--Advertisement--

सचिन पायलट बोले- सरकार चाहे न चाहे, किसानों का कर्जा तो माफ करना ही पड़ेगा

पायलट बोले - किसानों की जमीनों की दलाली कर रही सरकार, 80 किसान मरे, किसी ने आंसू नहीं पोंछे

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 08:11 AM IST

अजमेर. राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि किसानों को कर्जा माफी के नाम पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिर्फ झुनझुना थमाना चाहती हैं। भाजपा द्वारा गठित कमेटी ने भी कर्ज माफी को लेकर अपना नकारात्मक रुख स्पष्ट कर दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहे जितना किसानों को दबा ले, हम उनका सारा कर्जा माफ करवा कर ही दम लेंगे। कांग्रेस किसानों के हित में अपनी लड़ाई जारी रखेगी।


पायलट ने बुधवार को केकड़ी विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों में आयोजित जनसभाओं में भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला।पायलट ने कहा कि राज्य सरकार के पास काला कानून लाने का वक्त है, मुख्यमंत्री का बंगला बनाने का वक्त है, उनके पेंशन भत्ते बढ़ाने का वक्त है, तब तो कोई कमेटी नहीं बनती। फिर किसानों के लिए ही कमेटियां क्यों बनाई जा रही है।


प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष और राजस्थान सरकार के पूर्व मुख्य सचेतक डॉ रघु शर्मा ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस शासन के दौरान करोड़ों की लागत का शानदार अस्पताल केकड़ी की जनता के लिए बनवाया परंतु भाजपा सरकार चिकित्सक तक उपलब्ध नहीं करा सकी और रेफरल अस्पताल बनकर रह गया।


देहात जिलाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि जनता अब झूठे जुमलों और वादों से त्रस्त हो चुकी है । उन्होंने कहा कि हाल ही में मुख्यमंत्री ने केकड़ी में सिटी डिस्पेंसरी और सरवाड़ में कॉलेज की घोषणा तो कर दी लेकिन क्या मुख्यमंत्री जनता को बताएंगी कि अस्पताल में चिकित्सक तो लगा नहीं पा रही है तो डिस्पेंसरी कैसे चलेगी ।


पायलट ने किसान के घर किया भोजन
- पायलट ने केकड़ी दौरे के दौरान सरसड़ी गांव में किसान बद्री चौधरी के घर खाना खाया। पायलट केकड़ी जाते समय जब गांव से गुजर रहे थे तभी उन्होंने खाना खाने के लिए गाड़ी रुकवाई, सामने ही किसान बद्री चौधरी का घर था। पायलट अपने खाने का पैकेट लेकर किसान के घर पहुंच गए।

- उन्होंने किसान के घर में रखे लकड़ी के तख्ते पर बैठ कर खाना खाया। पायलट ने किसान परिवार से उनके हाल चाल पूछे।

- पायलट के दौरे पर आज देहात प्रदेश उपाध्यक्ष प्रमोद जैन भाया, विधायक धीरज गुर्जर, प्रदेश महासचिव गंगा देवी, प्रदेश सचिव सुरज्ञान सिंह घोसल्या, सेवादल प्रदेश अध्यक्ष राकेश पारीक, पूर्व सांसद प्रभा ठाकुर, नसीम अख्तर, ब्रह्मदेव कुमावत , नाथूराम सिनोदिया, हाजी कयूम खान, रामस्वरूप चौधरी, हरिसिंह गुर्जर, प्रद्युम्न सिंह सहित जिले के कांग्रेसजन मौजूद थे।