--Advertisement--

सट्टा कारोबार से जुड़े अधेड़ की गला रेत कर हत्या, चल रहा था लेनदेन का विवाद

ब्याज पर मोटी राशि मुहैया कराने का काम करता था मृतक, लेनदेन के विवाद में हत्या का शक

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 07:42 AM IST
Speculative businessman murder in ajmer

अजमेर. दरगाह थाना क्षेत्र में लाखनकोटड़ी इलाके के नाई मोहल्ले में एक अधेड़ की उसके ही घर में गला रेत कर हत्या कर दी गई। कातिल ने अधेड़ की धारदार हथियार से गले की नस काट दी जिससे ज्यादा खून बहने से उसकी मौत हो गई। इतना ही नहीं कातिल मृतक के गले से सोने की चेन, 2 अंगूठियां, कानों की बालियां भी उतार कर ले गया। मृतक के घर की आलमारी भी खुली पड़ी मिली है जिसका सामान बिखरा हुआ था।


प्रारंभिक तौर पर माना जा रहा है कि कातिल ने तफ्तीश को गुमराह करने के लिए मामले को लूट का बनाने की कोशिश की थी। मृतक की ब्याजखोरी और सट्टे के कारोबार में लिप्तता थी। कई कारोबारियों को उसने दो से बीस लाख रुपए तक की राशि उधार दे रखी थी। दो दिन पहले ही उसने बीस लाख रुपए की मोटी रकम दरगाह इलाके के एक युवक को दी थी।

माना जा रहा है कि उधारी की मोटी राशि हजम करने की मंशा से किसी ने वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने इस मामले में संदिग्ध लोगों को जांच के घेरे में लिया है। सीओ दरगाह ओमप्रकाश और थाना प्रभारी मानवेंद्र सिंह मामले की तफ्तीश कर रहे हैं।


हथोड़ा और सरिया बरामद

दरगाह थाना प्रभारी मानवेंद्र सिंह और सीओ ओमप्रकाश ने घटनास्थल का मुआयना किया। मौके से एक हथोड़ा और सरिया पुलिस ने बरामद किया है। फोरेंसिक टीम ने भी फिंगर और फुट प्रिंट लिए हैं। संदिग्ध वस्तुओं को जांच के लिए कब्जे में लिया गया है। केसवानी के कमरे से गिलास भी बरामद किए गए हैं।

मृतक के गले और सिर से बहा खून
जानकारी के अनुसार लाखन कोटड़ी नाई मोहल्ला निवासी 62 वर्षीय घनश्याम केसवानी अपने पैतृक मकान की ऊपरी मंजिल पर अकेला रहता था। नीचे के कमरों में किराएदार रहते हैं। मकान के मेन गेट के अलावा केसवानी के पोर्शन का दरवाजा पीछे की ओर भी खुलता है। लिहाजा उसका आना-जाना भी पीछे के गेट से ही था। बुधवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे तक जब केसवानी का गेट नहीं खुला तो किराएदारों ने जायजा लिया। किराएदारों के अनुसार केसवानी के पोर्शन का पीछे वाला गेट खुला था। भीतर जाकर देखा गया तो केसवानी के कमरे का सामान बिखरा हुआ था और आलमारियां खुली हुई थी। उसका शव रसोई में पड़ा हुआ था। गले और सिर पर खून आलूदा चोटें थीं।


मोटी राशि उधार लेने वाले जांच के घेरे में
मृतक घनश्याम ब्याज का काम करता था, लोगों से सोने की ज्वेलरी लेकर उन्हें रकम दिया करता था। हर रोज उसके घर में उधार लेने वाले लोगों का आना जाना रहता था। खासकर उसके कई दोस्त भी उसके घर शराब कबाब की पार्टियां किया करते थे। बीती रात भी कुछ दोस्तों के साथ वह घर पर ही था। पड़ोसियों ने रात करीब 12 बजे उसे मूली काटते हुए देखा था। उस वक्त एक व्यक्ति उसके घर से गया था।

माना जा रहा है कि घनश्याम का कत्ल बुधवार सुबह उस वक्त हुआ, जब वह अपने किचन में मौजूद था। इससे पहले घनश्याम ने अपनी शेविंग भी की थी। यही वजह है कि कत्ल का समय बुधवार सुबह माना जा रहा है घनश्याम दुकानदारों को ब्याज पर रकम देता था। वहीं कई बड़े व्यापारी भी उससे ब्याज पर रकम लेते थे। सामने आया है कि कुछ ब्याजखोर भी उससे रकम लेकर दूसरों को ज्यादा ब्याज में रकम दिया करते थे। यह कत्ल भी बड़ी रकम की वजह से हुआ माना जा रहा है।

लिहाजा पुलिस का शक उन लोगों पर है जिन्होंने घनश्याम से मोटी रकम ब्याज पर ली थी। घनश्याम के साथ लेनदेन करने वाले लोगों की माने तो कुछ दिन पहले मोहिश नाम के एक शख्स को घनश्याम ने बीस लाख रुपए दिए थे। पुलिस मोहिश और संदीप नाम के दो व्यक्तियों को प्राइम सस्पेक्ट मान रही है।

Speculative businessman murder in ajmer
X
Speculative businessman murder in ajmer
Speculative businessman murder in ajmer
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..