अजमेर

--Advertisement--

पाप और पारा कभी पचता नहीं : सुधासागर

अजमेर । बुराई से बुराई पनपती है। अच्छी बातें किताबों में लिखने के लिए नहीं अपितु जीवन में उतारने के लिए हैं, बुराई...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:15 AM IST
अजमेर । बुराई से बुराई पनपती है। अच्छी बातें किताबों में लिखने के लिए नहीं अपितु जीवन में उतारने के लिए हैं, बुराई का विरोध मत करो बल्कि अच्छाई को प्रकट करो। पाप और पारा कभी पचता नहीं, इसी प्रकार खुद और खुदा से कुछ छुपता नहीं। जो सब कुछ देख रहा है, सब कुछ जानता है उससे तुम कुछ छिपा नहीं सकते। हम दरअसल अच्छी बात को धारण नहीं कर पाते। जब अच्छाई तिजोरी में बंद हो जाती है तब बुराई का प्रचलन होने लगता है।

ज्ञानोदय तीर्थ क्षेत्र नारेली में स्थित प्रवचन पण्डाल में रविवार को सुधा सागर जी महाराज ने धर्म सभा को सं‍बोधित करते हुए कहा कि संसार में दो प्रकार के प्राणी हैं। एक वह जो जीने के लिए खाता है और दूसरा वह जो खाने के लिए जीता है। भोजन के लिए मत जीओ, जीने के लिए खाओ तो उसमें आत्म कल्याण निहित है। एक ही मार्ग पर सच्ची लगन से गति करने पर ही धर्म का मर्म प्राप्त होता है। यदि मुक्ति मंजिल पर पहुंचना है तो धर्म के रथ पर सवार होना पड़ेगा।

प्रचार प्रसार संयोजक विनीत कुमार जैन ने बताया सोमवार सुबह 8.15 बजे से मुनि सुव्रतनाथ भगवान के अभिषेक एवं शांतिधारा, 9.30 बजे से सुधा सागर महाराज के प्रवचन, 10.30 बजे मुनि श्री की आहारचर्या, 12 बजे सामयिक व शाम 5.30 बजे महाआरती एवं जिज्ञासा समाधान का कार्यक्रम होगा।

X
Click to listen..