--Advertisement--

अजमेर उपचुनाव: दोपहर बाद साफ हो जाएगी चुनावी समर की तस्वीर

नाम वापसी की अंतिम तारीख आज, निर्दलीयों को मनाने में लगे हैं कांग्रेस-भाजपा प्रत्याशी

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 06:09 AM IST

अजमेर. संसदीय क्षेत्र में होने जा रहे लोकसभा उप चुनावी समर में कौन कौन महारथी रहेगा सोमवार को नाम वापसी की अंतिम तारीख को तय हो जाएगा। नामांकन वापसी के अंतिम दिन से पहले तक कांग्रेस-भाजपा के दोनों मुख्य प्रतिद्वंदी अपने परंपरागत वोट में सेंध लगाने वाले उम्मीदवारों को नाम वापसी के लिए मान मनुहार में लगे रहे। 26 उम्मीदवारों ने नामांकन सही पाए गए थे।


- लोक सभा उप चुनाव में नामांकन दाखिल कर उम्मीदवारी का आगाज करने वालों के लिए नाम वापसी का सोमवार को तीन बजे तक आखिरी समय है। नाम वापसी के पहले दिन किसी ने भी अपना नामांकन वापस नहीं लिया।

- चुनाव में मुख्य प्रतिद्वंदी माने जा रहे भाजपा के रामस्वरूप लांबा तथा कांग्रेस के डा. रघु शर्मा के सांसें ऊपर-नीचे चल रही हैं, क्योंकि नामांकन दाखिल करने वाले लोगों में दोनों ही दलों के मतों में सेंध लगाने वाले मौजूद हैं। ऐसे में दोनों प्रत्याशियों का प्रयास है कि परंपरागत वोट में किसी प्रकार की सेंध नहीं लग सके इसलिए नामांकन दाखिल करने वालों को मनाने में किसी प्रकार की कसर दोनों ही पक्ष छोड़ना नहीं चाहते हैं। जहां तक भाजपा वोट में सेंध का सवाल है तो रावत, जाट उम्मीदवार अभी तक मैदान में है। कांग्रेस के लिए ब्राह्मण, राजपूत तथा गुर्जर प्रत्याशी मैदान में रहते हैं तो वोट कटर साबित हो सकते हैं।


ये हैं अभी तक मैदान में
कांग्रेस से डा. शर्मा, भाजपा से लांबा, रंजिता अखिल भारतीय आमजन पार्टी, शिव भगवान, दलित, शोषित पिछड़ा वर्ग अधिकार दल, मनोहर गुर्जर हिंदुस्तान शक्ति सेना, महेश चंद शर्मा भारतीय कल्याण दल, कृष्ण कुमार दाधीच भारतीय जन हितकारी पार्टी, भागीरथ सिंह खर्राटे अखिल भारतीय महासभा के अलावा कृष्ण कुमार दाधीच, मुकेश गैना, केसर सिंह रावत, पीरदान सिंह, गुल मोहम्मद, सुरेंद्र कुमार जैन, हरि चंद, आनंदी प्रसाद, शाहिद खान, नईम खान, सहजाद अली, मोहम्मद नसीम, इंसाफ अली, हामिद हुसैन, श्रीमती हीना, गणपत, कमला रावत, दानाराम मेहरड़ा, रविंद्र सिंह, गजेंद्र सिंह तथा कैलाश ओझा निर्दलीय के रूप में नामांकन दाखिल कर चुनाव मैदान में डटे हैं।

वोट बैंक में सेंध लगने के आसार

- नामांकन वापसी का सोमवार तीन बजे तक अंतिम समय है। सोमवार को नामांकन दाखिल करने वालों में से कौन-कौन अपना नाम पर्चा वापस लेता है। इसके बाद चुनावी तस्वीर साफ हो जाएगी की कितने लोग चुनावी समर में मौजूद रहेंगे। किसके चुनावी समर में खड़े रहने से भाजपा या कांग्रेस के वोट बैंक में सेंध लगने के आसार हैं।

- बताया जा रहा है कि नामांकन दाखिल करने वाले मुस्लिम प्रत्याशियों की नाम वापसी के लिए कांग्रेस ने संसदीय क्षेत्र के ही नहीं बड़े नेताओं को भी लगा दिया है। हिंदुस्तान शक्ति सेना से पर्चा दाखिल करने वाले मनोहर गुर्जर की नामवापसी के प्रयास तो 9 जनवरी से ही शुरू हो गए थे।

- कांग्रेस के बड़े नेताओं ने गुर्जर तक पहुंचना शुरू कर दिया था। दूसरी तरफ भाजपा ने रावत प्रत्याशियों को पर्चा वापसी कराने के लिए प्रयास शुरू किए हुए हैं। मुख्य मुकाबला कांग्रेस व भाजपा प्रत्याशी के बीच ही है।