• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Aasind News
  • 350 किलो तांबे से सुमेरपुर में बने कलश पर मुंबई में चढ़ाई सोने की परत, कोटड़ी मंदिर के शिखर पर चढ़ेगा
--Advertisement--

350 किलो तांबे से सुमेरपुर में बने कलश पर मुंबई में चढ़ाई सोने की परत, कोटड़ी मंदिर के शिखर पर चढ़ेगा

भीलवाड़ा | कोटड़ी चारभुजानाथ के मुख्य एवं अन्य मंदिरों पर कुल 19 कलश स्थापित किए जाएंगे। स्थापना महोत्सव एवं विष्णु...

Dainik Bhaskar

May 08, 2018, 04:20 AM IST
350 किलो तांबे से सुमेरपुर में बने कलश पर मुंबई में चढ़ाई सोने की परत, कोटड़ी मंदिर के शिखर पर चढ़ेगा
भीलवाड़ा | कोटड़ी चारभुजानाथ के मुख्य एवं अन्य मंदिरों पर कुल 19 कलश स्थापित किए जाएंगे। स्थापना महोत्सव एवं विष्णु महायज्ञ 5 मई को शुरू हो चुका है। पूर्णाहुति के बाद कलश 13 मई को शिखर पर चढ़ा देंगे। सभी कलश इन दिनों यज्ञशाला के पास बने सिकली घास वाले पांडाल में भक्तों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं।

आयोजन समिति के कोषा अध्यक्ष छोटूलाल गुर्जर के अनुसार पाली जिले के सुमेरपुर के कारीगरों ने कलश तैयार किए हैं। इनमें कुल 350 किलो तांबे के उपयोग हुआ है। इन पर मुंबई में मशीन से सोने की विशेष परत चढ़ाई गई। यह परत कलश को सदियों तक धूप व बरसात के दुष्प्रभाव से बचाए रखेगी। कलश निर्माण पर कुल 35 लाख रुपए के करीब खर्च हुए हैं। मुख्य शिखर पर स्थापित किए जाने वाले कलश की ऊंचाई 5 फीट है। कलश वाले पांडाल में भी लगातार रामायण पाठ जारी है। भक्त कलशों के दर्शन व परिक्रमा करते हैं।

कोटड़ी में 108 कुंडीय लक्ष्मी महायज्ञ में चारभुजा मंदिर को श्रद्धालु दे रहे हैं आहुतियां

भीलवाड़ा | कोटड़ी चारभुजानाथ के मुख्य एवं अन्य मंदिरों पर कुल 19 कलश स्थापित किए जाएंगे। स्थापना महोत्सव एवं विष्णु महायज्ञ 5 मई को शुरू हो चुका है। पूर्णाहुति के बाद कलश 13 मई को शिखर पर चढ़ा देंगे। सभी कलश इन दिनों यज्ञशाला के पास बने सिकली घास वाले पांडाल में भक्तों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं।

आयोजन समिति के कोषा अध्यक्ष छोटूलाल गुर्जर के अनुसार पाली जिले के सुमेरपुर के कारीगरों ने कलश तैयार किए हैं। इनमें कुल 350 किलो तांबे के उपयोग हुआ है। इन पर मुंबई में मशीन से सोने की विशेष परत चढ़ाई गई। यह परत कलश को सदियों तक धूप व बरसात के दुष्प्रभाव से बचाए रखेगी। कलश निर्माण पर कुल 35 लाख रुपए के करीब खर्च हुए हैं। मुख्य शिखर पर स्थापित किए जाने वाले कलश की ऊंचाई 5 फीट है। कलश वाले पांडाल में भी लगातार रामायण पाठ जारी है। भक्त कलशों के दर्शन व परिक्रमा करते हैं।

हनुमान मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा की... आसींद. परासोली के आरामपुरा मोल्या मंगरी में हनुमानजी की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा सोमवार को की गई। ग्रामीणों ने हवन में आहुतियां दी। इसके बाद प्राण-प्रतिष्ठा व भजन संध्या हुई। सहस्त्र धारा, कलश स्थापना कर प्रसाद वितरण किया। इस दौरान देवा, मगना, जमना लाल, उगम लाल कुमावत आदि मौजूद थे।

350 किलो तांबे से सुमेरपुर में बने कलश पर मुंबई में चढ़ाई सोने की परत, कोटड़ी मंदिर के शिखर पर चढ़ेगा
X
350 किलो तांबे से सुमेरपुर में बने कलश पर मुंबई में चढ़ाई सोने की परत, कोटड़ी मंदिर के शिखर पर चढ़ेगा
350 किलो तांबे से सुमेरपुर में बने कलश पर मुंबई में चढ़ाई सोने की परत, कोटड़ी मंदिर के शिखर पर चढ़ेगा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..