--Advertisement--

रिश्तेदारों की कॉल डिटेल पर अटकी हत्याकांड की जांच

उमा पांडे की हत्या के मामले में पुलिस परिवार के रिश्तेदारों की डिटेल निकालने में जुट गई है।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 09:00 AM IST

मदनगंज-किशनगढ़. मित्रनिवास कॉलोनी क्षेत्र में बुधवार को दिनदहाड़े घर में घुसकर उमा पांडे की हत्या के मामले में पुलिस परिवार के रिश्तेदारों की डिटेल निकालने में जुट गई है। मृतका के पति एसएन पांडे का किन-किन से संपर्क था। पैसे का लेन-देन सहित अन्य सुराग जुटाने में पुलिस जुटी हुई है। पुलिस दो दिन में हत्याकांड की गुत्थी खोल सकती है। पुलिस आस पड़ौस के लोगों से पूछताछ में जुटी है। शुक्रवार को मृतका के शव का अंतिम संस्कार कराया गया। जानकारी के अनुसार उमा पांडे हत्याकांड के बाद पुलिस लगातार उनके मकान की तलाशी में जुटी है। इसके साथ ही एफएसएल टीम की रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। पुलिस घटना के बाद अब तक इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि हत्यारा मृतका का कोई खास परिचित ही है।

गेगल थाने के पास हुई थी मिर्ची झोंकने की घटना
पुलिसके अनुसार 22 नवंबर को दिन में उमा की हत्या हुई थी। उस वक्त पुलिस को मकान में लाल मिर्च बिखरी हुई मिली। जिससे ये लगे कि लुटेरों ने उमा की आंखों में मिर्ची डालकर हत्या की और नकदी लूटकर ले गए। घटना के ठीक एक दिन पहले अजमेर के लोहे व्यापारी की आंखों में गेगल थाने के पास दो बाइक सवार युवकों ने आंखों में लाल मिर्ची डालकर पैसों से भरा बैग चुरा लिया था। अगले दिन मीडिया में खबरें प्रकाशित हुई। पुलिस को शक है कि यहीं से हत्यारों ने लाल मिर्च का षड्यंत्र रचा ताकि वारदात किसी बाहरी लुटेरों की प्रतीत हो। अपराधी लाल मिर्च का उपयोग आंखों में मिर्च डालकर तुरंत भागने के लिए करते हैं।


मृतका का कराया अंतिम संस्कार
शुक्रवारको मृतका उमा पांडे का शव को परिजनों ने अंतिम संस्कार करवा दिया। गुरुवार को पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव सौंप दिया था लेकिन परिजनों में कईं सदस्यों के आने में देरी होने के कारण शव का अंतिम संस्कार नहीं कराया गया था। शुक्रवार को शव का अंतिम संस्कार कराया। उमा हत्याकांड की पूरे शहर में चर्चा है। हर कोई हत्यारों के बारे में जानना चाहता है।