लोकतंत्र के ढांचे को मजबूत करने के लिए आध्यात्मिक शक्ति जरूरी : भानावत

Abu Road News - राजस्थान विश्वविद्यालय दूर संचार विभाग पूर्व अध्यक्ष संजीव भानावत ने कहा कि मीडियाकर्मियों को आध्यात्मिक शक्ति...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 09:45 AM IST
Mount abu News - rajasthan news spiritual power needed to strengthen the structure of democracy bhanavat
राजस्थान विश्वविद्यालय दूर संचार विभाग पूर्व अध्यक्ष संजीव भानावत ने कहा कि मीडियाकर्मियों को आध्यात्मिक शक्ति से लोकतंत्र के ढांचे को मजबूत करने में अहम भूमिका अदा करनी चाहिए। अध्यात्म की लेखनी प्रदूषण व शोषण के संकट से उभरने का सशक्त माध्यम है। पत्रकार सकारात्मक चिंतन के सहारे सामजिक सरोकारों के प्रति वचनबद्धता पर कायम है। मीडियाकर्मियों का मुख्य कर्तव्य विचारवान व सूझवान नागरिक तैयार करना है। वे गुरुवार को प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के ज्ञान सरोवर अकादमी परिसर में मीडिया प्रभाग की ओर से आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

माखन लाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय में पत्रकारिता विभाग पूर्व अध्यक्ष प्रो. कमल दीक्षित ने कहा कि भौतिक परिवर्तनों के कारण सुख साधन बढ़ रहे है, लेकिन मनुष्य की आंतरिक संतुष्टता में कमी आई है। पूर्व राष्ट्रपति डॉ. अब्दुल कलाम ने विपरीत परिस्थितियों में भी मानवता की गरिमा को शिखर तक ले जाने का प्रयास किया था। यह उनके आध्यात्मिकता से जुड़े होने के कारण ही संभव हुआ। ज्ञान सरोवर निदेशिका डॉ. निर्मला ने कहा कि नई आकांक्षाओं, नई संकल्पनाओं के साथ आगे बढऩे के लिए मीडियाकर्मियों को मानवता के हित में अपने सकारात्मक प्रयासों को और अधिक गति प्रदान करने की आवश्यकता है। कार्यक्रम को मीडिया प्रभाग अध्यक्ष बीके करूणा, मीडिया प्रभाग उपाध्यक्ष बीके आत्मप्रकाश, प्रभाग के मुख्यालय संयोजक बीके शांतनू, प्रभाग की क्षेत्रीय संयोजिका बीके चंद्रकला, वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षिका बीके शीलू बहन, बीके सुशांत ने भी विचार व्यक्त किए। इससे पूर्व मधुरवाणी ग्रुप माउंट आबू, चंडीगढ़, देहरादून व इंदौर के कलाकारों की ओर से सामूहिक स्वागत नृत्य की प्रस्तुति किया गया।

माउंट आबू. ब्रह्माकुमारी संस्थान में कार्यक्रम का शुभारंभ करते अतिथि।

X
Mount abu News - rajasthan news spiritual power needed to strengthen the structure of democracy bhanavat
COMMENT