पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Mount Abu News Rajasthan News Laboratory Started On The Seventh Day In Mount Hospital Now Patients Will Be Able To Be Examined District Magistrate Reaches Mount Abu

माउंट अस्पताल में सातवें दिन शुरू हुई लेबोरेट्री, अब मरीज करवा सकेंगे जांचें, जिलाधिकारी पहुंचे माउंट आबू

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
माउंट आबू के राजकीय अस्पताल में टेंडर समाप्त होने के कारण पिछले छह दिनों से लेबोरेट्री बंद थी और इस कारण यहां पहुंचने वाले मरीजों को निजी लेबोरेट्री पर रुपए देकर जांचें करानी पड़ रही थी। मरीजों की इस समस्या को लेकर दैनिक भास्कर ने बुधवार को समाचार प्रकाशित किया, जिसके बाद चिकित्सा विभाग हरकत में आया और बुधवार को ही सीएमएचओ के निर्देश पर जिला अधिकारी माउंट आबू अस्पताल पहुंचे और अस्पताल में लेबोरेट्री को खुलवाकर जांचें शुरु करवाई। साथ ही जिला चिकित्सा अधिकारी ने डॉक्टर्स, अस्पताल स्टाफ व जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक लेकर अस्पताल में व्याप्त अन्य समस्याओं पर भी चर्चा कर समाधान करने का आश्वासन दिया। जानकारी के अनुसार माउंट आबू के राजकीय अस्पताल में सही समय पर टेंडर प्रक्रिया नहीं होने से पिछले 6 दिन से लेबोरेट्री बंद थी, जिससे मरीजों को मुख्यमंत्री निशुल्क योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा था और मरीज परेशान होकर निजी लैब पर रुपए चुका कर जांच कराने को मजबूर हो रहे थे। समस्या के समाधान को लेकर सीएमएचओ डॉ. राजेश कुमार के निर्देश पर बुधवार को मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना के जिला प्रभारी व जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. संजय गहलोत को माउंट आबू अस्पताल पहुंचे तथा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने लेबोरेट्री के लिए पिछले टेंडर को ही जारी रख कर जांचे शुरु करवाई।

7 अगस्त को प्रकाशित समाचार

डॉ. संजय गहलोत ने ली डॉक्टर्स, स्टाफ व जनप्रतिनिधियों की बैठक, समस्याओं पर की चर्चा

अस्पताल में व्याप्त समस्याओं को लेकर पहुंचे डॉ. संजय गहलोत ने बुधवार को डॉक्टर्स, स्टाफ व शहर के जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक ली। जनप्रतिनिधियों ने बताया कि अस्पताल में सफाई व्यवस्था सुचारु रूप से नहीं होती, चारों ओर गंदगी पड़ी रहती है। अस्पताल में जिस डॉक्टर की ड्यूटी हो उसका बोर्ड लगाया जाना चाहिए, जिसमें डॉक्टर का नाम, नंबर एवं समय निर्धारित हो। रात के समय अस्पताल में एक डॉक्टर व गार्ड की ड्यूटी होना जरुरी है। साथ ही अस्पताल में एक महिला डॉक्टर की भी जररुत बताई। बैठक में चिकित्सा प्रभारी डॉ. लक्ष्मण मेड़तवाल, डॉ. तनवीर हुसैन, महेश अकाउंटेंट, कांग्रेस नगर अध्यक्ष देवी सिंह देवल, नेता प्रतिपक्ष नारायण सिंह भाटी, जिलाध्यक्ष खेल प्रकोष्ठ भारत सिंह राठौड़, गुलाम शबीर कुरैशी, यूसुफ खान पठान समेत अस्पताल स्टाफ मौजूद थे।

राजकीय अस्पताल की लेबोरेट्री में सातवें दिन मरीजों की जांच शुरू हुई।

डॉ. संजय गहलोत : छह दिन लेबोरेट्री बंद होना गलत, मरीजों को नहीं होने देंगे परेशानी

अस्पताल पहुंचे जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. संजय गहलोत ने बताया कि माउंट आबू में 6 दिन से लेबोरेट्री बंद थी, ऐसा नहीं होना चाहिए था। मरीजों को काफी परेशानी हुई है, मौके पर पहुंचकर समस्याओं का जायजा लिया। अभी फिलहाल पहले के टेंडर को ही जारी रख लैब को खुलवाया दिया है, ताकि मरीजों को समस्या नहीं हो। प्लेसमेंट एजेंसी को लेकर यह समस्या हुई थी। आगे से इस बात का ध्यान रखा जाएगा की टेंडर प्रकिया को एक महीने पहले ही पूरा कर लिया जाए। जनप्रतिनिधियों ने भी अस्पताल में व्याप्त समस्याएं बताई है, जिनका जल्द ही समाधान कर लिया जाएगा। समस्याओं के समाधान के लिए एक एक्शन प्लान भी बनाया गया है।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. संजय गहलोत ने डॉक्टर्स, स्टाफ व जनप्रतिनधियों के साथ बैठक की।

सीएमएचओ : हर महीने अस्पताल में लेंगे बैठक, ताकि नहीं हो समस्या

सीएमएचओ डॉ. राजेश कुमारी ने बताया कि माउंट आबू के अस्पताल में निशुल्क जांच के लिए लगी लेबोरेट्री के बंद होने की जानकारी मिलने पर योजना के जिला प्रभारी व जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. संजय गहलोत को व्यवस्था सुधारने के लिए अस्पताल भेजा है। साथ ही उन्हें अस्पताल स्टाफ व जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक करने के निर्देश दिए थे। अब हर महीने अस्पताल में बैठक लेंगे, जिसमें जिला स्तरीय अधिकारी भाग लेंगे, ताकि कोई समस्या नहीं हो।

भास्कर ने उठाया मुद्दा, एक ही दिन में शुरू हुई लेबोरेट्री

अस्पताल में निशुल्क जांच योजना का मरीजों को लाभ देने के लिए अस्पताल में स्थित लेबोरेट्री टेंडर प्रकिया के समय पर नहीं होने के कारण पिछले 6 दिनों से बंद थी। इसको लेकर दैनिक भास्कर के 7 अगस्त के अंक में ‘माउंट अस्पताल में 6 दिन से लेबोरेट्री बंद, 6 दिन और जांच के लिए मरीजों को चुकाने पड़ेंगे रुपए’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। इस पर चिकित्सा विभाग हरकत में आया और 7 अगस्त को ही जिला अधिकारी अस्पताल पहुंचे और लेबोरेट्री शुरु करवाकर मरीजों की जांचे शुरु करवाई।

खबरें और भी हैं...