• Hindi News
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • विद्यार्थी भूल कर भी नहीं करें ऐसी गलतियां
--Advertisement--

विद्यार्थी भूल कर भी नहीं करें ऐसी गलतियां

Ajmer News - केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की दसवीं आैर बारहवीं की परीक्षाएं 5 मार्च यानी सोमवार से प्रारंभ होने जा रही है।...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 07:15 AM IST
विद्यार्थी भूल कर भी नहीं करें ऐसी गलतियां
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की दसवीं आैर बारहवीं की परीक्षाएं 5 मार्च यानी सोमवार से प्रारंभ होने जा रही है। बहुत से विद्यार्थी इस आखिरी दिन में अपनी परीक्षा की तैयारी को अंतिम रूप देने में तनाव में नजर आते हैं।

भास्कर ने मनोविज्ञान विशेषज्ञों से बातचीत कर विद्यार्थियों के लिए ऐसे टिप्स जानें, जिन्हें अपनाकर वे एग्जाम प्रेशर को ही नहीं बल्कि परीक्षा के समय होने वाले किसी भी तरह के तनाव को दूर भगा सकते हैं। अभिभावकों को भी इन दिनों बच्चों पर खास ध्यान देना होगा।

एक दिन बाद बोर्ड की परीक्षा शुरू होने जा रही है। विद्यार्थी घबराएं बिल्कुल भी नहीं।

12वीं व 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं 5 मार्च से, अभिभावकों को भी इन दिनों बच्चों पर खास ध्यान देना होगा

भास्कर एक्सपर्ट पैनल

भास्कर एक्सपर्ट पैनल में जेएलएन अस्पताल के मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. महेंद्र जैन, डॉ. पार्थ सिंह आैर डॉ. चरण सिंह बता रहे हैं परीक्षा के समय कैसे बचें तनाव से, अनावश्यक कुछ ऐसा नहीं करें जो तनाव का कारण बनें। विद्यार्थी आसानी से तनाव को दूर कर सकते हैं। यहां यह टिप्स विद्यार्थियों के लिए कारगर साबित होंगे।

पूरी नींद लें, तभी रहेगा माइंड फ्रेश |विद्यार्थी एग्जाम प्रेशर में आखिरी समय में दिन-रात पढ़ाई करने में जुटे रहते हैं। इसके चक्‍कर में वे जरूरत भर नींद भी नहीं लेते हैं, जबकि‍ माइंड को फ्रेश रखने के लिए नींद लेना बहुत जरूरी होता है। इससे परीक्षा के समय आप एक्टिव रहेंगे।

खुद पर रखें भरोसा, एग्जाम फोबिया से बचें|एग्जाम से पहले बहुत से विद्यार्थी एग्जाम फोबिया हो जाता है। वे ये सब सोचकर नर्वस हो जाते है कि ‍पता नहीं उनका पेपर कैसा होगा या फिर रिजल्ट क्या होगा। ये सब सोचना गलत होता है। इसकी जगह पर उन्हें खुद पर भरोसा रखना चाहिए कि वे अच्छा ही करेंगे।

रिवीजन जरूरी, परीक्षा के अंतिम समय में जरूर करें| विद्यार्थी एग्जाम से एक दो द‍िन पहले हर वो चीज भी पढ़ने की कोशिश करते हैं, जो साल भर नहीं पढ़ पाते हैं। ऐसा करने वे कई बार पढ़ी हुई चीजों से भटक जाते हैं। इस समय स्टूडेंट को पढ़ी गईं चीजों को दोहराना यानी कि रिवीजन करना जरूरी होता है।

एनसीईआरटी की किताबों पर करें फोकस| एग्जाम शुरू होने से पहले विद्यार्थी बाजार में मौजूद अलग-अलग गाइड और किताबों से पढ़ते हैं। उन्हें लगता है कि इससे वह काफी अलग चीजें दिमाग में रख लेंगे, जबकि‍ ऐसा करना रिस्की होता है। स्टूडेंट को एनसीईआरटी की किताबों पर ही फोकस करना चाहिए।

डॉ. महेंद्र जैन डॉ. पार्थ सिंह डॉ. चरण सिंह

दोस्तों से बातचीत जरूर करें, ताकि नहीं रहे एग्जाम प्रेशर| : बोर्ड एग्जाम के प्रेशर में कई विद्यार्थी पढ़ने के लिए अक्सर लंबे समय तक एकांत में बैठे रहते हैं। वे कि‍सी से बात नहीं करते हैं। ऐसे स्टूडेंट को एग्जाम से एक दो दिन पहले लोगों से बातचीत करना चाहिए । इससे उनमें एग्जाम का प्रेशर काफी कम होगा और पेपर भी अच्छे होंगे।

नर्वसनैस की कोई जरूरत नहीं | विद्यार्थियों को नर्वस महसूस करने जरूरत नहीं है। अपने सब्जेक्ट का रिवीजन करते रहें। जब आप पढ़ने बैठ रहे हों, तो किसी और चीज का ख्याल न करें। सिर्फ पढ़ाई पर फोकस रखें।

अभिभावक ध्यान दें




सीबीएसई हैल्पलाइन से भी लें सकते हैं टिप्स: सीबीएसई द्वारा भी विद्यार्थियों के इस अनावश्यक तनाव को दूर करने के लिए हैल्पलाइन शुरू की है, अजमेर रीजन के सैकडों विद्यार्थी यहां संपर्क कर टिप्स ले रहे हैं। सीबीएसई की इस हेल्पलाइन का नंबर 1800-11-8004 है, जिसपर 13 अप्रैल तक सुबह 8 से रात 10 बजे तक कॉल कर सकते हैं। विद्यार्थी परीक्षा तिथी से जुड़ी हर जानकारी बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in और cbseacademic.in पर देख सकते हैं।

X
विद्यार्थी भूल कर भी नहीं करें ऐसी गलतियां
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..