पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

देवनानी-रलावता में शिकायत ‘वॉर’ तेज

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस-भाजपा के बीच चुनाव आचार संहिता को लेकर एक दूसरे की शिकायतों का दौर अब तेज हो गया है। भाजपा प्रत्याशी वासुदेव देवनानी ने जहां कांग्रेस प्रत्याशी के भाई और एक शिक्षक नेता की शिकायत की है, वहीं कांग्रेस प्रत्याशी ने देवनानी पर आरोप लगाए हैं।

कांग्रेस प्रत्याशी महेन्द्र सिंह रलावता के निर्वाचन अभिकर्ता विवेक पाराशर ने अजमेर उत्तर के रिटर्निंग अधिकारी अशोक नाथ योगी को शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी पर आचार संहिता उल्लंघन के आरोप लगाते हुए अलग-अलग मामलों में 13 शिकायतें दर्ज कराईं। सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करते हुए सरकारी कर्मचारियों को चुनाव में इस्तेमाल करने, रातोंरात घटिया सामग्री से सड़कों का नियम विरुद्ध निर्माण करने, पेयजल की पाइप लाइनें डलवाने, भूमिगत बिजली की केबल डलवाने, अधिकारियों को सरकारी शिलालेखों को नहीं ढंकने देने सहित 13 अलग-अलग शिकायतें दर्ज करवाई गई हैं।

वासुदेव देवनानी के निर्वाचन अभिकर्ता जय प्रकाश शर्मा ने कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्रसिंह रलावता के भाई गजेंद्र सिंह रलावता और एक शिक्षक नेता उमेश शर्मा के खिलाफ शिकायत की है। आरओ विधानसभा क्षेत्र अजमेर उत्तर ने 30 दिसंबर सुबह 10 बजे तक नगर पालिका केकड़ी के अधिशासी अभियंता गजेंद्र सिंह रलावता और राजकीय उमा विद्यालय हुड़िया तहसील मकराना के प्रधानाचार्य उमेश शर्मा से स्पष्टीकरण मांगा है। निर्वाचन अभिकर्ता जय प्रकाश शर्मा ने आरोप लगाया कि गजेंद्र सिंह रलावता बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति के अपने कार्य स्थल को छोड़कर कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र सिंह रलावता का निर्वाचन संबंधी कार्य देख रहे हैं। वहीं राजकीय उमा विद्यालय हुड़िया तहसील मकराना के प्रधानाचार्य उमेश शर्मा बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति के अपने कार्य स्थल को छोड़कर कांग्रेस पार्टी की आईटी सेल की बैठक ले रहे हैं।

विधानसभा चुनावों की आदर्श आचार संहिता के बीच वैशाली नगर में बनवाई गई सड़क के मामले में नगर निगम प्रशासन की ओर से जारी नोटिस का अभी कुछ इंजीनियर ने जवाब नहीं दिया है। इस कारण निगम ने अपनी ओर से कोई कार्रवाई नहीं की है। विधानसभा चुनावों में अधिकतर कर्मचारियों की डयूटी लगी होने के कारण निगम भी इस मामले में विशेष चिंतित नहीं है। चुनावों के बाद ही इस मामले में किसी के खिलाफ कार्रवाई या स्पष्टीकरण जैसा नोटिस जारी किया जाएगा।

जवाब का इंतजार
वैशाली नगर में गत दिनों डामर की सड़क बन जाने की शिकायत जिला कलेक्टर को मिलने के बाद दो इंजीनियर को एपीओ किया जा चुका है, एक को नोटिस जारी हो चुका है। जबकि ठेकेदार ब्लेक लिस्टेड होने के साथ ही भुगतान पर भी रोक लग गई है। इस मामले में इंजीनियरों ने अब तक जवाब नहीं दिया है।

रलावता ने की देवनानी के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की 13 शिकायतें

वासुदेव देवनानी ने भाई गजेंद्रसिंह और शिक्षक नेता उमेश शर्मा को घेरा
खबरें और भी हैं...