अजीतगढ़

  • Home
  • Rajasthan News
  • Ajitgarh News
  • अजीतगढ़ अस्पताल के सामने साढ़े 6 घंटे धरना, उपनिदेशक के आश्वासन पर शांत हुआ मामला
--Advertisement--

अजीतगढ़ अस्पताल के सामने साढ़े 6 घंटे धरना, उपनिदेशक के आश्वासन पर शांत हुआ मामला

कस्बे में बाबा नारायणदास राजकीय सामान्य चिकित्सालय में मुख्यमंत्री नि:शुल्क जांच केन्द्र पर हो रही ब्लड ग्रुप...

Danik Bhaskar

Jun 14, 2018, 02:00 AM IST
कस्बे में बाबा नारायणदास राजकीय सामान्य चिकित्सालय में मुख्यमंत्री नि:शुल्क जांच केन्द्र पर हो रही ब्लड ग्रुप जांच में एक व्यक्ति के दो बार जांच करवाने पर अलग-अलग ब्लड ग्रुप की रिपोर्ट देने के मामले में एवं बिना जांच लेब टेक्नीशियन को एपीओ कार्यवाही के खिलाफ गुस्साए ग्रामीणों ने बुधवार को सुबह 10 बजे अस्पताल के सामने धरना लगा कर साढ़े 6 घंटे विरोध प्रदर्शन किया। जयपुर जोन उप निदेशक डॉ. यदुराज सिंह नाथावत ने आश्वासन देकर मामला शांत करवाया।

जानकारी मुताबिक कस्बे के जनता कॉलोनी निवासी गर्भवती महिला पायल प|ी प्रदुमन शर्मा ने अजीतगढ़ राजकीय चिकित्सालय में 30 मई को पैथोलोजी एवं बायोकेमेस्ट्री जांच अस्पताल में मुख्यमंत्री नि:शुल्क जांच योजना के काउंटर से करवाई। इस जांच में महिला के खून के ग्रुप की जांच में ए बी पॉजीटिव दर्शाया गया। इसके बाद महिला ने 5 जून 2018 को इसी अस्पताल के काउंटर से दोबारा जांच करवाई जिसमें खून ग्रुप में बी पॉजिटिव दर्शाया गया और बी पॉजिटिव का अंकन महिला के ममता कार्ड में भी कर दिया गया। इसकी शिकायत पीएमओ एवं लैब स्टाफ से की तो कोई संतोषप्रद जवाब हनी मिला। जिसकी शिकायत पीएमओ से लेकर निदेशालय तक की, बुधवार को ग्रामीणों ने सुबह 10 बजे अस्पताल के सामने धरना लगा कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। करीबन 11:30 बजे संयुक्त निदेशक डॉ. के.के.शर्मा द्वारा जयपुर जोन उप निदेशक डॉ. यदुराज सिंह नाथावत, शम्मी मोहम्मद एवं रमेश पारीक की टीम अजीतगढ़ अस्पताल पहुंची।

टीम ने लेब स्टाफ, डॉ.एस.डी.रायपुरिया, डॉ. एम.पी.सैनी, लेखाकार सरोज महला, गर्भवती महिला पति प्रदुमन शर्मा, हेमंत पारीक के बयान लिए। उप निदेशक डॉ. नाथावत एवं अजीतगढ़ नायब तहसीलदार भीमसेन सैनी धरनार्थियों से वार्ता की तथा समझाइश का प्रयास किया। धरनार्थियों ने लैब टेक्नीशियन अभिमन्यु सिंह को बगैर जांच एवं कारण के एपीओ को निरस्त करके ब्लड जांच किट आपूर्ति करने वाली कम्पनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। अधिकारियों ने एपीओ आदेश को निरस्त कर वापस लगाने एवं अन्य व्याप्त समस्याओं को जल्द दुरुस्त करने का आश्वासन देकर मामला शांत करवाया।

अजीतगढ़. कस्बा के बाबा नारायणदास राजकीय सामान्य चिकित्सालय के बाहर धरना देते प्रदर्शनकारी एवं शिष्टमंड़ल उप निदेशक डॉ.नाथावत से वार्ता करते हुए।

ब्लड जांच, एक कम्पनी के किट से रिजल्ट 3-4 मिनट में आए

चिकित्सा विभाग जयपुर जोन उप निदेशक डॉ. नाथावत के नेतृत्व में गठित टीम ने चिकित्सकों, लैब स्टाफ के बयान लिए। इसके साथ ही टीम में शामिल शम्मी मोहम्मद, रमेश पारीक ने लेब में मौजूद मेरिलिन एवं जे मित्रा कम्पनी के किट से स्वयं के ब्लड ग्रुप जांच करवाई। जिसमें जे. मित्रा किट से रिजल्टस 3-4 मिनट बाद आए ।

एक घंटे की वार्ता में बनी सहमति

उप निदेशक डॉ. नाथावत की टीम से प्रदर्शनकारियों का शिष्टमंडल हेमंत पारीक, ग्यारसीलाल टेलर, सुशील शर्मा, अनिल यादव, सुरेन्द्र कुमार ने वार्ता की। करीबन एक घंटे चली वार्ता में सहमति बनी। इसमें अस्पताल के सफाई, मरीजों के बेड़ों पर बेडशीट, बिजली लाइनें दुरुस्त,लेब में खराब सामग्री सप्लाई होने से रोकने, अस्पताल कार्मिकों द्वारा गुटबाजी एवं राजनीति पर कार्रवाई करने, डॉ. अशोक कुमावत द्वारा गलत मेडिकल जांच की जल्द जांच कार्रवाई, डॉ. मंगल यादव को अस्पताल से जल्द हटाने की अनुशंषा सरकार से करने, पीएमओ समेत स्टाफ को मुख्यालय पर रूकने, ड्यूटी समय पर क्वार्टर पर मरीज हनी देखेंगे, रात में एक मेडिकल स्टोर से खोलने के लिए ड्रग्स विभाग को पत्र लिखने के आश्वासन के बाद साढ़े 6 घंटे के प्रदर्शन के बाद शाम 4.30 बजे धरना समाप्त किया गया।

Click to listen..