Hindi News »Rajasthan »Ajmer» Investigation Of Stalking Assassination Of Callers

रिश्तेदारों की कॉल डिटेल पर अटकी हत्याकांड की जांच

उमा पांडे की हत्या के मामले में पुलिस परिवार के रिश्तेदारों की डिटेल निकालने में जुट गई है।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 25, 2017, 09:00 AM IST

रिश्तेदारों की कॉल डिटेल पर अटकी हत्याकांड की जांच

मदनगंज-किशनगढ़. मित्रनिवास कॉलोनी क्षेत्र में बुधवार को दिनदहाड़े घर में घुसकर उमा पांडे की हत्या के मामले में पुलिस परिवार के रिश्तेदारों की डिटेल निकालने में जुट गई है। मृतका के पति एसएन पांडे का किन-किन से संपर्क था। पैसे का लेन-देन सहित अन्य सुराग जुटाने में पुलिस जुटी हुई है। पुलिस दो दिन में हत्याकांड की गुत्थी खोल सकती है। पुलिस आस पड़ौस के लोगों से पूछताछ में जुटी है। शुक्रवार को मृतका के शव का अंतिम संस्कार कराया गया। जानकारी के अनुसार उमा पांडे हत्याकांड के बाद पुलिस लगातार उनके मकान की तलाशी में जुटी है। इसके साथ ही एफएसएल टीम की रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। पुलिस घटना के बाद अब तक इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि हत्यारा मृतका का कोई खास परिचित ही है।

गेगल थाने के पास हुई थी मिर्ची झोंकने की घटना
पुलिसके अनुसार 22 नवंबर को दिन में उमा की हत्या हुई थी। उस वक्त पुलिस को मकान में लाल मिर्च बिखरी हुई मिली। जिससे ये लगे कि लुटेरों ने उमा की आंखों में मिर्ची डालकर हत्या की और नकदी लूटकर ले गए। घटना के ठीक एक दिन पहले अजमेर के लोहे व्यापारी की आंखों में गेगल थाने के पास दो बाइक सवार युवकों ने आंखों में लाल मिर्ची डालकर पैसों से भरा बैग चुरा लिया था। अगले दिन मीडिया में खबरें प्रकाशित हुई। पुलिस को शक है कि यहीं से हत्यारों ने लाल मिर्च का षड्यंत्र रचा ताकि वारदात किसी बाहरी लुटेरों की प्रतीत हो। अपराधी लाल मिर्च का उपयोग आंखों में मिर्च डालकर तुरंत भागने के लिए करते हैं।


मृतका का कराया अंतिम संस्कार
शुक्रवारको मृतका उमा पांडे का शव को परिजनों ने अंतिम संस्कार करवा दिया। गुरुवार को पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव सौंप दिया था लेकिन परिजनों में कईं सदस्यों के आने में देरी होने के कारण शव का अंतिम संस्कार नहीं कराया गया था। शुक्रवार को शव का अंतिम संस्कार कराया। उमा हत्याकांड की पूरे शहर में चर्चा है। हर कोई हत्यारों के बारे में जानना चाहता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ajmer News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: rishtedaaron ki kol ditel par atki Hatyakand ki jaanch
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ajmer

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×