Hindi News »Rajasthan »Ajmer» Online Dua By Ajmer Dargah Commitee

दरगाह कमेटी ऑन लाइन दुआ करा रही थी, खादिमों ने विरोध किया तो वेबसाइट से फ्लैश हटाया

दरगाह कमेटी अब अपनी वेबसाइट को और अपडेट करने जा रही है

आरिफ कुरैशी | Last Modified - Jan 18, 2018, 06:01 AM IST

दरगाह कमेटी ऑन लाइन दुआ करा रही थी, खादिमों ने विरोध किया तो वेबसाइट से फ्लैश हटाया

अजमेर. महान सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह का प्रबंधन संभालने वाली दरगाह कमेटी समय-समय पर विभिन्न कारणों से चर्चा में रही है। इस बार चर्चा का कारण बना है ऑन लाइन दुआ। दरगाह कमेटी की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑन लाइन दुआ के ऑप्शन को लेकर खादिम नाराज हो गए। खादिमों की नाराजगी के बाद कमेटी ने ऑन लाइन दुआ का फ्लैश हटा लिया लेकिन वेबसाइट पर अब भी ऑन लाइन दुआ का ऑप्शन बरकरार है।


दरगाह कमेटी सूत्रों का कहना है कि तत्कालीन नाजिम लेफ्टिनेंट मंसूर अली खान के समय में ऑन लाइन दुआ की व्यवस्था शुरू की गई थी। जो लोग दरगाह नहीं आ सकते, वे अपनी दुआओं को ऑन लाइन रूप में कमेटी की वेबसाइट पर अपलोड कर सकते हैं और कमेटी उनकी दुआओं को गरीब नवाज के दर पर पेश करने का दावा करती है। यह व्यवस्था 1 साल से अधिक समय से चली आ रही थी। लेकिन पिछले दिनाें ही खादिमों की इस पर नजर पड़ी। खादिमों ने यह कह कर विरोध शुरू कर दिया कि दुआ कराने का हक खुद्दाम ए ख्वाजा को है। नाजिम कार्यालय दुआ कैसे करा सकता है। इस पर कुछ खादिम नाजिम आईबी पीरजादा से भी मिले और इस संबंध में बात की।

फ्लैश हटाया

कमेटी ने खादिमों की आपत्ति के बाद वेबसाइट से ऑन लाइन दुआ का फ्लैश हटा दिया। लेकिन वेबसाइट पर अब भी ऑन लाइन दुआ के लिए ऑप्शन बरकरार है।

यह लिखा है वेबसाइट पर
दरगाह कमेटी ने अपनी दुआ को गरीब नवाज के दरबार में ऑनलाइन भेजने की इस अद्वितीय प्रणाली को शुरू किया है। कृपया अपने डी आइए की एक एमपी 3 फाइल को 6 एमबी आकार से कम बनायें और इसे नीचे दिखाए गए लिंक में लिंक से भेजें। आपकी दुआ दरगाह में खोली जाएगी।

पहले आते थे खत, अब ऑन लाइन
कमेटी सूत्रों के मुताबिक पूर्व में कमेटी को दुआ के लिए प्रतिदिन बड़ी संख्या में खत मिलते थे। खतों की संख्या को देखते हुए ही कमेटी ने इसे ऑन लाइन रूप में ही मंगाने का निर्णय किया। पूर्व नाजिम के समय से यह व्यवस्था चली आ रही है।


वेबसाइट नए रूप में शीघ्र
दरगाह कमेटी की वेबसाइट अब एनआईसी पर आने वाली है। केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलात मंत्रालय के साथ ही यह वेबसाइट भी निकट भविष्य में जीओ वी डॉट इन पर खुला करेगी। कमेटी वेबसाइट को और अपडेट कर रही है। साथ ही कुछ नई जानकारियां भी इस पर उपलब्ध करा सकती है। इसकी तैयारियां जारी हैं और जल्द ही इसे नए रूप में देश-दुनिया में देखा जा सकेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ajmer

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×