अजमेर

--Advertisement--

कलेक्टर-एसपी ज्वाइंट फोर्स में 5000 जवान होंगे, 20 अतिरिक्त कंपनियां भी

जिला निर्वाचन अधिकारी कक्ष से सौ मीटर दूरी पर वाहनों के प्रवेश पर रोक, आज आएंगे पर्यवेक्षक, संवेदनशील

Dainik Bhaskar

Jan 09, 2018, 08:24 AM IST
Police force deployed at ajmer byelection office

अजमेर. लोकसभा उपचुनाव में 5 हजार जवान तैनात किए जाएंगे। साथ ही राज्य निर्वाचन आयोग से 20 अतिरिक्त कंपनियां पैरा मिलिट्री और आरएसी की मांगी गई है। नामांकन के मद्देनजर जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय पुलिस छावनी में बदल दिया गया है। सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक कलेक्ट्रेट के मुख्य द्वार से चार पहिया वाहनों सहित दो पहिया वाहनों के प्रवेश पर सख्ती से रोक लगा दी गई है। जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के चारों और पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।


- जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर गौरव गोयल ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के दिशा -निर्देशों की सख्ती से पालना की जा रही है। यही वजह है कि कार्यालय से 100 मीटर की दूरी पर ही वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है।

- गोयल ने बताया कि उम्मीदवार के चार पहिया वाहन सहित दो अन्य वाहनों को ही नामांकन के दौरान प्रवेश की अनुमति है। इसी प्रकार नामांकन दाखिल करते समय भी उम्मीदवार सहित पांच लोग आ सकेंगे।

- उन्होंने बताया कि ऑब्जर्वर मंगलवार को अजमेर आ जाएंगे। सामान्य ऑब्जर्वर महाराष्ट्र से सीनियर आईएएस एएम कावड़े और खर्चे पर नजर रखने के लिए रामबाबू गुप्ता होंगे।


हर पाेलिंग बूथ पर तैनात रहेगा भारी पुलिस बल

- शांतिपूर्ण उपचुनाव संपन्न करवाने के लिए हर पाेलिंग बूथ पर भारी पुलिस बल तैनात रहेगा।

- सूत्रों के मुताबिक जिला निर्वाचन अधिकारी ने राज्य निर्वाचन आयोग से 20 अतिरिक्त कंपनी मांगी है। मतदान में कलेक्टर-एससी ज्वाइंट फोर्स में 5 हजार जवान तैनात रहेंगे।

- इसी प्रकार हर विधानसभा क्षेत्र में 10-12 बूथ पर एक सेक्टर मजिस्ट्रेट, एरिया मजिस्ट्रेट और 190 मजिस्ट्रेट नियुक्त किए जाएंगे।

दिशा-निर्देशों की होगी पालना
उपचुनाव में भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों की पालना सुनिश्चित की गई है। इस चुनाव में उम्मीदवार अधिकतम 70 लाख रुपए खर्च सकेंगे, जिसका उन्हें ब्यौरा देना होगा। नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के बाद संवेदनशील एवं अतिसंवेदनशील पोलिंग बूथों की छंटनी चल रही है। जल्द ही इनकी सूची जारी कर दी जाएगी।’
- गौरव गोयल, जिला निर्वाचन अधिकारी

X
Police force deployed at ajmer byelection office
Click to listen..