यहां चलती है अनूठी 'सॉल्ट ट्रेन', पीके समेत और भी फिल्मों की हो चुकी शूटिंग / यहां चलती है अनूठी 'सॉल्ट ट्रेन', पीके समेत और भी फिल्मों की हो चुकी शूटिंग

फिल्मों की शूटिंग होने के बाद अब सरकार ने भी इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने का मन बनाया है।

Bhaskar News

Jan 03, 2018, 08:11 AM IST
सांभर झील क्षेत्र में चलने वाली ये देश की पहली अनूठी सॉल्ट ट्रेन है। इसके इंजन को छोड़ बाकी की सभी बोगियां लकड़ी की हैं। साल्ट ट्रेन में नमक का लदान करते श्रमिक। सांभर झील क्षेत्र में चलने वाली ये देश की पहली अनूठी सॉल्ट ट्रेन है। इसके इंजन को छोड़ बाकी की सभी बोगियां लकड़ी की हैं। साल्ट ट्रेन में नमक का लदान करते श्रमिक।

कुचामन सिटी/नागौर/जयपुर. ये है देश की पहली और अनूठी सॉल्ट ट्रेन। नागौर, अजमेर और जयुपर में फैली सांभर झील से नमक ढोकर विभिन्न शहरों में पहुंचाने वाली इस ट्रेन के इंजन को छोड़कर बाकी सभी डिब्बे लकड़ी के बने हैं। पीके, जोधा-अकबर, गुलाल, रामलीला, दिल्ली-6, हाई-वे जैसी कई नामी बॉलीवुड फिल्मों में ये नजर आ चुकी है। अब तक देशभर में नमक उत्पादन के लिए अपनी पहचान रखने वाली सांभर झील को अब पर्यटन की दृष्टि से भी विकसित किया जाएगा।

- दरअसल यहां पर बीते कुछ समय में बॉलीवुड की फिल्में पीके, जोधा-अकबर, गुलाल, रामलीला, दिल्ली-6, द्रोण, हाइवे आदि फिल्मों की शूटिंग होने के बाद अब सरकार ने भी इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने का मन बनाया है।

- हिन्दुस्तान साल्ट्स लिमिटेड अब यहां पर पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए 5-टूरिज्म प्रोजेक्ट पर काम करने जा रही है।

- राज्य सरकार ने भी यहां पर पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने की दिशा में कवायद शुरू कर दी है। इससे नागौर जिले के पर्यटन क्षेत्र में इजाफा हो सकेगा।

देश के कुल 9 फीसदी नमक उत्पादन क्षेत्र में अब पर्यटक कर सकेंगे भ्रमण

1. सहेजेंगे विरासत
हिंदुस्तान साल्ट्स लिमिटेड की ओर से 5 टूरिज्म प्रोजेक्ट के तहत हैरिटेज टूरिज्म को भी बढ़ाया दिया जाएगा। इसके तहत अब यहां पर कई पुरा संपदाओं को संरक्षित कर इन्हें पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनाने का प्रयास करेंगे।

2. ग्रामीण व सांस्कृतिक
- सांभर झील के अलावा आस-पास के ग्रामीण इलाकों को भी पर्यटन से जोड़ने के लिए कार्य किया जाएगा। ताकि पर्यटक यहां के अलावा आस-पास के क्षेत्रों में भी भ्रमण कर सके। इससे स्थानीय लोगों को भी खासा लाभ होगा।

3. झील क्षेत्र में भ्रमण
- करीब 90 वर्गमील में फैली इस झील में आज भी पैदल घूमना संभव नहीं है। इसके लिए अब झील क्षेत्र में भ्रमण के लिए भी तैयारी की जा रही है। ताकि देश-दुनिया से आने वाले सैलानियों को झील को करीब से देखने का मौका मिल सके।

4. प्रवासी पक्षी
- झील क्षेत्र में प्रवासी पक्षियों का भी लंबे समय तक जमावड़ा रहता है। यहां पर लंबे समय तक अपना डेरा डालने वाले इन प्रवासी पक्षियों को निहारने के लिए आस-पास के क्षेत्र से पर्यटक भी बड़ी संख्या में आते है।

5. नमक स्पा और रिसोर्ट
- सैलानियों के भ्रमण के साथ-साथ उनके खान-पान के लिए भी कंपनी ने प्रोजेक्ट तैयार किया है।

- इसके अनुसार नमक स्पा और रिसोर्ट सुविधाएं भी उपलब्ध कराने की कवायद की है। ताकि यात्रियों को कोई परेशानी न हो।

यहां पर बीते कुछ समय में बॉलीवुड की फिल्में पीके, जोधा-अकबर, गुलाल, रामलीला, दिल्ली-6,  द्रोण, हाइवे आदि फिल्मों की शूटिंग होने के बाद अब सरकार ने भी इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने का मन बनाया है। यहां पर बीते कुछ समय में बॉलीवुड की फिल्में पीके, जोधा-अकबर, गुलाल, रामलीला, दिल्ली-6, द्रोण, हाइवे आदि फिल्मों की शूटिंग होने के बाद अब सरकार ने भी इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने का मन बनाया है।
हिन्दुस्तान साल्ट्स लिमिटेड अब यहां पर पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए 5-टूरिज्म प्रोजेक्ट पर काम करने जा रही है। हिन्दुस्तान साल्ट्स लिमिटेड अब यहां पर पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए 5-टूरिज्म प्रोजेक्ट पर काम करने जा रही है।
साल्ट ट्रेन की लकड़ी की बोगियों में नमक भरते श्रमिक। साल्ट ट्रेन की लकड़ी की बोगियों में नमक भरते श्रमिक।
झील से लोड किए गए नमक को इस तरह से प्लांट तक पहुंचाया जाता है। झील से लोड किए गए नमक को इस तरह से प्लांट तक पहुंचाया जाता है।
झील में चलती सॉल्ट ट्रेन। झील में चलती सॉल्ट ट्रेन।
X
सांभर झील क्षेत्र में चलने वाली ये देश की पहली अनूठी सॉल्ट ट्रेन है। इसके इंजन को छोड़ बाकी की सभी बोगियां लकड़ी की हैं। साल्ट ट्रेन में नमक का लदान करते श्रमिक।सांभर झील क्षेत्र में चलने वाली ये देश की पहली अनूठी सॉल्ट ट्रेन है। इसके इंजन को छोड़ बाकी की सभी बोगियां लकड़ी की हैं। साल्ट ट्रेन में नमक का लदान करते श्रमिक।
यहां पर बीते कुछ समय में बॉलीवुड की फिल्में पीके, जोधा-अकबर, गुलाल, रामलीला, दिल्ली-6,  द्रोण, हाइवे आदि फिल्मों की शूटिंग होने के बाद अब सरकार ने भी इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने का मन बनाया है।यहां पर बीते कुछ समय में बॉलीवुड की फिल्में पीके, जोधा-अकबर, गुलाल, रामलीला, दिल्ली-6, द्रोण, हाइवे आदि फिल्मों की शूटिंग होने के बाद अब सरकार ने भी इसे पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने का मन बनाया है।
हिन्दुस्तान साल्ट्स लिमिटेड अब यहां पर पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए 5-टूरिज्म प्रोजेक्ट पर काम करने जा रही है।हिन्दुस्तान साल्ट्स लिमिटेड अब यहां पर पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए 5-टूरिज्म प्रोजेक्ट पर काम करने जा रही है।
साल्ट ट्रेन की लकड़ी की बोगियों में नमक भरते श्रमिक।साल्ट ट्रेन की लकड़ी की बोगियों में नमक भरते श्रमिक।
झील से लोड किए गए नमक को इस तरह से प्लांट तक पहुंचाया जाता है।झील से लोड किए गए नमक को इस तरह से प्लांट तक पहुंचाया जाता है।
झील में चलती सॉल्ट ट्रेन।झील में चलती सॉल्ट ट्रेन।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना