• Home
  • Rajasthan News
  • Aahor News
  • गर्भवती को झोलाझाप ने लगाए हेवी डोज इंजेक्शन, तबीयत बिगड़ी
--Advertisement--

गर्भवती को झोलाझाप ने लगाए हेवी डोज इंजेक्शन, तबीयत बिगड़ी

गुड़ा बालोतान. इंफेक्शन से गर्भवती महिला के शरीर पर लाल चकते हो गए। आहाेर अस्पताल में कराया भर्ती, पीड़ित ने...

Danik Bhaskar | Aug 12, 2018, 02:00 AM IST
गुड़ा बालोतान. इंफेक्शन से गर्भवती महिला के शरीर पर लाल चकते हो गए।

आहाेर अस्पताल में कराया भर्ती, पीड़ित ने कार्रवाई के लिए खंड चिकित्सा अधिकारी को दी रिपोर्ट

भास्कर न्यूज | गुडा बालोतान

निकटवर्ती पांचोटा गांव में झोलाझाप के कारण गर्भवती महिला की जान खतरे में आ गई। शनिवार को हालत बिगड़ने पर पांचोटा गांव से चांदराई गांव के पीएचसी में लाकर भर्ती करवाया। जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश निवासी वदनसिंह पांचोटा गांव में पानी पूडी की लॉरी लगाकर अपना एवं अपने परिवार का भरण पोषण करता है। 8 अगस्त की शाम को उसकी गर्भवती प|ी किरण को बुखार आने पर पांचोटा गांव में ही झोलाछाप के पास उपचार करवाने गया। तब उसने कुछ टेबलेट दी और दूसरे दिन वापिस दिखाने का कहा। गुरुवार को तबीयत में सुधार नहीं हुआ तो उसे दुबारा नीम हकीम के पास ले जाया गया। जहां पर उसने बीमार किरण को मलेरिया बताते हुए हैवी डोज के दो इंजेक्शन लगाए। उसके बाद घर पहुंचते ही करीब दो घंटे बाद महिला की हालत बिगड़ने लगी और पूरे शरीर पर लाल रंग के चकते हो गए तथा बुखार भी तेज हो गया। नीम हकीम को बुलाया गया तो उसने कहा कि इंजेक्शन लगाए है थोड़ी देर बाद अपने आप सही हो जाएगा। ज्यादा होने पर अस्पताल जाने का भी कह दिया।

दिन भर रहा बुखार, शरीर पर चकते भी हो गए, ग्रामीणों के कहने पर पहुंचे अस्पताल : शुक्रवार को पूरे दिन महिला तेज बुखार से जूझती रही उसके बाद ग्रामीणों के कहने पर उसका पति उसे चांदराई गांव के सरकारी अस्पताल में लेकर आया। वहां पर वदनसिंह ने चांदराई चिकित्सक अनिता विश्नोई को पूरी बात बताई। तब चांदराई चिकित्सक ने नीम हकीम के विरुद्ध कार्रवाई करवाने को लेकर बीमार महिला के पति से खंड चिकित्सा अधिकारी आहोर के नाम लिखित रिपोर्ट ली। जिसमें झोलाछाप के विरुद्ध कार्रवाई करने का हवाला दिया गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि भविष्य में किसी गरीब परिवार के साथ ऐसी घटना न हो इसके लिए नीम हकीम के विरुद्ध ठोस कार्रवाई की मांग की।

अस्पताल में इलाज करती चिकित्सक।