• Home
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • अपनों को जीतने के लिए धीरता चाहिए
--Advertisement--

अपनों को जीतने के लिए धीरता चाहिए

अजमेर| संसार में हर समस्या का समाधान है, हर रोग की औषधि है, जो धर्मात्मा पाप से डरता है उस पाप को भी नष्ट करने का...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:15 AM IST
अजमेर| संसार में हर समस्या का समाधान है, हर रोग की औषधि है, जो धर्मात्मा पाप से डरता है उस पाप को भी नष्ट करने का समाधान है लेकिन एक वस्तु संसार में है जिसको नष्ट करने का कोई उपाय नहीं है वह है ‘मृत्यु’। संसार में सबको सबसे ज्यादा भय मृत्यु से होता है। नारेली मेंं शनिवार को सुधा सागर महाराज ने धर्म सभा में कहा कि उल्लू को दिन में दिखाई नहीं देता और मनुष्य को रात में, लेकिन रागी व्यक्ति मोही व्यक्ति को ना तो दिन में दिखाई देता है ना रात में। रागी व्यक्ति अंधे से भी अंधा होता है । जब राग करना ही है तो प्रभु परमात्मा से राग करो। संसार में शूरवीर नहीं जो राग के बंधन को तोड़ दे आप कितने बड़े ही योद्धा, सुभट क्यों ना हो लेकिन दूसरों को जीतने के लिए वीरता चाहिए और अपनों को जीतने के लिए धीरता की आवश्यकता है।