Hindi News »Rajasthan »Abu Road» पांच साल की बच्ची का अपहरण कर चलती ट्रेन से कूदे युवक की मौत, मासूम 4 घंटे तक जंगल में ही रोती रही

पांच साल की बच्ची का अपहरण कर चलती ट्रेन से कूदे युवक की मौत, मासूम 4 घंटे तक जंगल में ही रोती रही

आरोपी के ट्रेन से कूदते वक्त मौत होने के बाद मासूम उसके चंगुल से ताे छूट गई थी, मगर सुनसान जंगल में वह करीब 4 घंटे तक...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 02, 2018, 02:10 AM IST

पांच साल की बच्ची का अपहरण कर चलती ट्रेन से कूदे युवक की मौत, मासूम 4 घंटे तक जंगल में ही रोती रही
आरोपी के ट्रेन से कूदते वक्त मौत होने के बाद मासूम उसके चंगुल से ताे छूट गई थी, मगर सुनसान जंगल में वह करीब 4 घंटे तक शव के पास ही बैठी रही। चारों तरफ अंधेरा होने के कारण वह वहां से जा भी नहीं सकती थी। उसने 4 घंटे वहीं पर बिताए। सुबह 4.30 बजे तड़के फ्रेट कॉरिडोर पर कार्यरत कर्मचारियों ने उसे देखा। इसके बाद पुलिस को सूचना देकर बुलाया गया। बाद में बच्ची को आबूरोड लाया गया। जीआरपी के पुलिस कर्मियों ने उसके परिजनों को बच्ची को सौंपा। जीआरपी का कहना है कि यह मामला संदेहास्पद है। उसके परिजनों ने मात्र यह रिपोर्ट दी है कि बच्ची उनको सकुशल मिल गई है। वे आगे कोई कार्रवाई नहीं करना चाहते। शव की पहचान भी नहीं हो पाई है।

मुंबई-अजमेर ट्रेन में अहमदाबाद से बेटी के साथ सवार हुई थी दंपती, आबूरोड से आरोपी ने सो रही बच्ची को उठाया

जवाई के समीप गांगजी का गुड़ा के निवासी है दंपती, रानी में उतरना था तीनों को

भास्कर न्यूज | आबूरोड/पाली

दादर(मुंबई)-अजमेर ट्रेन से गुरुवार रात एक मासूम बच्ची को आबूरोड के समीप यात्री ने अगवा कर लिया। वह किवरली के समीप फ्रेट कॉरिडोर के कार्य के दौरान ट्रेन की स्पीड धीमी होने पर तेजी से चलती ट्रेन से कूद गया। उसके सिर में गंभीर चोट लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई, मगर बच्ची सकुशल बच गई। इस बीच परिजनों को बच्ची के गायब होने की सूचना के बाद पूरे ट्रेन में हंगामा मच गया। परिजनों ने पिंडवाड़ा में पुलिस को गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दी। करीब 4 घंटे तक मासूम जंगल में आरोपी के शव के पास में ही बैठकर रोती रही। बाद में आबूरोड से जीआरपी के जवानों ने पहुंचकर शव को कब्जे में लिया तथा मासूम को उसके परिजनों को सौंपा गया। इस पूरे मामले को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे है। परिजनों ने बच्ची के सकुशल मिलने की रिपोर्ट दी है। उन्होंने आरोपी की मौत होने का देखते हुए कानूनी पचड़े से बचने के लिए किसी भी कार्रवाई से इनकार किया है। जवाली के समीप गांगजी का गुड़ा निवासी प्रकाश पुत्र गेनाराम मेघवाल अपनी प|ी पवनी तथा 5 वर्षीय बेटी के साथ अहमदाबाद से रानी आने के लिए मुंबई-अजमेर ट्रेन में सवार हुए थे। तीनों ट्रेन में रात होने पर सो गए थे। इस दौरान ट्रेन में ही यात्रा कर रहे अज्ञात युवक बच्ची को गोद में उठाकर किवरली के समीप ट्रेन की स्पीड धीमा होते देखकर नीचे कूद गया। पिंडवाड़ा रेलवे स्टेशन आने पर बच्ची को नहीं देखकर हंगामा करना शुरू कर दिया। इसके बाद स्टेशन मास्टर को जानकारी दी। स्टेशन मास्टर ने मामले की जानकारी जीआरपी को दी। 4 घंटे बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ।

जीआरपी थाना प्रभारी ने कहा- परिजनों ने अपहरण की रिपोर्ट नहीं दी : इस मामले में जीआरपी के थानाधिकारी दिलीपसिंह ने बताया कि बच्ची किवरली माधव यूनिवर्सिटी के आसपास मिली, जिसे पुलिस ने उसके परिजनों को सुपुर्द किया। परिजनों ने अपहरण करने जैसी कोई वारदात होने की जानकारी रिपोर्ट नहीं दी।



साथ ही बच्ची के अपहरण का कोई मामला उनके पास नहीं आया है। ना ही बच्ची के पिता ने ऐसा कोई मामला दर्ज कराया है। उन्होंने बच्ची को सकुशल मिलने की तस्दीक की है।

किवरली के समीप फ्रेट कॉरिडोर कार्य के चलते ट्रेन की गति धीमी हुई तो आरोपी बच्ची समेत कूदा, सिर में पत्थर लगने से मौके पर ही मौत, बच्ची सुरक्षित

पिंडवाड़ा के पास बेटी को नहीं देख दंपती रोने लगा

पिंडवाड़ा रेलवे स्टेशन पर दंपती प्रकाश मेघवाल तथा प|ी पवनी की नींद खुलने पर बेटी को नदारद देखकर वे हैरत में पड़ गए। उन्होंने ट्रेन में काफी तलाशा। नहीं मिलने पर ट्रेन से ही पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने भी उसकी तलाश शुरू कर दी, मगर ट्रेन के फालना पहुंचने तक पता नहीं पाया।

शव के पास ही सुनसान स्थान पर बैठी रही मासूम, रो-रोकर 4 घंटे निकाले

मामा ने कहा- आरोपी मासूम को लेकर ट्रेन से कूदा था

अपहरण की गई बच्ची जोया के मामा शंकर ने बताया कि सवेरे करीब 4 बजे उनकी मां पवनी की आंख लग गई। बच्ची को नहीं देखकर ट्रेन की जंजीर खींची, लेकिन जंजीर टूट गई इस पर वह सिरोही रोड रेलवे स्टेशन पहुंचे। जहां उन्होंने स्टेशन मास्टर व जीआरपी को इसकी सूचना दी। इसके बाद उनका पूरा परिवार वापस आबूरोड आया जो उन्होंने आबूरोड से पिंडवाड़ा के बीच बच्ची को खोजने का प्रयास किया, लेकिन यह बच्ची करीब 8.30 से 9 बजे के बीच की किवरली पुल के पास रोती हुई मिली, जिसे रेल कर्मचारी ने पुलिस को सुपुर्द किया। शंकर ने बताया कि बच्ची को लेकर एक अज्ञात व्यक्ति ट्रेन से कूदा था, जहां पत्थर से टकराने पर उसकी मौत हो गई। वहीं बच्ची को मामूली खरोंच आई। जीआरपी ने बच्ची को उसके पिता प्रकाश को सकुशल सुपुर्द किया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Abu Road

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×