--Advertisement--

कांग्रेस के बागी कैंडिडेट को नाम वापस लेने से समर्थकों ने रोका

समर्थकों ने कहा-मालवीय को नामांकन उठाने ले जाना है तो हमें कूचलकर जाना होगा।

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 05:49 AM IST

बिजौलिया (भीलवाड़ा). मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस से बगावत कर पर्चा भरने वाले पूर्व प्रधान गोपाल मालवीय पर सोमवार को नेताओं ने नामांकन उठाने के लिए दबाव बनाया, लेकिन मालवीय ने नामांकन वापस नहीं लिया। दोपहर 2 बजे जहाजपुर विधायक धीरज गुर्जर ने मालवीय से नामांकन उठाने की अपील की। यह सुनकर मालवीय के समर्थक आक्रोशित हो गए।


विधायक के साथ मालवीय के नामांकन उठाने की सूचना मिलने पर चांद जी की खेड़ी यूथ कांग्रेस अध्यक्ष राजेश बैरागी व कार्यकर्ता सड़क पर लेट गए। समर्थकों ने कहा-मालवीय को नामांकन उठाने ले जाना है तो हमें कूचलकर जाना होगा। सोमवार को जयपुर से सुबह 9:30 बजे मालवीय सलावटिया लौटे। उनके नामांकन उठाने की भनक लगते ही समर्थक उनके निवास के बाहर जमा हो गए।

समर्थकों ने नामांकन नहीं उठाने की मांग करते हुए विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया। सुबह 9:30 बजे शुरू हुआ मनुहार का दौर दोपहर 3 बजे तक चलता रहा, लेकिन समर्थकों ने अंतिम समय तक मालवीय को जाने नहीं दिया। दोपहर 1 बजे कांग्रेस जिलाध्यक्ष अनिल डांगी पहुंचे। उन्होंने मालवीय तथा समर्थकों से पार्टी हित में नामांकन उठाने की बात कही।

मालवीय के समर्थकों के नहीं मानने पर दोपहर 2 बजे जहाजपुर विधायक धीरज गुर्जर व पीसीसी सचिव तरुण कुमार भी सलावटिया मालवीय को समझाने पहुंचे। समर्थकों ने दोनों नेताओं से कहा कि मालवीय का नामांकन उठाने नहीं देंगे, आप चले जाइए।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पूर्व सांसद सीपी जोशी, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, विधायक धीरज गुर्जर, जिलाध्यक्ष अनिल डांगी सहित सभी नेताओं ने मनाने का प्रयास किया। नामांकन भरने के बाद से अब तक कांग्रेस प्रत्याशी विवेक धाकड़ ने मुझे एक भी बार उनके पक्ष में नामांकन उठाने के लिए नहीं कहा। इसके बाद ही समर्थकों की मांग पर मैंने चुनाव लड़ने का निर्णय लिया।
- गोपाल मालवीय, कांग्रेस के बागी प्रत्याशी