--Advertisement--

घर में अकेली महिला को बताया निशाना, ऐसे दिया लूट की वारदात को अंजाम

पुलिस ने 4 दिन पहले दिनदहाड़े घर में घुसकर महिला की हत्या करने के मामले का खुलासा कर दिया है।

Dainik Bhaskar

Nov 27, 2017, 01:40 AM IST
लुटेरों ने महिला की आंखों में मिर्ची डालकर और उसके बाद घसीटकर दूसरे कमरे में ले जाकर दुपट्‌टे से गला घोंट दिया। लुटेरों ने महिला की आंखों में मिर्ची डालकर और उसके बाद घसीटकर दूसरे कमरे में ले जाकर दुपट्‌टे से गला घोंट दिया।

अजमेर/किशनगढ़. पुलिस ने 4 दिन पहले दिनदहाड़े घर में घुसकर महिला की हत्या करने के मामले का खुलासा कर दिया है। कत्ल और लूट के दो आरोपी चंडीगढ़ में पकड़े गए हैं। दोनों आरोपियों ने वारदात कबूल की है। इनके पास से लूटी गई राशि करीब 7 लाख 22 हजार रुपए , 20 तोला सोने-चांदी के जेवरात और वारदात में प्रयुक्त मिर्च पाउडर और रस्सी मिली है। आरोपी सीकर और किशनगढ़ के निवासी है।


- जानकारी के मुताबिक, किशनगढ़ की मित्र निवास कॉलोनी में रहने वाले आर्किटेक्चर एसएन पांडे 22 नवंबर को दोपहर 3 बजे अजमेर गए थे। घर में उनकी पत्नी उमा पांडे (52) अकेली थी।

- शाम 6.15 बजे पांडे घर लौटे तो उन्हें गेट के पास जमीन पर लाल मिर्ची बिखरी मिली। गैलरी के पास खून के निशान और घसीटने के निशान मिले। भीतर जाने पर पांडे को उनकी पत्नी का शव का कमरे में पड़ा मिला।

- मृतका के घर से करीब दस लाख रुपए और सोने-चांदी के जेवर गायब थे।

रैकी करने के बाद वारदात

- पुलिस के मुताबिक, चंडीगढ़ में आरोपी किशनगढ़ निवासी सुनील और सीकर निवासी धर्मपाल पकड़े गए हैं। दोनों मनाली में फरारी काटने जा रहे थे, लेकिन वहां पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

- इनकी तलाशी में सवा 7 लाख रुपए और बीस तोला सोने व चांदी के जेवर मिले। इससे चंडीगढ़ पुलिस का शक इन पर गहरा हो गया। पूछताछ में आरोपियों ने हत्या और लूट की वारदात कबूल कर ली।

- अजमेर से पुलिस दल आरोपियों को लेने के लिए चंडीगढ़ भेजा गया है। वारदात में किशनगढ़ का भी एक युवक शामिल है। उसकी पहचान कर ली गई है। उसकी तलाश की जा रही है।

- तफ्तीश में सामने आया है कि आरोपियों ने रैकी करने के बाद वारदात को अंजाम दिया था। घर में सिर्फ एसएन पांडे और उनकी पत्नी उमा रहती थी। लुटेरों ने इसका फायदा उठाकर वारदात को अंजाम दिया।

- लुटेरों ने महिला से जैसे-तैसे दरवाजा खुलवाया। भीतर घुसते ही लुटेरों ने महिला की आंखों में मिर्ची डाल दी। इसके बाद लुटेरे महिला को पकड़कर भीतर ले गए। वहां जमीन पर गिराकर महिला का सिर जमीन से पटका। लुटेरे महिला को घसीटकर कमरे में ले गए और दुपट्टे से गले में फंदा लगाकर गला घोंट दिया। इसके बाद मकान की पहली मंजिल पर जाकर नकदी व जेवरात लूटकर ले गए।

ड्राइवर की निशानदेही पर हत्थे चढ़े

- उमा हत्याकांड के हत्यारे आरोपी ड्राइवर की निशानदेही पर पकड़े गए। मदनगंज पुलिस ने ड्राइवर के मोबाइल से आरोपियों से संपर्क साध रखा था लेकिन आरोपियों को भनक तक नहीं लगी।

- एसपी राजेंद्र सिंह ने अारोपियों के पकड़े जाने पर पुलिस टीम को चंडीगढ़ रवाना कर दिया। टीम चंडीगढ़ पहुंच गई। आरोपियों को सोमवार को मदनगंज थाने लाकर गिरफ्तार किया जाएगा।

- मदनगंज थाना पुलिस ने रविवार को एसएन पांडे के ड्राइवर को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। इस दौरान ड्राइवर ने पुलिस को अलग-अलग बयान दिए।

- इस पर डीएसपी अाेमप्रकाश किलानिया ने सख्ती से पूछताछ की तो ड्राइवर ने सच कबूल लिया। ड्राइवर ने दोनों हत्यारों के चंडीगढ़ क्षेत्र में पहुंचने की इत्तला पुलिस को दी। मदनगंज पुलिस लगातार ड्राइवर के जरिए फोन पर दोनों हत्यारों से संपर्क बनाए हुए थी। इसी आधार पर जिला पुलिस ने चंडीगढ़ पुलिस को इत्तला कर दोनों आरोपी को पकड़ने में सफलता हासिल की। आरोपियों को चंडीगढ़ में एक होटल से दबोच लिया गया।

आगे की स्लाइड्स में देखें खबर से जुड़ीं फोटोज...

हत्या के बाद महिला के कान के झुमके, पैरों की चांदी की पायजेब भी मिल गई। हत्या के बाद महिला के कान के झुमके, पैरों की चांदी की पायजेब भी मिल गई।
मामले की तफ्तीश करती पुलिस। मामले की तफ्तीश करती पुलिस।
चौंकाने वाली बात ये है कि पूरी घटना की भनक आसपास में किसी को नहीं चली। चौंकाने वाली बात ये है कि पूरी घटना की भनक आसपास में किसी को नहीं चली।
पुलिस को हत्या में इस्तेमाल दास्ताने मिल गए है। पुलिस को हत्या में इस्तेमाल दास्ताने मिल गए है।
इस हाल में मिला घर का सामान। इस हाल में मिला घर का सामान।
जमीन पर मिर्ची बिखरी हुई है। जमीन पर मिर्ची बिखरी हुई है।
बताया जाता है कि महिला हमेशा घर पर अकेली रहती थी। लाल घेरे में फर्श पर फैला खून। बताया जाता है कि महिला हमेशा घर पर अकेली रहती थी। लाल घेरे में फर्श पर फैला खून।
घटना के बाद घर के बाहर जमा लोगों की भीड़। घटना के बाद घर के बाहर जमा लोगों की भीड़।
इसी घर में रहता था पांडे परिवार और यहीें वारदात को अंजाम दिया गया। इसी घर में रहता था पांडे परिवार और यहीें वारदात को अंजाम दिया गया।
X
लुटेरों ने महिला की आंखों में मिर्ची डालकर और उसके बाद घसीटकर दूसरे कमरे में ले जाकर दुपट्‌टे से गला घोंट दिया।लुटेरों ने महिला की आंखों में मिर्ची डालकर और उसके बाद घसीटकर दूसरे कमरे में ले जाकर दुपट्‌टे से गला घोंट दिया।
हत्या के बाद महिला के कान के झुमके, पैरों की चांदी की पायजेब भी मिल गई।हत्या के बाद महिला के कान के झुमके, पैरों की चांदी की पायजेब भी मिल गई।
मामले की तफ्तीश करती पुलिस।मामले की तफ्तीश करती पुलिस।
चौंकाने वाली बात ये है कि पूरी घटना की भनक आसपास में किसी को नहीं चली।चौंकाने वाली बात ये है कि पूरी घटना की भनक आसपास में किसी को नहीं चली।
पुलिस को हत्या में इस्तेमाल दास्ताने मिल गए है।पुलिस को हत्या में इस्तेमाल दास्ताने मिल गए है।
इस हाल में मिला घर का सामान।इस हाल में मिला घर का सामान।
जमीन पर मिर्ची बिखरी हुई है।जमीन पर मिर्ची बिखरी हुई है।
बताया जाता है कि महिला हमेशा घर पर अकेली रहती थी। लाल घेरे में फर्श पर फैला खून।बताया जाता है कि महिला हमेशा घर पर अकेली रहती थी। लाल घेरे में फर्श पर फैला खून।
घटना के बाद घर के बाहर जमा लोगों की भीड़।घटना के बाद घर के बाहर जमा लोगों की भीड़।
इसी घर में रहता था पांडे परिवार और यहीें वारदात को अंजाम दिया गया।इसी घर में रहता था पांडे परिवार और यहीें वारदात को अंजाम दिया गया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..