--Advertisement--

पीओएस मशीनें होंगी हाईटेक, उपभोक्ताओं को मिलेगी राहत

अजमेर जिले में 1100 से अधिक पीओएस मशीनों के माध्यम से राशन सामग्री का वितरण किया जा रहा है।

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 08:45 AM IST

अजमेर. सरकार राशन सामग्री बांटने वाली मशीनों को हाईटेक कर रही है। इसके तहत अब मशीन वाई-फाई के जरिए भी चलाई जा सकती है। इसके अलावा सेंसर भी उच्च गुणवत्ता का लगाया जा रहा है। इससे अंगूठा निशानी में आ रही परेशानियों पर भी रोक लगेगी। अजमेर जिले में मशीनों को अपग्रेड करने का कार्य शुरू हो गया है।


अजमेर जिले में 1100 से अधिक पीओएस मशीनों के माध्यम से राशन सामग्री का वितरण किया जा रहा है। वर्तमान में मशीन में कई खामियां हैं जिनकी वजह से उपभोक्ताओं को कई प्रकार की कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। इसमें प्रमुख रूप से अंगूठा निशानी और नेटवर्क की समस्या आ रही है। सरकार ने इस समस्या से निपटने के लिए मशीनों को हाईटेक करने का फैसला किया है।

इसके तहत मशीनों में वाई-फाई की सुविधा दी जा रही है। पहले मशीन में सिम लगाने के बाद ही काम करती थी, लेकिन अब दुकानदार अपने मोबाइल से मशीन को जोड़कर भी राशन सामग्री वितरित कर सकता है। इसी प्रकार पहले सैंसर कमजोर होने की वजह से मशीन बुजुर्ग लोगों के अंगूठा निशानी का मिलान नहीं हो पाता था।