Hindi News »Rajasthan »Ajmer» डॉ. रघु शर्मा बने मूर्खाधिराज, आईजी मालिनी महामूर्ख

डॉ. रघु शर्मा बने मूर्खाधिराज, आईजी मालिनी महामूर्ख

हर साल की तरह जवाहर रंगमंच खचाखच भरा हुआ था। साल के इस बड़े कार्यक्रम फागुन महोत्सव का अजमेर जिले के तमाम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 07:15 AM IST

डॉ. रघु शर्मा बने मूर्खाधिराज, आईजी मालिनी महामूर्ख
हर साल की तरह जवाहर रंगमंच खचाखच भरा हुआ था। साल के इस बड़े कार्यक्रम फागुन महोत्सव का अजमेर जिले के तमाम महत्त्वपूर्ण लोगों के साथ साथ समाज के हर वर्ग को बेसब्री से इंतजार रहता है। यह कार्यक्रम अजमेर के पत्रकार, रंगकर्मी, कलाकार, राजनीतिज्ञ और विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े लोग मिलकर करते हैं। कार्यक्रम ठीक दोपहर दो बजे आरंभ कर दिया गया। कंवल प्रकाश किशनानी और कोसीनोक जैन की टीम कार्यक्रम का शुभंकर चाय पकौड़ा लेकर पहुंची। टीम ने विशिष्ट व्यक्तियों को पकौड़ा वितरित भी किया। शुभंकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल में पकौड़े को लेकर दिए गए बयान पर आधारित था।

चित्रकूट धाम के पाठकजी महाराज, प्रेम प्रकाश आश्रम देहलीगेट के महंत ओम लाल शास्त्रीजी, सांसद डॉ. रघु शर्मा, नगर निगम के मेयर धर्मेंद्र गहलोत ने अगरबत्ती लगाकर शुभंकर स्थापित किया। मंच संचालन प्रताप सनकत व नरेंद्र भारद्वाज ने किया। इसके बाद शुरु हुआ पूरे वर्ष भर की गतिविधियों, देश, प्रदेश, अजमेर जिले की प्रमुख घटनाओं, गतिविधियों पर आधारित झलकियों, नाटकों और अवार्ड्स का सिलसिला। लोगों ने जमकर इनका आनंद लिया।

हेमंत भाटी, धर्मेंश जैन, सीताराम गोयल, अनिल जैन, राजेंद्र गुंजल, बीपी सारस्वत को अवार्ड

कार्यक्रम में शहर के प्रमुख प्रतिष्ठित लोगों को फागुन अवार्ड भी दिए गए। दूसरों के दुख दर्द में हमेशा काम आने वाले समाज सेवियों को पहली बार अवार्ड में शामिल किया गया। अवार्ड का नाम रखा गया फटे में टांग। इसके नॉमिनी थे महावीर इंटरनेशनल के पदम चंद जैन, लॉयंस क्लब के अतुल पाटनी और जेएलएन अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अनिल जैन। यह अवार्ड डॉ अनिल जैन को दिया गया। पत्रकारों के लिए थोथा चना बाजे घणा अवार्ड रखा गया। इसके नोमिनी थे राजेंद्र शर्मा, राजेंद्र गुंजल, एसपी मित्तल, गिरधर तेजवानी, प्रियांक शर्मा। इस बार यह अवार्ड मिला वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र गुंजल को। आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए टिकट चाहने वाले नेताओं के लिए टपकती लार अवार्ड रखा गया। इसके नॉमिनी थे कांग्रेस के युवा नेता हेमंत भाटी, भाजपा के कंवल प्रकाश किशनानी, देहात कांग्रेस अध्यक्ष, भूपेंद्र सिंह राठौड़, शहर कांग्रेस अध्यक्ष, विजय जैन और पूर्व उप मंत्री, ललित भाटी। यह अवार्ड हेमंत भाटी को दिया गया। ये बेचारे जीएसटी के मारे अवार्ड प्रमुख व्यवसायी सीताराम गोयल को दिया गया। इसके नॉमिनी थे सीताराम गोयल, दीपक हासानी, गुलाब मोतियानी और सीए अजीत अग्रवाल। लटकता खंजर अवार्ड दिया गया भाजपा के देहात अध्यक्ष प्रो. बीपी सारस्वत को। इसके नॉमिनी थे भाजपा के देहात अध्यक्ष प्रो. बीपी सारस्वत, आरएएस अधिकारी सुरेश सिंधी, भाजपा के शहर अध्यक्ष अरविंद यादव और आरएएस भगवत सिंह राठौड़। नायाब नमूने अवार्ड दिया गया यूआईटी के पूर्व सदर भाजपा नेता धर्मेश जैन को। इसके नॉमिनी थे पूर्व सांसा रासासिंह रावत, धर्मेश जैन, शहर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष महेंद्र सिंह रलावता और वरिष्ठ पत्रकार अरविंद गर्ग।

सेंट्रल गर्ल्स की छात्राओं का मनमोहक फाग नृत्य

सेंट्रल गर्ल्स सीनियर सेकंडरी स्कूल की छात्राओं ने फाग नृत्य पेश किया। नृत्य निर्देशन किया था शशि गुप्ता और सुमन लता शर्मा ने और साक्षी, संगीता, ज्योति, चंचल, दिव्या, विनीता, जयश्री, दया, प्राची, फरीन, तमन्ना, मुस्कान, हर्षिता, अनुभूति, लीना और लिपिका की टीम ने बेहतरीन नृत्य पेश किया।

झलकियों ने लोट-पोट कर दिया

अजमेर लोकसभा चुनाव में पहली बार इस्तेमाल की गई वीवीपैट मशीन को लेकर नाटक प्रधानमंत्री पकौड़ा रोजगार योजना ने जहां लोगों को गुदगुदाया वहीं सरकारी शौचालय उर्फ शौच ने हंसा हंसा कर लौट पोट कर दिया। रोजगार योजना नाटक लिखा निरंजन कुमार ने और निर्देशन किया यौबी जॉर्ज ने। सरकारी शौचालय नाटक लिखा डॉ. हरीश बेरी ने और निर्देशन किया यौबी जॉर्ज ने। अलताफ, योबी जॉर्ज और उनकी टीम की बेहतरीन अदाकारी ने रंगमंच में कला की उत्कृष्ट झलक दिखाई। जुम्मा खान और अलताफ के मुख्य किरदार वाली झलकी विकास का जापा ने हंसा हंसा कर लोगों का पेट दुखा दिया। इसके लेखक निरंजन कुमार और निर्देशन किया था यौबी जॉर्ज ने। वरिष्ठ रंगकर्मी लाखनसिंह द्वारा निर्देशित और दीक्षासिंह, विकल्प सिंह द्वारा अभिनीत झलकी फागुन की फिरौती ने भी पति प|ी के संबंधों पर तीखा व्यंग्य किया। विष्णु अवतार भार्गव द्वारा लिखित और अलताफ द्वारा निर्देशित खूबसूरत बहू और रजनीश रोहिल्ला द्वारा लिखित और यौबी जॉर्ज द्वारा निर्देशित माल्या मोदी मिलन झलकियों ने भी खूब गुदगुदाया। झलकियों में मनोज सोनी, विष्णु अवतार भार्गव, सुधीर, महेश, दीक्षा सिंह, सुधीर सोनी, एके शर्मा, अमित भारद्वाज, अजय आदि कलाकारों ने उत्कृष्ट अभिनय किया। अनंत भटनागर और माधवी स्टीफन द्वारा चुटीले फागुन समाचार पेश किए गए। कार्यक्रम की खास पेशकश डॉ. रमेश अग्रवाल द्वारा लिखित कव्वाली-बना झोंपड़ी, इसको किला बताना है, तारागढ़ फिर नाम यहां लिखाना है रही। प्रतापसिंह सनकत, जीएस विर्दी, हेमंत शर्मा, डॉ. अतुल दुबे, फरहाद सागर, अकलेश जैन और साथियों ने व्यवस्थाओं को लेकर बेहतरीन अंदाज में यह कव्वाली प्रस्तुत की। कार्यक्रम के आरंभ में वरिष्ठ पत्रकार एसपी मित्तल ने सभी का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि यह कार्यक्रम नगर निगम, अजमेर विकास प्राधिकरण और अजमेर डेयरी के सहयोग से आयोजित किया जाता है। समाज सेवी जगदीश वच्छानी, युवा कारोबारी जीतेंद्र रंगवानी का भी सहयोग रहा। गीत संगीत के लिए हेमंत शर्मा, सुनील गौड़, श्रीनारायण और उनकी टीम ने सहयोग दिया। कार्यक्रम में ईनामी ड्रा भी निकाला गया। प्रथम पुरस्कार साइकिल एमपी साइकिल के ललित नागरानी द्वारा उपलब्ध करवाई गई जबकि अन्य दस पुरस्कार कुवेरा कलेक्शन के आरडी कुवेरा की ओर से दिए गए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ajmer News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: डॉ. रघु शर्मा बने मूर्खाधिराज, आईजी मालिनी महामूर्ख
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ajmer

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×