--Advertisement--

गर्भवती बेटी व दामाद के हाथ पांव बांधकर पीटा, मां बहन और भाई थे इस गुनाह में शामिल

कुछ आरोपी पीट रहे थे तो कुछ वीडियो बना रहे थे। पूरा गांव तमाशबीन बना हुआ था।

Danik Bhaskar | Mar 12, 2018, 06:27 AM IST
दोनों को मरा समझ वीडियो बनाया। दोनों को मरा समझ वीडियो बनाया।

बिलाड़ा(राजस्थान). पांच साल पहले दूसरी जाति के लड़के के साथ शादी करने से नाराज परिवार प्रेग्नेंट बेटी व दामाद को तब तक पीटा जब तक पुलिस नहीं मौके पर नहीं पहुंची। दामाद पर जानवरों के शिकार में काम आने वाली कुंट(चाकू) से हमला किया। जबकि बेटी काे लाठियों से पीट रहे थे। दोनों को मरा हुआ समझ लिया था फिर भी पिटाई कर रहे थे। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उन्हें रोका। आरोपी इस कदर बेखौफ थे कि पुलिस आने पर भी मौके पर ही रहे और कहीं भागे नहीं। कुछ आरोपी पीट रहे थे तो कुछ वीडियो बना रहे थे। ये था मामला...

- मौके से हिरासत में लिए गए चार आरोपियों को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया। उनमें मां, बहन व दो भाई है। एक भाई सहित अन्य आरोपी फरार हो गए। उनकी गिरफ्तारी के प्रयास जारी है।

- उल्लेखनीय है कि बिलाड़ा के रामपुरिया गांव के रहने वाले ओमप्रकाश जाट व कलाऊना गांव की रहने वाली सुमित्रा रैगर ने मर्जी से 5 साल प्रेम विवाह किया था।

- इसे लेकर लड़की के परिजन खफा चल रहे थे। प्रेम-विवाह के बाद दंपती ने गांव छोड़कर 3 साल मद्रास में बिताए।

ऐसे पैदा हुई थी नफरत

- 2 साल पहले यह सोचकर गांव आ गए कि अब तो परिजन पिघल गए होंगे लेकिन उनके मन में नफरत दिनों दिन बढ़ती ही गई। पुलिस नहीं पहुंचती तो वे दोनों की जान ही ले लेते।

- पुलिस ने बताया कि सूत्रधार व मुख्य आरोपी घनश्याम फरार है। मामले की जांच कर रहे अनुसंधान अधिकारी बलदेवराम चौधरी ने बताया कि गंभीर घायल ओमप्रकाश पुत्र डावरराम जाट के बयान पर 6 जनों के खिलाफ नामजद व तीन अन्य जनों के खिलाफ जानलेवा हमला, बंधक बनाकर पीटना व गर्भवती महिला को पीटने का मामला दर्ज किया।

- वारदात में शामिल पीड़िता की बहन मंजु, मां गजरादेवी, भाई जीवराज व रामनिवास को गिरफ्तार कर लिया।

- वहीं बहन मंजु के करीबी व्यक्ति के साथ मुख्य आरोपी भाई घनश्याम, रामनिवास की पत्नी बाबूदेवी फरार हैं।

पुलिस की कैद में आरोपी। पुलिस की कैद में आरोपी।