--Advertisement--

इस बार भी पड़े फर्जी वोट, टेंडर वोट देकर लौटना पड़ा मतदाता को

Abu Road News - प्रशासन और पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बावजूद जिले की तीनों विधानसभा क्षेत्रों में कई जगहों पर लोग फर्जी वोट डालने...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:55 AM IST
Revdar News - this time too fake votes voters had to return after voting the tender
प्रशासन और पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बावजूद जिले की तीनों विधानसभा क्षेत्रों में कई जगहों पर लोग फर्जी वोट डालने में कामयाब हो गए। ऐसा नहीं है कि फर्जी वोट डालने का मामला इसी चुनाव में हुआ हो, गत विधानसभा चुनाव में भी फर्जी वोट डालने के मामले सामने आए थे। फर्जी वोट डालने का मामला भी तब सामने आता है जब वास्तविक मतदाता पोलिंग बूथ पर अपने वोट का उपयोग करने पहुंचता है। ऐसी स्थिति में मतदाता अपने आप को ठगा महसूस करने लगता है और जिस उत्साह व उमंग के साथ वोट डालने जाता है वह भी एक पल में निराशा में बदल जाता है। प्रशासन भी फर्जी मतदान को लेकर काफी सतर्क रहता है, लेकिन कड़ी सुरक्षा में कहीं न कहीं कमी का फायदा उठाकर कुछ फर्जी मतदान करने में सफल हो ही जाते हैं। इस बार भी चुनाव आयोग और जिला प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था की थी। फर्जी मतदान को रोकने के लिए कैमरामैन, सशस्त्र पुलिसकर्मी, माइक्रो आब्जर्वर समेत अन्य प्रबंध किए थे। इन सब सुरक्षा इंतजामों में सेंध लगाकर इस बार भी लोग फर्जी तरीके से मत डाल गए और इस तरीके से सबसे ज्यादा मतदान सिरोही विधानसभा क्षेत्र में हुआ। इसके बाद रेवदर व पिंडवाड़ा में सबसे कम फर्जी मतदान हुआ।

ईवीएम का बटन दबाने व वीवीपैट मशीन नहीं देखने का रहा मलाल : विधानसभा चुनाव में पड़े फर्जी मतों के कारण वास्तविक मतदाताओं को ईवीएम का बटन नहीं दबाने का मलाल रहा। ऐसे मतदाताओं ने बताया कि चुनाव आयोग की ओर से जारी फोटोयुक्त मतदाता सूची व फोटोयुक्त वोटर पर्ची के बावजूद भी उनका वोट दूसरे लोग डाल गए। जो प्रशासन की ओर से पुख्ता इंतजामों के किए गए दावों को झूठा साबित कर गए। वास्तविक मतदाता का वोट लिफाफे में बंद कर जमा किया गया।





इससे वे वीवीपैट युक्त ईवीएम का बटन नहीं दबा सकें।

1998 में सबसे ज्यादा फर्जी वोट पड़े थे

चुनाव 2018

सिरोही विधानसभा 18

पिंडवाड़ा विधानसभा 7

रेवदर विधानसभा 11

विशेष परिस्थिति में ही काम में लिए जाते हैं टेंडर वोट

चुनाव 2013

सिरोही विधानसभा 16

पिंडवाड़ा विधानसभा 6

रेवदर विधानसभा 6

फर्जी मतदान के बाद वास्तविक मतदाता के आने पर उसका मत एक लिफाफे में जमा कर लिया जाता है। लिफाफे केवल पड़े रहते हैं, मतगणना में इनका कोई इस्तेमाल नहीं होता। यूं देखा जाए तो इस वोट का कोई औचित्य नहीं रहता। इनका इस्तेमाल केवल विशेष परिस्थितियों में ही किया जाता है। जब कभी दो प्रत्याशियों में बराबरी का मामला सामने आने पर इन वोटों का इस्तेमाल किया जाता है। हार-जीत का फैसला इन वोटों के आधार ही किया जाता है।

चुनाव 2008

सिरोही विधानसभा 12

पिंडवाड़ा विधानसभा 3

रेवदर विधानसभा 18

चुनाव 2003

सिरोही विधानसभा 14

पिंडवाड़ा विधानसभा 15

रेवदर विधानसभा 3

चुनाव 1998

सिरोही विधानसभा 7

पिंडवाड़ा विधानसभा 0

रेवदर विधानसभा 20

X
Revdar News - this time too fake votes voters had to return after voting the tender
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..