Hindi News »Rajasthan »Abu Road» केमिकल फैक्ट्री में लगी आग, बुझाने में लग गए पांच घंटे, केमिकल ड्रमों के धमाके से सहमा शहर

केमिकल फैक्ट्री में लगी आग, बुझाने में लग गए पांच घंटे, केमिकल ड्रमों के धमाके से सहमा शहर

समीपवर्ती चंद्रावती में रीको फेस फस्र्ट में रविवार रात केमिकल फैक्ट्री में अचानक आग लग गई, जिसे बुझाने के लिए...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 02:00 AM IST

केमिकल फैक्ट्री में लगी आग, बुझाने में लग गए पांच घंटे, केमिकल ड्रमों के धमाके से सहमा शहर
समीपवर्ती चंद्रावती में रीको फेस फस्र्ट में रविवार रात केमिकल फैक्ट्री में अचानक आग लग गई, जिसे बुझाने के लिए फायरब्रिगेड को सूचना दी, लेकिन फायर ब्रिगेड एक घंटे बाद मौके पर पहुंची, जिससे फैक्ट्री में लगी आग ने विकराल रुप ले लिया और लाखों रुपए का नुकसान हो गया। जानकारी के अनुसार चंद्रावती के रीको फेस फस्र्ट में प्रीमियम स्पेशिलेटी पेंट प्रा.लि. केमिकल फैक्ट्री में आग लग गई आग की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन आग बुझाने के लिए फायरब्रिगेड करीब एक घंटे बाद मौके पर पहुंची। वहीं कुछ समय बाद गैल व अन्य संस्थानों की फायरब्रिगेड भी मौके पर पहुंची तथा आग पर काबू पाने का प्रयास किया। घटना की जानकारी मिलने पर सदर पुलिस थाना अधिकारी सुमेर सिंह, चंद्रावती चौकी पर तैनात भवानी सिंह, तहसीलदार मनसुख डामोर समेत अन्य मौके पर पहुंचे तथा हादसे की जानकारी ली। साथ ही मौके से डिस्कॉम को सूचित कर बिजली आपूर्ति बंद करवाई, ताकि आग के कारण और ज्यादा नुकसान नहीं हो सके। वहीं आग की सूचना पर क्षेत्र में हड़कंप मच गया। साथ ही मौके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने बचाव कार्य शुरु करवाया। रात करीब 3 बजे आग पर काबू पाया जा सका। वहीं आग लगने की सूचना फैक्ट्री मालिक को दी गई, जिसके दिल्ली से यहां आने के बाद ही आग से हुए नुकसान की पुष्टी हो पाएगी। वहीं आग लगने के साथ ही फैक्ट्री में कार्यरत कर्मचारी फैक्ट्री से बाहर आ गए अन्यथा श्रमिकों व कर्मचारियों को भी नुकसान होता।

अक्सर होते है हादसे, लेकिन प्रशासन के पास निपटने के नहीं है संसाधन : आबूरोड शहर व आसपास के करीब 25 किलोमीटर क्षेत्र में छोटी-बडी औद्योगिक इकाइयां है, जहां अक्सर ऐसे हादसे होते रहते है, लेकिन इन हादसों से निपटने के लिए प्रशासन के पास कोई उचित साधन नहीं है। नगरपालिका के पास एक छोटी फायर बिग्रेड है और उसकी भराव क्षमता काफी कम है, जिससे हादसों के समय परेशानी का सामना करना पड़ता है।

आग की सूचना देने के एक घंटे बाद पहुंची फायर ब्रिगेड, तब तक अंदर पड़ा सामान जलकर हुआ राख

आबूरोड. फैक्ट्री में लगी आग को बुझाने का प्रसास करते लोग।

रात 10 बजे लगी आग, 11 बजे पहुंची फायरब्रिगेड, उसमें भी पर्याप्त साधन नहीं

फैक्ट्री में रविवार रात करीब 10 बजे अचानक आग लग गई, जिसकी सूचना नगरपालिका की फायरब्रिगेड को दी गई। सूचना मिलने के करीब 1 घंटे बाद फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची, लेकिन फायरब्रिगेड में पर्याप्त साधन नहीं होने के कारण आग पर काबू नहीं पाया जा सका। इस पर गेल इंडिया की फायर बिग्रेड को मौके पर बुलाया, जहां उसने लगातार अन्य टैंकरों से पानी लेकर आग पर रात करीब 3 बजे तक काबू पाया जा सका। इसके बाद पानी की पाइप व अन्य साधनों से कुछ जगहों पर लगी आग को भी बुझाया गया। क्षेत्र में आसपास आग फैलती तो इससे और नुकसान होता, लेकिन समय रहते आग पर काबू पाने से नुकसान कम हुआ।

भास्कर न्यूज | आबूरोड

समीपवर्ती चंद्रावती में रीको फेस फस्र्ट में रविवार रात केमिकल फैक्ट्री में अचानक आग लग गई, जिसे बुझाने के लिए फायरब्रिगेड को सूचना दी, लेकिन फायर ब्रिगेड एक घंटे बाद मौके पर पहुंची, जिससे फैक्ट्री में लगी आग ने विकराल रुप ले लिया और लाखों रुपए का नुकसान हो गया। जानकारी के अनुसार चंद्रावती के रीको फेस फस्र्ट में प्रीमियम स्पेशिलेटी पेंट प्रा.लि. केमिकल फैक्ट्री में आग लग गई आग की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन आग बुझाने के लिए फायरब्रिगेड करीब एक घंटे बाद मौके पर पहुंची। वहीं कुछ समय बाद गैल व अन्य संस्थानों की फायरब्रिगेड भी मौके पर पहुंची तथा आग पर काबू पाने का प्रयास किया। घटना की जानकारी मिलने पर सदर पुलिस थाना अधिकारी सुमेर सिंह, चंद्रावती चौकी पर तैनात भवानी सिंह, तहसीलदार मनसुख डामोर समेत अन्य मौके पर पहुंचे तथा हादसे की जानकारी ली। साथ ही मौके से डिस्कॉम को सूचित कर बिजली आपूर्ति बंद करवाई, ताकि आग के कारण और ज्यादा नुकसान नहीं हो सके। वहीं आग की सूचना पर क्षेत्र में हड़कंप मच गया। साथ ही मौके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने बचाव कार्य शुरु करवाया। रात करीब 3 बजे आग पर काबू पाया जा सका। वहीं आग लगने की सूचना फैक्ट्री मालिक को दी गई, जिसके दिल्ली से यहां आने के बाद ही आग से हुए नुकसान की पुष्टी हो पाएगी। वहीं आग लगने के साथ ही फैक्ट्री में कार्यरत कर्मचारी फैक्ट्री से बाहर आ गए अन्यथा श्रमिकों व कर्मचारियों को भी नुकसान होता।

अक्सर होते है हादसे, लेकिन प्रशासन के पास निपटने के नहीं है संसाधन : आबूरोड शहर व आसपास के करीब 25 किलोमीटर क्षेत्र में छोटी-बडी औद्योगिक इकाइयां है, जहां अक्सर ऐसे हादसे होते रहते है, लेकिन इन हादसों से निपटने के लिए प्रशासन के पास कोई उचित साधन नहीं है। नगरपालिका के पास एक छोटी फायर बिग्रेड है और उसकी भराव क्षमता काफी कम है, जिससे हादसों के समय परेशानी का सामना करना पड़ता है।

आबूरोड. फैक्ट्री में आग लगने से अंदर पड़ा सामान जलकर राख हो गया।

केमिकल ड्रमों में हुए धमाकों से डरे लोग

रविवार रात करीब 10 बजे औद्योगिक क्षेत्र में केमिकल फैक्ट्री में आग लगने से आसपास क्षेत्र में हड़कंप मच गया। वहीं केमिकल फैक्ट्री होने के कारण आग तेजी से फैली व परिसर में रखे हुए केमिकल ड्रम व अन्य रसायनों को जला दिया। आग से जलने के कारण केमिकल के ड्रमों में तेज आवाज के साथ धमाके हुए। धमाकों के कारण फैक्ट्री की सभी मशीनें उपकरण लेबोट्री कार्यालय परिसर जलकर नष्ट हो गया। साथ ही आसपास रहने वाले लोगों में भी डर व्याप्त हो गया। आग बुझने के बाद ही लोगों ने राहत की सांस ली।

हादसों के समय लेनी पड़ती है निजी संस्थानों से मदद

आगजनी की घटना के समय प्रशासन के पास पर्याप्त साधन नहीं होने से निजी संस्थानों से मदद लेनी पड़ती है। वहां से फायरब्रिगेड आने के बाद ही आग पर काबू पाया जा सकता है। क्षेत्र में आग लगने पर गेल इंडिया, माधव यूनिवर्सिटी, एचपीसीएल पालनपुर, जेके व सिरोही से फायर ब्रिगेड को बुलाना पड़ता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Abu Road

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×