबा आहोर डिस्कॉम अधिकारी को बताया गया है, लेकिन इनके द्वारा सुधार नहीं करने से परेशान होना पड़ता है। - नारायणलाल सुथार, एईएन डिस्कॉम उम्मेदपुर

उम्मेदपुर से निकलने वाले आहोर फीडर के अजीतपुरा, रामा, घाणा व भाद्राजून जीएसएस की लाइनों में फाल्ट की शिकायतें आती है, लेकिन बारिश या तेज हवाएं चले तो विद्युत लाइनों व झाडिय़ों के टकराव से ये समस्या आ जाती है। 24 घंटे विद्युत आपूर्ति सुचारू ढंग से चले इसके प्रयास जारी रहते है। छह जीएसएस को उम्मेदपुर 132 से हटाकर भैंसवाड़ा नए 132 केवी स्टेशन से जोड़ने के कार्य में अभी समय लग सकता है। - रमेश कुमार मेघवाल, एईएन डिस्कॉम आहोर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Aahor

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×