--Advertisement--

युवाओं की मेहनत रंग लाई, बावड़ी भरी

अजीतगढ़ | कस्बे के प्राचीन किले के पीछे स्थित प्राचीन बावड़ी में हाल ही पहली बारिश में पानी की आवक होने से लबालब हो...

Danik Bhaskar | Jun 30, 2018, 02:10 AM IST
अजीतगढ़ | कस्बे के प्राचीन किले के पीछे स्थित प्राचीन बावड़ी में हाल ही पहली बारिश में पानी की आवक होने से लबालब हो गई। बावड़ी बारिश के पानी भरने के बाद अब स्थानीय पंचायत प्रशासन ने एहतिहाती तौर पर बावड़ी के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया ताकि कोई अनहोनी घटना से बचा जा सके। जानकारी के मुताबिक अजीतगढ़ गुसांई के पास स्थित प्राचीन बावड़ी की मरम्मत एवं पुताई का कार्य गत वर्ष पंचायत ने मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान में किया था।

गत महीनों में अजीतगढ़ के युवाओं की टीम ने एक दिन गांव के लिए अभियान के तहत बावड़ी में श्रमदान कर साफ कर दिया था। गुरुवार को हुई बारिश के बाद पानी बावड़ी में वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम से होकर पहुंच रहा है। रूवार को सीजन की पहली बारिश में ही पानी भरने से बावड़ी लबालब हो गई। लोगों ने युवाओं के एक दिन गांव के लिए अभियान द्वारा बावड़ी की गत दिनों सफाई करने एवं अब पानी भरने के बाद अभियान की प्रशंसा की। हाल ही युवाओं की टीम दिवराला के युवा साथियों के आग्रह पर दिवराला बावड़ी में सफाई के लिए श्रमदान कर उसकी गन्दगी को साफ करने का कार्य कर रही है। उल्लेखनीय है कि गांव एवं विरासत को साफ-सुथरा रखना हम सबका दायित्व की सोच के साथ प्रत्येक रविवार सुबह दो घंटे सफाई के लिए श्रमदान करते है।