Hindi News »Rajasthan »Ajmer» Future Seen By Bird Flying In Rohira Near Ajmer

चिड़िया उड़ाकर देखा भविष्य, हरे पेड़ पर बैठी, अच्छे जमाने का मिला संकेत

भूला गांव में आदिवासी ग्रामीणों ने मनाया देव चिडिय़ा (डूस्की) का पर्व

Bhaskar News | Last Modified - Dec 22, 2017, 12:13 AM IST

चिड़िया उड़ाकर देखा भविष्य, हरे पेड़ पर बैठी, अच्छे जमाने का मिला संकेत

रोहिड़ा/अजमेर. समीपवर्ती आदिवासी बाहुल्य गांव भूला में मंगलवार को देव चिडिय़ा का पर्व धूमधाम से मनाया गया। स्थानीय भाषा में देव चिड़िया को (डूस्की) कहते हैं। पर्व के दिन सुबह 6 बजे करीब 15 से 20 लोगों की टोली बना कर देव चिड़िया को सुबह 6 बजे पकड़ा गया। इसके बाद गांव में देव चिड़िया को साथ में लेकर घूमकर रुपए अनाज एकत्रित किया और जमा रुपए अनाज से चूरमे का प्रसाद बनाकर चिड़िया को खिलाया तथा उसे छोड़ दिया। जो हरे पेड़ पर जाकर बैठी, जिससे आदिवासियों ने आने वाले साल को अच्छा माना।

ऐसे देखते हैं शकुन

- मान्यता के अनुसार अगर चिडिय़ा हरे पेड़ पर बैठती हैं, तो आने वाले वर्ष को अच्छा माना जाता हैं और अगर चिडिय़ा सूखे पेड़ या पत्थर पर बैठती है, तो आने वाला वर्ष अच्छा नहीं मानते।

- मंगलवार को चिडिय़ा को उड़ाने पर वह हरे पेड़ पर बैठी, जिससे ग्रामीणों ने आने वाले वर्ष के अच्छा होने का अनुमान लगाया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ajmer News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: chiड़iyaa udeaakar dekhaa bhvisy, hare pede par baithi, achchhe jmaane ka milaa snket
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ajmer

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×