--Advertisement--

एक नाबालिग समेत दो दलित युवकों पर फायर, आरोपी गिरफ्तार

रिवाल्वर जब्त, मौके से मिला एक मिस फायर कारतूस व 4 खाली केस, पुरानी रंजिश में वारदात

Danik Bhaskar | Jan 23, 2018, 07:16 AM IST

पुष्कर/अजमेर. बीती रात पुरानी रंजिश में पुष्कर की अंबेडकर कॉलोनी में एक युवक की शादी से पूर्व चल रहे डांस कार्यक्रम के दौरान एक युवक ने रिवाल्वर से फायर कर दिए। जिससे एक नाबालिग समेत दो दलित युवकों घायल हो गए। घायलों का अस्पताल में उपचार चल रहा है। दोनों खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं। फायरिंग करने के आरोपी युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसके कब्जे से वारदात में प्रयुक्त रिवाल्वर जब्त की है। साथ ही पुलिस को मौके से एक मिस फायर बुलेट और कारतूस के 4 खाली केस मिले हैं। हमले में घायल एक युवक के शरीर से दो व दूसरे युवक के शरीर से एक रिवाल्वर की गोली निकाली गई है। दोनों युवकों की हालत खतरे से बाहर है।


थानाधिकारी महावीर शर्मा ने बताया कि घटना के संबंध में हमले में घायल नाबालिग समीर गुरावा पुत्र किशनलाल गांछा (17)की ओर से अजमेर जेएलएन में दिए गए पर्चा बयान के आधार पर आरोपी अंबेडकर कॉलोनी निवासी जितेंद्र सिंह राजपूत उर्फ जीतू बन्ना के खिलाफ रिवाल्वर से जानलेवा हमला करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


मामले की जांच अजमेर दरगाह सीओ ओम प्रकाश मीणा को सौंपी गई है। घायल समीर ने पुलिस को दिए गए बयान में बताया कि उसके मित्र पिंटू के चाचा बाबू बंजारा की सोमवार को शादी थी। इससे पूर्व रात्रि को उसके घर के बाहर डांस का कार्यक्रम था। वह अपने साथियों के साथ डांस करने गया था। पास में प्रमोद नागौरा व अन्य दोस्त भी खड़े थे।


इस बीच रात करीब 1 बजे बाबू के घर के सामने स्थित मकान में रहने वाले आरोपी जीतू ने अपने घर की बॉलकनी में खड़े होकर अचानक रिवाल्वर से फायरिंग शुरू कर दी। पहले उसने हवाई फायर किया। बाद में उसने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जिससे उसकी रीढ़ की हड्डी में एक गोली लगी। जबकि प्रमोद के पीट में दो गोली लगी। घायलों को तत्काल पुष्कर अस्पताल लाया गया। हालात गंभीर होने की वजह से प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें अजमेर जेएलएन रैफर किया गया। जहां सोमवार की सुबह उनका चिकित्सकों ने ऑपरेशन किया तथा उनके शरीर से रिवाल्वर की गोलियां निकाली।

जीतू पर दो साल पूर्व राजू व राहुल ने किया था जानलेवा हमला

पुलिस की प्रारंभिक जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि हमलावर जीतू पर गत करीब दो साल पूर्व राजू व राहुल ने जानलेवा हमला किया था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भिजवा दिया। जेल से छूटने के बाद वे फिर से पुष्कर आ गए।

बीती रात राजू व राहुल भी दूल्हे के निमंत्रण पर डांस देखने गए थे। राजू व राहुल को देख कर जीतू का गुस्सा फूट गया और उसने भीड़ में फायरिंग शुरू कर दी। खास बात यह है कि राजू व राहुल तो बच गए, लेकिन पास में खड़े समीर व प्रमोद के गोलियां लग गई।