• Home
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • दरगाह कमेटी ने निर्णय नहीं किया तो बहिष्कार
--Advertisement--

दरगाह कमेटी ने निर्णय नहीं किया तो बहिष्कार

मौरूसी के अमले के पदाधिकारियों ने फिर दोहराया है कि यदि कमेटी द्वारा दिए आश्वासन के बावजूद उनकी दाखिल खारिज...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:10 AM IST
मौरूसी के अमले के पदाधिकारियों ने फिर दोहराया है कि यदि कमेटी द्वारा दिए आश्वासन के बावजूद उनकी दाखिल खारिज संबंधी मांग को लेकर कोई निर्णय नहीं किया गया तो वे उर्स के दौरान धार्मिक रस्मों के बहिष्कार के अपने निर्णय पर कायम रहेंगे। अमले के एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को दरगाह कमेटी के अध्यक्ष शेख अलीम एवं सदस्यों को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया कि नियमों एवं कानूनी बाध्यता के बावजूद वर्तमान में कमेटी दरगाह के कुछ नौकरशाह एक सुनियोजित षड्यंत्र के माध्यम से सैकड़ों वर्षों से वंशानुगत परंपरा के तहत दरगाह में अपनी सेवाएं दे रहे मौरूसी अमले के अस्तित्व को समाप्त करने की कुचेष्टा कर रहे हैं और अमले को न्यायिक प्रक्रिया में उलझाकर पदों को समाप्त करने एवं पौराणिक परंपराओं एवं रीति रिवाजों को नष्ट करने का मानस रखते हैं। अमले के पदाधिकारियों ने मांगे नहीं मानने पर आगामी उर्स पर अमले द्वारा की जाने वाली धार्मिक रस्मों का बहिष्कार की चेतावनी से भी अवगत कराया। कमेटी अध्यक्ष शेख अलीम आदि ने दाखिल खारिज के मसले को बैठक के एजेंडे में शामिल करने का आश्वासन दिया। शिष्टमंडल में मुजफ्फर भारती, जुबेर अहमद, हाजी शब्बीर खान, मोहसिन खान आदि शामिल थे।