--Advertisement--

बेटा-बेटी एक समान विचार धारा को आचरण में उतारे

अमरसर| सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रविवार सुबह जिला अस्पताल अजीतगढ़ के डा.एमएल जांगिड़ के मुख्य आतिथ्य व...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:10 AM IST
अमरसर| सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रविवार सुबह जिला अस्पताल अजीतगढ़ के डा.एमएल जांगिड़ के मुख्य आतिथ्य व सीएचसी प्रभारी डा.सुरेश मीना की अध्यक्षता में कुछ पल बेटी के लिए विषयक संगोष्ठी हुई। डा.जांगिड़ ने कहा कि बेटा बेटी एक समान अवधारणा को मात्र सरकारी अभियान नही समझकर हर माता पिता को इस विचारधारा को अपने आचरण में उतारना चाहिए।

सीएचसी प्रभारी डा.सुरेश मीना ने कहा कि आज बेटियां हर क्षेत्र में पुरुषों के बराबर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रही है। मुख्य वक्ता डा.आर.के.सोनी ने कहा कि चिकित्सकों को सरकारी अस्पताल में प्रसव करवाने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए तथा अपनी प्रतिभा का भरपूर उपयोग कर सुरक्षित प्रसव करवाकर चिकित्सक का उत्तरदायित्व निभाना चाहिए। सरपंच ओमप्रकाश सैनी ने डाॅ.आर.के.सोनी ने सीएचसी में दी सेवाओं के लिए साधुवाद दिया। कार्यक्रम में डा.रविंद्र यादव, डा.अभिषेक कुमावत, जिला प्रशिक्षण केंद्र अधीक्षक ललित शर्मा, ट्यूटर रविंद्र धौंकरिया, भाजपा मंडल अध्यक्ष छाजूलाल सैनी, प्रकाश जोशी, हनुमान सोनी, हरिनारायण बुनकर, वीरेंद्र कौशिक, साजिद अहमद आदि ने विचार व्यक्त किए। इस दौरान जननी सुरक्षा योजना में अस्पताल में प्रसव में योगदान के लिए डा.आर.के.सोनी, एच.एन.बुनकर, साजिद अहमद का अभिनंदन किया गया। जिला प्रशिक्षण केंद्र की प्रशिक्षु एएनएम छात्राओं ने बेटा-बेटी एक समान की अवधारणा का संदेश आमजन तक पहुंचाने के लिए नुक्क़् नाटक की प्रस्तुति दी। अस्पताल के चिकित्सको व स्टाफ ने गांव में रैली निकाली।