• Home
  • Rajasthan News
  • Ajitgarh News
  • किसान नेता अमराराम के साथ 24 किसान जेल गए, जयपुर कूच जारी रखने का ऐलान, कस्बों में बाजार बंद, पुतले फूंके
--Advertisement--

किसान नेता अमराराम के साथ 24 किसान जेल गए, जयपुर कूच जारी रखने का ऐलान, कस्बों में बाजार बंद, पुतले फूंके

जयपुर जेल जाते समय बस में बैठे किसान नेता अमराराम राम ने बातचीत में कहा कि किसान सभा के सभी आंदोलन शांति पूर्ण ढंग...

Danik Bhaskar | Feb 22, 2018, 04:10 AM IST
जयपुर जेल जाते समय बस में बैठे किसान नेता अमराराम राम ने बातचीत में कहा कि किसान सभा के सभी आंदोलन शांति पूर्ण ढंग से चलाए गए हैं। राजस्थान के इतिहास में यह पहला अवसर है जब राज्य की भाजपा सरकार किसानों को जयपुर जाने से रोकने और उन्हें गिरफ्तार करने का कार्य कर रही है। यह लोकतंत्र की हत्या है। उन्होंने बताया कि 22 फरवरी को जयपुर कूच का कार्यक्रम जारी रहेगा।

सरकार ने हमें गिरफ्तार कर लोकतंत्र की हत्या की है

अजीतगढ़. स्थानीय उपतहसील कार्यालय के सामने मुख्यमंत्री को पूतला जलाकर विरोध करते महिला नौजवान सभा एवं मजदूर संगठनों के लोग।

कर्जमाफी सहित अनेक मांगों पर सरकार की वादा खिलाफी का विरोध

अजीतगढ़| कर्जमाफी समेत अनेक मांगों पर सरकार की वादा खिलाफी का विरोध करते हुए अखिल भारतीय किसान सभा समेत अनेक संगठनों के नेताओं की गिरफ्तारी से गुस्साएं महिला नौजवान सभा एवं मजदूरों ने बुधवार को अजीतगढ़ उपतहसील कार्यालय एवं पंचायत कार्यालय का घेराव कर प्रदर्शन किया। मुख्यमंत्री के नाम नायब तहसीलदार केदारनाथ सैनी को ज्ञापन सौंप कर सीएम का पुतला फूंका। कर्जमाफी समेत अनेक मांगों को लेकर गत वर्ष आन्दोलन के बाद सरकार ने कर्जमाफी के संबंध में आश्वासन दिया था, बजट भाषण में किसानों के सहकारी समितियों के 50 हजार रुपए के ऋण माफ करने तथा किसानों को उनके उपज समेत अन्य मांगों पर कोई गौर नहीं करने पर अखिल भारतीय किसान सभा समेत अनेक संगठनों ने 22 फरवरी को जयपुर कूच कर विधानसभा का घेराव करना प्रस्तावित किया। नायब तहसीलदार केदारनाथ सैनी को प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंप कर गिरफ्तारियों को बंद करने एवं किसानों की मांगों को शीघ्र लागू करने की मांग की। चेतावनी दी कि अगर सरकार दमनकारी नीति से बाज नहीं आई तो महिलाओं को इस आन्दोलन में कूदना पड़ेगा।