--Advertisement--

घुसपैठियों की तलाश में संदिग्ध लोगोंं को लिस्टिंग, दो दिन में 1000 लोगों की जांच

अंदरकोट इलाके के दो पोलिंग बूथों के चार सौ वोटरों का पता ठिकाना ही नहीं

Dainik Bhaskar

Dec 20, 2017, 07:47 AM IST
दरगाह इलाके में पुलिस ने पहाड़ी पर बने मकानों की तलाशी ली और लोगों की जानकारी जुटाई। दरगाह इलाके में पुलिस ने पहाड़ी पर बने मकानों की तलाशी ली और लोगों की जानकारी जुटाई।

अजमेर. दरगाह क्षेत्र के इलाकों में पुलिस के सर्च अभियान में चौकाने वाला खुलासा हुआ है। क्षेत्र के दो पोलिंग बूथों की मतदाता सूची में शामिल करीब चार सौ वोटरों का कोई पता ठिकाना नहीं है।


- बीएलओ की मदद से पुलिस ने वोटर लिस्ट के आधार पर इलाके के लोगों की तस्दीक की है, इसमें यह तथ्य सामने आया कि वोटर लिस्ट में शामिल 235 लोग तो ऐसे हैं जिनका कोई वजूद ही नहीं है।

- इलाके का कोई भी शख्स इनके बारे में कोई जानकारी नहीं दे सका, जबकि करीब 150 लोगों के शहर से बाहर जाने और 30 लोगों की मौत की जानकारी लोगों ने दी है, लेेकिन इसके बारे में भी कोई पुख्ता साक्ष्य नहीं मिला।

- उल्लेखनीय है कि चुनाव में हार-जीत का फैसला एक वोटर भी कर सकता है जबकि इतनी बड़ी संख्या में वोटरों की तस्दीक नहीं होने का मामला गंभीर माना जा रहा है।

- इस गड़बड़ी के सामने आने के बाद शहर के अन्य बूथों की वोटर लिस्ट की तस्दीक की जरूरत महसूस की जा सकती है।

कई बिन्दुओं से जांच

- एसपी राजेन्द्र सिंह चौधरी के निर्देश पर पहचान छिपाकर रह रहे बांग्लादेशी व रोहिंग्या की धरपकड़ के लिए संदिग्धों की तस्दीक की कार्रवाई दूसरे दिन मंगलवार को भी जारी रही। शहर के थाना प्रभारियों के नेतृत्व में पुलिस टीमों ने दरगाह इलाके में अंदरकोट, झरनेश्वर महादेव मार्ग की पहाड़ी, नागफणी और आसपास के इलाकों में पहाड़ियों पर मकान बनाकर रह रहे परिवारों की जांच की। पुलिस टीमों के साथ इलाके के बीएलओ भी थे।

मतदाता सूची के आधार पर लोगों की तस्दीक की जा रही है। संदिग्ध लोगों को लिस्टेड कर उन्हें जांच के घेरे में लिया गया है। पुलिस ने दो दिन में करीब एक हजार से ज्यादा लोगों की तस्दीक की है। सामने आया है कि ज्यादातर लोग खुद को पश्चिम बंगाल का मूल निवासी बता रहे हैं, जबकि ये लोग बांग्लादेश सीमा इलाके के हैं। पुलिस ने ऐसे लोगों को संदिग्ध की सूची में शामिल कर लिया है।

प्राइम सस्पेक्ट लोगों की दूसरे प्रदेशों की पुलिस से होगी तस्दीक

पुलिस की सजगता से अंदरकोट और आसपास के पोलिंग बूथ संख्या 136 और 137 की मतदाता सूची में शामिल करीब 2200 मतदाताओं के नाम-पतों की मौके पर तस्दीक की गई। जांच में पुलिस टीमों के साथ बीएलओ भी थे। इनकी मौजूदगी में जांच में उजागर हुआ की वोटर लिस्ट में शामिल 235 लोग तो ऐसे हैं जिनके बारे में किसी को भी कुछ नहीं पता। यह लोग कभी यहां रहते थे या नहीं इस बारे में कोई जानकारी नहीं दे सका। जबकि इलाके के लोगों ने करीब डेढ़ सौ लोगों के बारे में बताया कि यह लोग शहर से बाहर गए हुए हैं, लेकिन कहां गए और बाहर का उनका पता या अन्य संपर्क के बारे में कोई साक्ष्य नहीं मिल पाया।

इसके अलावा मतदाता सूची में शामिल 30 लोगों की मौत हो जाने की जानकारी मिली है, लेकिन उनकी मृत्यु के बारे में प्रमाण पत्र या अन्य साक्ष्य नहीं मिल पाया है। पुलिस ने ऐसे सभी लोगों को जांच के घेरे में लिया है। इसके अलावा 55 लोग ऐसे चिन्हित किए गए हैं, जिनकी नागरिकता के बारे में शक है। ऐसे 55 प्राइम सस्पेक्ट लोगों की पुलिस उनके मूल निवास स्थल की थाना पुलिस से तस्दीक कर रही है। पुलिस ने चार संदिग्ध बांग्लादेशी घुसपैठियों को भी जांच के लिए हिरासत में लिया है।

इसलिए की जा रही है मशक्कत

एसपी राजेन्द्र चौधरी के अनुसार हत्या, लूट और अन्य अपराधिक वारदातों में ज्यादातर आरोपी बिहार, झारखंड, असम और महाराष्ट्र सहित अन्य प्रदेशों से यहां आकर रहने वाले लोगों के तौर पर सामने आए हैं। पिछले दिनों लाखन कोटड़ी नाई मोहल्ला में ब्याज कारोबारी घनश्याम केसवानी की हत्या कर उसके घर से लाखों रुपए की नकदी और जेवर लूटने की वारदात में भी आरोपी झारखंड और अन्य प्रदेशों के थे।

तीन दिन पहले दरगाह इलाके के गेस्ट हाउस में छिपकर रह रहे मुंबई के हथियार तस्कर वाजिद अली को महाराष्ट्र एटीएस की मदद से जिला पुलिस की टीम ने पकड़ा था। दरगाह इलाके के ही एक खादिम की हत्या कर लाखों रुपए नकदी और जेवर लूट कर फरार मृतक का नौकर भी पश्चिम बंगाल का निवासी था। उसकी तलाश पुलिस कर रही है।

फर्जी वोटर होने का शक

पुलिस के सर्च ऑपरेशन में अंदरकोट इलाके के दो पोलिंग बूथों में चार सौ से ज्यादा वोटरों की तस्दीक नहीं होने का मामला गंभीर माना जा रहा है। शक यह भी है कि चुनाव में फर्जी वोटरों के तौर पर इन नामों का उपयोग किया जा सकता है। इस शक के आधार पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी बारीकी से मामले की जांच कर रहे है।

दरगाह इलाके में वोटर लिस्ट के साथ तलाशी लेती पुलिस। दरगाह इलाके में वोटर लिस्ट के साथ तलाशी लेती पुलिस।
X
दरगाह इलाके में पुलिस ने पहाड़ी पर बने मकानों की तलाशी ली और लोगों की जानकारी जुटाई।दरगाह इलाके में पुलिस ने पहाड़ी पर बने मकानों की तलाशी ली और लोगों की जानकारी जुटाई।
दरगाह इलाके में वोटर लिस्ट के साथ तलाशी लेती पुलिस।दरगाह इलाके में वोटर लिस्ट के साथ तलाशी लेती पुलिस।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..