--Advertisement--

वृद्धा को गला दबाकर मारा, शव बोरे में बंद कर सूखे कुएं में फेंका

करीब पांच लाख के जेवर ले गया हत्यारा, आईपीएस सेन ने एफएसएल टीम की मदद से किया घटनास्थल का मुआयना

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 07:37 AM IST

अजमेर. आदर्शनगर थाना क्षेत्र के पालरा रीको एरिया में सूखे कुएं में बोरे में बंद वृद्धा का शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। हत्यारों ने महिला की गला दबा कर हत्या की और उसके शरीर से करीब पांच लाख रुपए के सोने-चांदी के जेवर उतार कर ले गए। हत्यारों ने शव को बोरे में भरकर कुएं में फेंक दिया।


मृतका पालरा गांव की निवासी थी और सब्जी बेचने का काम करती थी। बोरे में महिला की लाश और सब्जियां मिली हैं। आईपीएस मोनिका सेन के नेतृत्व में पुलिस दल ने एफएसएल टीम की मदद से शव और घटनास्थल का मुआयना किया है। शव पोस्टमार्टम के लिए जेएलएन अस्पताल में रखवा दिया गया है। मृतका के परिजन और गांव के लोगों ने हत्यारों की गिरफ्तारी होने पर ही शव लेने की घोषणा की है। पुलिस समझाइश की कोशिश कर रही है।

प्रारंभिक तौर पर रीको एरिया में काम करने वाले बिहार और दूसरे प्रदेशों के श्रमिकों पर इलाके के लोगों ने शक जाहिर किया है।

पालरा स्थित रीको एरिया स्थित एक सूखे कुएं में बुजुर्ग महिला का बोरे में शव मिलने की सूचना पर गुरुवार को आईपीएस मोनिका सेन, अलवर गेट थाना प्रभारी हरिपाल सिंह और आदर्शनगर थाना प्रभारी नरपत सिंह मय दल के मौके पर पहुंचे। कुंए में शव प्लास्टिक के कट्टे में था। पुलिस ने शव को ग्रामीणों की मदद से कुंए से बाहर निकाला। शव के साथ सब्जियों से भरा हुआ कट्टा भी मिला।ऋ

पालरा के सरपंच गुलाब सिंह रावत के साथ मृतका के परिजनों ने मौके पर पहुंच कर मृतका की शिनाख्त पालरा निवासी 62 वर्षीय पांची पत्नी धन्ना रावत के तौर पर की। पांची सब्जी बेचने का काम करती थी, बुधवार को भी वह सब्जी बेचने गई थी, लेकिन शाम को वापस नहीं लौटी, तब से उसके परिजन और गांव के लोग उसकी तलाश में जुटे थे।

मृतका के जेवर खींचतान कर निकालने के निशान

प्रारंभिक तौर पर सामने आया है कि हत्यारों ने पांची के जेवर लूटने के लिए उसकी हत्या की थी। शव का मुआयना करने वाले पुलिस अधिकारियों के अनुसार मृतका के सिर पर सोने का बोर, नाक में सोने की बाली, हाथ और पैरों में चांदी के कड़े खींचतान कर निकालने के निशान मिले हैं। हत्यारों ने पांची की पकड़े से गला घोंट कर हत्या की और नाक के जेवर को खींच कर निकाल लिया, जबकि सिर के बोर को काट कर निकाला है।


लूट का मामला मानकर तफ्तीश शुरू
ग्रामीणों ने रीको एरिया में काम करने वाले बाहरी प्रदेशों के श्रमिकों की गतिविधियों को संदिग्ध बताते हुए जांच की मांग की है। आईपीएस मोनिका सेन ने तफ्तीश के लिए टीम गठित की है। पुलिस प्रारंभिक तौर पर लूट का मामला मान रही है, लेकिन मृतका की पारिवारिक या अन्य रंजिश रखने वाले लोगों को भी जांच के दायरे में लिया गया है।