--Advertisement--

देशी-विदेशी युवतियों ने खेली कपड़ा फाड़ होली, दुनिया में इसलिए है फेमस

पुष्कर की अजब-गजब होली खेलने के लिए देशी-विदेशी मेहमानों की उमड़ी भीड़।

Danik Bhaskar | Mar 03, 2018, 11:10 PM IST

पुष्कर. तीर्थनगरी में शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी अलग पहचान बना चुकी कपड़ा फाड़ होली का जमकर धमाल मचा। नगरवासियों के साथ देश के विभिन्न नगरों व महानगरों से आए युवक-युवतियों ने विदेशी मेहमानों के साथ दिल खोल कर होली खेली तथा होली के रंगों में मदमस्त युवक-युवतियां डीजे की धुन पर दिन-रात झूमे। पुष्कर की अजब-गजब होली खेलने के लिए देशी-विदेशी मेहमानों की उमड़ी भीड़ ने अब तक की होली के रिकार्ड तोड़ दिए। मुख्य बाजार की सड़कें होली के रंग में डूबे देशी-विदेशी युवक-युवतियों से अटी थी। देशी-विदेशी युवतियां भी नहीं रहीं पीछे...


गुरुवार शाम सभी गली-मोहल्लों में चंग की थाप के बीच होली का दहन किया गया तथा रात्रि को ब्रह्म चौक में ट्रांस पार्टी आयोजित की गई। रात करीब 9 बजे शुरू हुई पार्टी शुक्रवार सुबह 5 बजे तक चली। इसके बाद वराह घाट से ब्रह्म चौक तक का माहौल तो पूरी तरह से सतरंगी हो गया। जगह-जगह होली के रंगों में सराबोर युवक-युवतियां मदमस्त होकर झूमते रहे। कपड़ा फाड़ होली का मुख्य केंद्र वराह घाट चौक ही रहा। चौक में जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया लोगों में जोश बढ़ता गया। डीजे पर गूंजते हिंदी एवं पाश्चात्य संगीत की धुनों पर जहां होली के रंग में रंगे देशी के साथ विदेशी झूमते रहे। वहीं देशी-विदेशी युवकों में एक-दूसरे के कपड़े फाड़ने की होड़ मची रही। होली खेलने में देशी-विदेशी युवतियां भी पीछे नहीं रही।

पुरुषों के झुंड में कूद पड़ीं युवतियां

बड़ी संख्या में युवतियां भी होली खेलने पुरुषों के झुंड में कूद पड़ी और बेखौफ होकर युवकों के साथ होली खेली। कुछ युवकों ने विदेशी युवतियों से रंग लगाने के बहाने छेड़छाड़ की कोशिश की। ऐसे मनचले युवकों को स्थानीय आयोजक कार्यकर्ताओं ने धुनाई कर खदेड़ दिया। जगह नहीं मिलने के कारण देशी-विदेशी आस-पास के मकानों व रेस्टोरेंट्स की छतों पर चढ़ गए। घाटों पर भी होली खेलने के लिए देशी-विदेशियों का जमघट लगा रहा। कई पर्यटकों ने होटलों में ही होली खेली।

5 हजार विदेशी, 50 हजार देशी
पुष्कर की कपड़ा फाड़ होली विदेशों के साथ-साथ स्वदेश में भी मशहूर हो रही है। होली खेलने के लिए बीते दो सालों से विदेशियों के साथ देशी युवक-युवतियों की संख्या बढ़ने लगी है। इस बार पुष्कर में करीब 5 हजार विदेशी पर्यटकों की आवक दर्ज की गई,जबकि करीब 50 हजार देशी युवक-युवतियां आए। विदेशी मेहमानों के साथ कपड़ा फाड़ होली खेलने के लिए राजस्थान समेत पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, गुजराज समेत विभिन्न प्रदेशों के बड़े-बड़े शहरों से बड़ी संख्या में युवक-युवतियां पुष्कर आए। इनमें अधिकतर लड़के-लड़कियां तो इंजीनियरिंग एवं आईआईटी कॉलेजों की थी। कई युवक-युवतियां निजी कंपनियों में जॉब करने वाले थे।

स्वायत्त शासन सचिव, आईजी, कलेक्टर ने भी उठाया लुत्फ
पुष्कर की बहुचर्चित कपड़ा फाड़ होली का स्वायत्त शासन विभाग के सचिव मंजीत सिंह, आईजी मालिनी अग्रवाल, जिला कलेक्टर गौरव गोयल, आईपीएस मोनिका सेन समेत अनेक प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने सपरिवार पुष्कर पहुंच कर कपड़ा फाड़ होली का लुत्फ उठाया। कलेक्टर गोयल ने अगले साल होली खेलने के लिए आने वाले युगल के लिए अलग से व्यवस्था करने को कहा। सभी अधिकारियों की पालिकाध्यक्ष कमल पाठक ने अगवानी की।

मेले से अधिक हुई कमाई
कपड़ा फाड़ होली खेलने के लिए उमड़ी देशी-विदेशी पर्यटकों की भीड़ के कारण शहर के दुकानदारों की बल्ले-बल्ले हो गई। दो दिन तक मेले सा माहौल रहा तथा देशी-विदेशी पर्यटकों ने जमकर खरीदारी की। होटल-गेस्ट हाऊस में रेट बढ़ाने के बावजूद लोगों को ठहरने के लिए होटलों में कमरे नहीं मिले। बाजारों में चाय, पानी की बोतलें व नाश्ता भी महंगा हो गया। कई दुकानें तो शुक्रवार की पूरी रात खुली रही तथा दुकानदारों ने पुष्कर मेले से अधिक कमाई की। होली खेलने आए अधिकतर युवक नशे में होने के कारण बुजुर्ग तीर्थ पुरोहितों की भावना आहत हुई।