पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सांस्कृतिक कार्यशाला में सीखा नृत्य, संगीत और मेहंदी-मांडणा रचाना

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कथक नृत्यांगना दृष्टि रॉय और लोक कला संस्थान निदेशक सेठी ने किया उद्‌घाटन

सिटी रिपोर्टर | अजमेर

संस्कृति मंत्रालय एवं विद्या भारती द्वारा पुष्कर मार्ग स्थित आदर्श विद्या निकेतन में दो दिवसीय सांस्कृतिक कार्यशाला का शुभारंभ प्रसिद्ध कथक नृत्यांगना दृष्टि रॉय तथा लोक कला संस्थान के निदेशक संजय सेठी ने किया। संयोजक एवं विद्यालय प्रधानाचार्य भूपेन्द्र उबाना ने कार्यशाला की रूपरेखा प्रस्तुत की। समिति सदस्य रागिनी वर्मा द्वारा अतिथियों का स्वागत किया गया। कार्यशाला में 7 विद्यालयों के 350 विद्यार्थी नृत्य, संगीत, मेहंदी, कैलिग्राफी, चित्रकला, मांडणा आदि का प्रशिक्षण दिया गया।

मुख्य अतिथि दृष्टि रॉय ने कहा कि कोई भी कला सिद्ध करने के लिए दिखावा या आकर्षण नहीं बल्कि समर्पण और साधना की आवश्यकता होती है। जिला प्रतिनिधि प्रमोद शर्मा ने कहा कि विद्याभारती के द्वारा विगत 2 वर्षों से सांस्कृतिक कलाओं के संवर्धन और संरक्षण की दृष्टि से कार्यशालाओं का आयोजन किया है जिसके तहत विगत वर्षों में देशभर के 450 जिलों में 4000 कार्यशालाएं हुई। कार्यशाला का समापन शुक्रवार दोपहर होगा।

खबरें और भी हैं...