Hindi News »Rajasthan »Ajitgarh» आरोपित ने 13 मिनट में पत्नी का गला घोंटा, पति की दुकान पर जा बैठा, सीसीटीवी ने खोला भेद

आरोपित ने 13 मिनट में पत्नी का गला घोंटा, पति की दुकान पर जा बैठा, सीसीटीवी ने खोला भेद

शहर के वार्ड नं. 24 मोरीजा रोड मंडी गेट के पास स्थित शिव कॉलोनी में 1 फरवरी को हुई विवाहिता की हत्या का पुलिस ने शनिवार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 11, 2018, 02:05 AM IST

आरोपित ने 13 मिनट में पत्नी का गला घोंटा, पति की दुकान पर जा बैठा, सीसीटीवी ने खोला भेद
शहर के वार्ड नं. 24 मोरीजा रोड मंडी गेट के पास स्थित शिव कॉलोनी में 1 फरवरी को हुई विवाहिता की हत्या का पुलिस ने शनिवार को पर्दाफाश कर दिया। इस मामले में झुंझुनू जिले के थाना मुकंदगढ़ के ग्राम चुड़ी अजीतगढ़ निवासी 23 वर्षीय मोहम्मद सिकंदर पुत्र मोहम्मद हनीफ को गिरफ्तार किया। कर्जदारी चुकाने के लिए लूट के मकसद से ही उसने विवाहिता की हत्या की। पुलिस को गुमराह करने के लिए वह पिंकी की गलाघोंट कर हत्या करने के बाद पति की दुकान पर जाकर बैठ गया। पूरी वारदात को अंजाम देने में उसे सिर्फ 13 मिनट लगे। लोगों को शक नहीं हो इसलिए वह परिवार के सदस्यों के साथ पिंकी को अस्पताल ले जाने से लेकर अंतिम संस्कार तक में शामिल हुआ। आरोपित सिकंदर विवाहिता के पति व देवर की दुकान पर पल्लेदारी का काम करता था। उसे घर के तमाम सदस्यों के बारे में पहले से मालूम था। लेकिन, सीसीटीवी में कैद होने से पुलिस ने सिकंदर को गिरफ्तार कर लिया।

जयपुर पश्चिम डीसीपी अशोक कुमार गुप्ता ने बताया कि पुलिस ने मौका मुआयना किया तथा एफएसएल टीम के साथ घटना स्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाए। आसपास रहने वालों व परिजनों से पूछताछ की। सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखे। बाद में अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त जयपुर पश्चिम रतनसिंह के निर्देशन में एसीपी दिनेश कुमार शर्मा ने कांस्टेबल राकेश कुमार की इतला पर संदिग्ध मोहम्मद सिकंदर की तलाश शुरू की।

मालकिन के जेवर उतार कर ले गया

पिंकी अग्रवाल

एफआईआर :देवर ने दी भाभी की हत्या की रिपोर्ट

गत 1 फरवरी को देवर विष्णु कुमार अग्रवाल पुत्र रामस्वरूप गर्ग महाजन ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि उसकी 25 वर्षीय भाभी पिंकी अग्रवाल की किसी ने उसके मकान में ही हत्या कर दी। घर पर उसकी लाश पड़ी है। हत्या गला दबा कर की गई है।

चौमू. पुलिस की गिरफ्त में विवाहिता की हत्या का आरोपी मोहम्मद सिकंदर।

केस डायरी : पति की दुकान पर पल्लेदारी करता था, रैकी कर चुका था आरोपित

पुलिस को दिए बयान में मोहम्मद सिकंदर ने बताया कि वह पिंकी के पति और देवर की पत्तल दोने तथा किराने की दुकान पर पल्लेदारी का काम करता था और इनके घर सामान लाने ले जाने के लिए आता जाता रहता था। परिवार के सभी लोगों के बारे में उसे जानकारी थी। उसने बताया कि पिंकी अग्रवाल के घर में कुल 6 लोग है। जिनमें पिंकी के ससुर सवेरे जल्दी दुकान पर आ जाते है तथा बच्ची स्कूल चल जाती है। मृतका की सास रोज सवेरे करीब 11 बजे अपने बेटों की दुकान पर खाना देने के लिए आती है। मोहम्मद सिकंदर ने बताया कि कुछ दिनों से उसके पास कोई कामकाज नहीं था, ऊपर से उस पर फाइनेंस का कर्जा था तथा तंगी हालत में चल रहा था। इस कारण उसने इस वारदात को अंजाम दिया।

पिढ़ए..एफआईआर से लेकर पकड़े जाने तक की पूरी कहानी

वारदात : सास को दुकान की ओर जाता देख सिकंदर पिंकी के घर चला गया

एक फरवरी को जब पिंकी की सास दुकान पर खाना देने जा रही थी, तभी वह पिंकी के घर में चला गया। कार्टन दुकान पर देने के बहाने पिंकी को बाहर बुलाया। जैसे ही पिंकी उसके पास में आई, तो उसने हाथ से ही उसका गला घोट कर हत्या कर दी। वह पिंकी के कानों व गले से सोने के जेवर उतारकर ले गया।

साजिश : हत्या कर दुकान चले जाने से परिवार को सिकंदर पर नहीं हुआ शक

तथा वापस पिंकी के पति की दुकान पर ही आकर बैठ गया। किसी को शक नहीं हो इसके लिए वह पिंकी के परिजनों के साथ पिंकी को अस्पताल ले जाते समय तथा अंतिम संस्कार में भी बराबर शामिल रहा। पिंकी का पति किशन भी यह कहता रहा कि सिकंदर उसके पास ही बैठा था।

...और पकड़ा गया : सीसीटीवी में घर के अंदर जाते हुए कैद हुआ आरोपित

सीसीटीवी कैमरे के फुटेज की मदद से पता लगा कि किशन की मां सीतादेवी टिफिन लेकर घर से दुकान आई, तब मां को आता देखकर आरोपित सिकंदर मृतका के घर की ओर चला गया। 13 मिनट में ही घटना को अंजाम देकर वापस किशन की दुकान पर ही आकर बैठ गया था।

इस टीम की रही भागीदारी

आरोपित को पकड़ने के लिए थानाधिकारी जितेंद्र सिंह सौलंकी व हरमाड़ा थानाधिकारी लखनसिंह खटाना के नेतृत्व में कांस्टेबल राकेश, पवन काजला, राजेंद्र, रामसिंह, ईश्वर, मुकेश की टीम गठित की। टीम ने आरोपित को मदीना कॉलोनी, जयपुर से गिरफ्तार कर लिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ajitgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×