--Advertisement--

120 में से काम के लिए 77 दिन ही मिलेंगे RPSC के नए अध्यक्ष को

1 मई 2018 को होगा कार्यकाल पूरा, डॉ. गर्ग के सामने नई भर्ती आयोजित करने समेत कई बड़ी चुनौतियां

Danik Bhaskar | Dec 29, 2017, 08:17 AM IST

अजमेर. राजस्थान लोक सेवा आयोग के नए अध्यक्ष डॉ. राधे श्याम गर्ग काे नए साल में काम करने के लिए मात्र 77 दिन मिलेंगे। इन 77 दिनों में डॉ. गर्ग के सामने नई भर्ती आयोजित करने समेत विभिन्न बड़ी चुनौतियां सामने रहेंगी। इधर, गुरुवार से लागू हुई आदर्श आचार संहिता के चलते आयोग नई भर्ती परीक्षाओं की प्रक्रिया भी शुरू नहीं कर पाएगा।

आयोग के नए अध्यक्ष डॉ. राधे श्याम गर्ग ने 18 दिसंबर 2017 को कार्यकाल संभाल लिया था। इसके बाद से वे लगातार अवकाश पर रहे और आज, गुरुवार को वापस लौटे। अब वर्ष 2017 समाप्त होने में तीन दिन शेष हैं इनमें दो दिन शनिवार व रविवार के अवकाश के रहेंगे। डॉ. गर्ग की जन्म तिथि 2 मई 1956 है। इस हिसाब से वे 1 मई 2017 को 62 वर्ष के हो जाएंगे।


नव वर्ष 2018 की जनवरी 1 से आयोग अध्यक्ष डॉ. गर्ग का कुल कार्यकाल 120 दिन का बचेगा। इसमें भी शनिवार और रविवार के साप्ताहिक अवकाशों के साथ ही चार महीने में कुल 43 दिन अवकाश के आ रहे हैं। ऐसे में डॉ. गर्ग के पास कुल 77 दिन काम के लिए शेष बचते हैं। अब यदि इन 77 दिनों में भी आयोग अध्यक्ष डॉ. गर्ग को यूपीएससी या अन्य प्रदेशों की पीएससी में दौरे पर जाना पड़ा तो काम के दिनों की संख्या और कम रह जाएगी।

किस महीने में कितने दिन रहेंगे काम के

जनवरी : 4 शनिवार और 5 रविवार के साथ ही एक दिन गणतंत्र दिवस का अवकाश है। जनवरी में 21 दिन ही उन्हें काम काज संभालने के लिए मिलेंगे।
फरवरी : कुल 28 दिनों में से 20 दिन काम के मिलेंगे। 4 शनिवार और 4 रविवार को आयोग में कोई काम काज नहीं होगा।

मार्च : सबसे अधिक छुट्टियों वाला महीना होगा। इस महीने में 4 रविवार और 5 शनिवार के साथ ही होली, धुलंडी, चेटीचंड, श्रीरामनवमी, महावीर जयंती और गुड फ्राइडे को आयोग में अवकाश रहेंगे। इस हिसाब से 15 दिन अवकाश और 16 दिन काम के रहेंगे। यदि इस दौरान ही ख्वाजा साहब के उर्स का स्थानीय अवकाश घोषित हो गया तो कार्य के दिन 15 रह जाएंगे और अवकाश के दिनों की संख्या 16 हो जाएगी।

अप्रैल : कुल 30 दिनों में से 5 रविवार और 4 शनिवार को अवकाश रहेंगे साथ ही 14 अप्रेल को बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जयंती पर अवकाश रहेगा। इस हिसाब से अप्रेल में भी कुल 20 दिन ही काम काज के रहेंगे।

आदर्श आचार संहिता भी लागू, नई भर्ती पर लगा ब्रेक

इधर, अजमेर में लोक सभा उपचुनाव को देखते हुए गुरुवार से ही आदर्श आचार संहिता भी लग गई। ऐसे में आयोग आरएएस 2017 समेत विभिन्न नई भर्तियों की प्रक्रिया भी शुरू नहीं कर पाएगा। इससे प्रदेश के बेरोजगारों की उम्मीदों पर भी फिर पानी फिर सकता है।