--Advertisement--

गांवों से लेकर ढाणियों तक दिखा बंद का असर

अमरसर | अमरसरवाटी क्षेत्र में मंगलवार को भारत बंद के कारण दिनभर गांवों में बाजार बंद रहे तथा चौमू अजीतगढ़ स्टेट...

Danik Bhaskar | Apr 11, 2018, 02:10 AM IST
अमरसर | अमरसरवाटी क्षेत्र में मंगलवार को भारत बंद के कारण दिनभर गांवों में बाजार बंद रहे तथा चौमू अजीतगढ़ स्टेट हाइवे दिनभर सूना पड़ा रहा। खेतड़ी जयपुर चलने वाली रोडवेज बसों में भी आमदिनों के बजाय बहुत कम सवारियों ने यात्रा की। अधिकतर गांवों में आंशिक तौर पर बाजार में अधिकांश दुकानें बंद रही। सुबह से ही दुकानदारों ने अपनी दुकानें ही नहीं खोली तथा बाजार सूने पड़ रहे। चौमू अजीतगढ स्टेट हाइवे पर रोडवेज बसों के अलावा यातायात बंद सा ही रहा तथा रोडवेज बसों में भी काफी कम संख्या में लोगों ने यात्रा की। बिलांदरपुर, अमरसर, धानोता आदि में दुकानदारों व व्यापारियों ने घरेलू कामकाज निपटाया। बंद को व्यापारियों ने अपना मौन समर्थन दिया। नायब तहसीलदार भीमसेन सैनी व थाना प्रभारी उदय सिंह ने मय जाब्ता दिनभर क्षेत्र में गश्त की।

रायसर | कस्बे के व्यापारियों ने भी स्वयं की इच्छा से अपने प्रतिष्ठान बंद कर कोर्ट के फैसले का समर्थन किया और चौकी प्रभारी को ज्ञापन दिया। अनिल शर्मा, सुरेश अग्रवाल व मधु शर्मा ने बताया कि व्यापारियों ने भी स्वयं ही प्रतिष्ठान बंद रखे। सुरेश कामदार, राहुल गोयल, ओमप्रकाश मेठी, झंडू राम गुर्जर, प्रेम चन्द सैनी,मोनु शर्मा आदि मौजूद थे।

विराटनगर | भारत बंद के तहत सोमवार शाम को व्यापार मंडल मुख्य बाजार, गणगौरी बाजार मंडल, कपडा व्यापार मंडल, बस स्टैंड मार्केट, विश्वकर्मा मार्केट, थडी ठेला यूनियन ने बंद को सर्मथन दिया था। इसके बाद सुबह से ही व्यापारियों ने अपनी स्वेच्छा से दुकानों को बंद रखा। बंद का असर बस स्टैंड, मुख्य बाजार,अलवर रोड सहित सभी स्थानों पर देखा गया। कस्बे के बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। बंद के दौरान हनुमानजी की बगीची में एक सभा हुई। व्यापार मंडल के हरिद्वारीलाल जैन, नरेन्द्र स्वामी, अमरनाथ यादव, मनोज सैनी, ओमप्रकाश मुनीम आदि ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट फैसला सराहनीय है। कुल्फी, फल सब्जी की दुकानें भी बंद रहीं। बस स्टैंड व मुख्य बाजार की आपातकालीन सेवाओं में आने वाली मेडिकल की दुकानें भी बंद रही। एसडीएम मुकेश कुमार मूंड,थानाप्रभारी भरत महर मय पुलिस जाब्ते मौके पर तैनात रहे। इसके बाद व्यापारियों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के समर्थन में राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम पर एसडीएम मुकेश कुमार मूंड को ज्ञापन दिया। जगदीश यादव, मामराज सौलंकी, फूलचंद सैनी,सुरेश सैनी, राजेन्द्र जैन,मनीष जैन, सुरेश बादलीवाल,अजय कुमार जैन,विजय सैनी अादि मौजूद रहे।

चंदवाजी/अचरोल | चंदवाजी व अचरोल कस्बे सहित शांतिपूर्वक बंद रहे। इस दौरान अधिकांश व्यापारियों ने अपनी दुकानें स्वेच्छा से ही बंद रखी। बंद का असर दोनों कस्बे के सभी बाजारों में देखा गया। आसपास के कई गांवों की दुकानें भी बंद रही। बंद को देखते हुए पुलिस व प्रशासन मौके पर तैनात रहा।

धौला | कस्बा व चिलपली मोड़ के व्यापारिक प्रतिष्ठान मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के समर्थन में अपने प्रतिष्ठान स्वेच्छा से बंद रख कोर्ट में पूर्ण आस्था जताई। धौला में व्यापारियों ने सुबह से ही दुकानें बंद रखी। चिलपली मोड़ पर भी व्यापारियों ने दुकानदारों से बंद रखकर सहयोग की अपील की तो सभी व्यापारियों ने दुकानें बंद कर सहयोग दिया। दूसरी ओर बंद समर्थक कार्यकर्ताओं ने व्यापारियों का बंद में सहयोग पर आभार जताया।

जमवारामगढ | बार एसोसिएशन अध्यक्ष रामकरण शर्मा के नेतृत्व में मंगलवार को भारत बंद के समर्थन में न्यायिक कार्यों का बहिष्कार किया। उन्होंने आरक्षण का विरोध किया। रामकरण शर्मा ने कहा कि 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान एससी- एसटी के युवाओं ने वकीलों से अभ्रदता की थी।

भाबरु | क्षेत्र में अनेक स्थानों पर बाजार बंद रहे। रामचंद्र मीणा ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के समर्थन में दुकान बंद करते हुए कहा कि इस फैसले से निर्दोष लोगों को राहत मिलेगी।

विराटनगर

अमरसर

धौला