Hindi News »Rajasthan »Aasind» पैंथर पर हमला करने के छह आरोपी गिरफ्तार, वायरल वीडियो से पहचान

पैंथर पर हमला करने के छह आरोपी गिरफ्तार, वायरल वीडियो से पहचान

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा आसींद के साबदड़ा में पैंथर पर हमला करने के आरोप में 6 व्यक्तियों को वन विभाग की टीम ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 29, 2018, 04:10 AM IST

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा

आसींद के साबदड़ा में पैंथर पर हमला करने के आरोप में 6 व्यक्तियों को वन विभाग की टीम ने गिरफ्तार किया है। कोर्ट में पेश करने के बाद उन्हें 30 अप्रैल तक न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया। इन सभी आरोपियों पर वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9 और 51 के चार्ज लगाए गए हैं। इसके तहत न्यूनतम तीन साल की सजा की प्रावधान है।

एसीएफ सुचेक गौड़ ने बताया कि 21 अप्रैल को आसींद के साबदड़ा गांव में चारभुजा नाथ मंदिर के पास ठहरे बारातियों पर पैंथर ने हमला कर दो व्यक्तियों को घायल कर दिया। इस दौरान अन्य व्यक्तियों ने पैंथर लाठियों और डंडों से हमला कर दिया। पैंथर के सिर पर चोट लगने के कारण घायल हो गया था। 21 अप्रैल को ही पैंथर को पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। जिला वन अधिकारी एचएस हपावत का कहना है कि मुख्यालय से आदेश आया कि पैंथर पर हमला करने वालों पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जाए। एसीएफ सुचेक गौड़ के नेतृत्व में रेंजर बंशीलाल, फोरेस्टर लक्ष्मण सिंह, सहायक वनपाल गोपाल सिंह, मदन जोशी, गार्ड सलीम के रूप में टीम का गठन किया गया। इन्होंने आरोपियों की तलाश शुरू करने के लिए आसींद के विभिन्न गांवों में दबिश देना शुरू किया। तीन दिन तक आरोपी भूमिगत रहे। इस बीच एक आरोपी लादू लाल पुत्र भरदा निवासी साबदड़ा वन विभाग की टीम के हत्थे चढ़ गया। टीम ने उसे गिरफ्तार किया तो अन्य आरोपी हेमराज पुत्र मदना निवासी साबदड़ा, सुखदेव पुत्र नानाराम निवासी खातीखेड़ा, शेरसिंह पुत्र प्रेम निवासी मानसिंह जी का खेड़ा, भंवर पुत्र मोहन खाती निवासी लक्ष्मीपुरा, शिवलाल पुत्र छोगा निवासी साबदड़ा अपने आप ही चले आए। घायल पैंथर का जयपुर में उपचार किया जा रहा है। इसे 21 अप्रैल की शाम को ही वन विभाग के कर्मचारी पिंजरे में जयपुर ले गए थे। विभाग के अधिकारी लगातार पैंथर की सेहत पर नजर रखे हुए हैं।

आसींद के साबदड़ा में 21 अप्रैल को दो ग्रामीणों पर हमले के बाद ग्रामीणों ने पैंथर पर बरसाईं थी लाठियां जयपुर में चल रहा इलाज

सभी 6 आरोपी सोमवार तक न्यायिक अभिरक्षा में

शुक्रवार शाम तक सभी की गिरफ्तारी करके भीलवाड़ा लेकर आ गए। यहां लिंक मजिस्ट्रेट के पास पेश किया गया। सभी आरोपियों को 30 अप्रैल तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजने का आदेश कर दिया गया। लेकिन जेल नियमों के मुताबिक प्रवेश नहीं मिलने से रातभर जिला वन अधिकारी कार्यालय में रखा गया। शनिवार सुबह सभी को जेल भेज दिया गया। एसीएफ सुचेक गौड़ का कहना है कि शुरुआती पूछताछ में आरोपियों ने कबूला है कि हम गांववालों ने एकत्रित होकर पैंथर पर लाठियां बरसाई थीं। क्योंकि हमें डर था कि कहीं पैंथर वापस आकर लोगों पर हमला न कर दें।

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा

आसींद के साबदड़ा में पैंथर पर हमला करने के आरोप में 6 व्यक्तियों को वन विभाग की टीम ने गिरफ्तार किया है। कोर्ट में पेश करने के बाद उन्हें 30 अप्रैल तक न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया। इन सभी आरोपियों पर वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9 और 51 के चार्ज लगाए गए हैं। इसके तहत न्यूनतम तीन साल की सजा की प्रावधान है।

एसीएफ सुचेक गौड़ ने बताया कि 21 अप्रैल को आसींद के साबदड़ा गांव में चारभुजा नाथ मंदिर के पास ठहरे बारातियों पर पैंथर ने हमला कर दो व्यक्तियों को घायल कर दिया। इस दौरान अन्य व्यक्तियों ने पैंथर लाठियों और डंडों से हमला कर दिया। पैंथर के सिर पर चोट लगने के कारण घायल हो गया था। 21 अप्रैल को ही पैंथर को पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। जिला वन अधिकारी एचएस हपावत का कहना है कि मुख्यालय से आदेश आया कि पैंथर पर हमला करने वालों पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जाए। एसीएफ सुचेक गौड़ के नेतृत्व में रेंजर बंशीलाल, फोरेस्टर लक्ष्मण सिंह, सहायक वनपाल गोपाल सिंह, मदन जोशी, गार्ड सलीम के रूप में टीम का गठन किया गया। इन्होंने आरोपियों की तलाश शुरू करने के लिए आसींद के विभिन्न गांवों में दबिश देना शुरू किया। तीन दिन तक आरोपी भूमिगत रहे। इस बीच एक आरोपी लादू लाल पुत्र भरदा निवासी साबदड़ा वन विभाग की टीम के हत्थे चढ़ गया। टीम ने उसे गिरफ्तार किया तो अन्य आरोपी हेमराज पुत्र मदना निवासी साबदड़ा, सुखदेव पुत्र नानाराम निवासी खातीखेड़ा, शेरसिंह पुत्र प्रेम निवासी मानसिंह जी का खेड़ा, भंवर पुत्र मोहन खाती निवासी लक्ष्मीपुरा, शिवलाल पुत्र छोगा निवासी साबदड़ा अपने आप ही चले आए। घायल पैंथर का जयपुर में उपचार किया जा रहा है। इसे 21 अप्रैल की शाम को ही वन विभाग के कर्मचारी पिंजरे में जयपुर ले गए थे। विभाग के अधिकारी लगातार पैंथर की सेहत पर नजर रखे हुए हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Aasind

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×