• Hindi News
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • fake international call center racket busted, duped thousands of australians, three arrested from bihar maharashtra and punjab

सावधान... छोटी भूल, बड़ा खामियाजा, गौर से देखिए... और पहचानिए इन शातिर ठगों को, OTP बताने को कहते हैं, जैसे ही बताया-खाते से पैसा हो जाता था ट्रांसफर, रोजाना सौ से ज्यादा लोग फंसते थे अपने जाल में / सावधान... छोटी भूल, बड़ा खामियाजा, गौर से देखिए... और पहचानिए इन शातिर ठगों को, OTP बताने को कहते हैं, जैसे ही बताया-खाते से पैसा हो जाता था ट्रांसफर, रोजाना सौ से ज्यादा लोग फंसते थे अपने जाल में

ऑनलाइन ठगी का इंटरनेशनल नेटवर्क चलाने वाले 3 शातिरों ने उगले कई राज

Bhaskar News

Nov 11, 2018, 09:42 AM IST
fake international call center racket busted, duped thousands of australians, three arrested from bihar maharashtra and punjab

अजमेर। फर्जी अंतरराष्ट्रीय कॉल सेंटर के माध्यम से कई देशों के नागरिकों का डाटा चोरी कर उनसे करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले गिरोह के नेटवर्क से जुड़े तीन और शातिरों को पुलिस टीमों ने बिहार, महाराष्ट्र और पंजाब से गिरफ्तार आरोपियों ने बयान में कई चौंकाने वाले तथ्य उजागर किए हैं। आरोपियों ने खुलासा किया है कि वे ज्यादातर आस्ट्रेलिया के लोगों को शिकार बनाते रहे हैं। आस्ट्रेलियन नागरिकों के डाटा हासिल करने के बाद एक साथ ढाई हजार लोगों को यह मैसेज भेजते थे कि उनका इनकम टैक्स बकाया है, अगर कानूनी कार्रवाई से बचना चाहते हो तो दिए गए नंबरों पर संपर्क करें, अन्यथा गिरफ्तारी होगी।

रोजाना सौ से ज्यादा लोग फंसते थे

इस धमकी भरे मैसेज के जाल में रोजाना सौ से ज्यादा लोग फंसते थे और गिरोह के नंबरों पर संपर्क करते थे, तब गिरोह द्वारा संचालित अवैध कॉल सेंटरों पर बैठे शातिर सदस्य इन लोगों से उन्हीं की भाषा में बात करते और उन्हें कार्रवाई से बचाने का झांसा देकर विश्वास में लेकर बतौर रिश्वत के तौर पर राशि की मांग करते थे और आस्ट्रेलिया के ही बैंक के एक खाते में रुपए जमा करवाते थे, जिसे ऑनलाइन बैंकिंग सिस्टम से तुरंत निकाल लिया जाता था। पुलिस आरोपियों से रिमांड के दौरान गहनता से पूछताछ कर रही है। जांच अधिकारी गोमाराम के अनुसार आईजी बीजू जॉर्ज जोसफ और एसपी राजेश सिंह के निर्देश पर गठित पुलिस टीमों ने गिरोह के नेटवर्क में शामिल तीन लोगों को हिरासत में लिया है। इसमें पूर्व में गिरफ्तार गिरोह के मास्टरमाइंड बिहार समस्ती पुर निवासी राहुल राज का सगा भाई राज वर्मा भी पुलिस गिरफ्त में फंसा है।

अब तक ये हो चुके गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि पूर्व में पुलिस टीम ने हरिभाऊ उपाध्याय नगर में किराए के मकान में संचालित कॉल सेंटर पर दबिश देकर गिरोह के मास्टरमाइंड बिहार समस्ती पुर निवासी राहुल राज वर्मा पुत्र शेखर वर्मा, अहमदाबाद निवासी नईमुद्दीन कुरैशी पुत्र निसार अहमद, अजमेर जवाहर नगर निवासी तेजदीप सिंह पुत्र राजेंद्र, धोला भाटा निवासी केतन कुमार पुत्र मंगल सिंह और खारी कुई निवासी रोहित कुमार जयनानी पुत्र श्याम कुमार को गिरफ्तार किया था।


आेटीपी बताने को कहते हैं, जैसे ही बताया-खाते से पैसा ट्रांसफर

फोन पर कहा जाता है कि मैं दूरदराज हूं, बच्चा आ रहा है उसे पसंद का मोबाइल फोन दे देना। पेमेंट में पेटीएम से कर रहा हूं। कुछ ही देर में मोबाइल पर एक वन टाइम पासवर्ड (आेटीपी) आते है, फोन करने वाला व्यक्ति उक्त आेटीपी बताने को कहता है।

गौर से देखिए... और पहचानिए इन शातिर ठगों को

1. केसरगंज चौकी प्रभारी राजाराम के नेतृत्व में पुलिस टीम ने समस्ती पुर बिहार में राज वर्मा काे पकड़ा। राज ठगी की राशि अपने बैंक खाते में जमा करवा कर लेनदेन करता था।
2. पंजाब के जालंधर में पुलिस टीम ने इकबाल सिंह पुत्र बलविंदर सिंह को गिरफ्तार किया। इकबाल सिंह गिरोह के लिए विदेशी नागरिकों के डाटा कलेक्ट कर मुहैया करवाता था।
3. मुंबई के शीश महल इलाके से लक्ष्मण सिंह राऊत को दबोचा। वह खतौना जमोई इस्ट बिहार का है। कनाडा व आस्ट्रेलियन नागरिकों का डाटा कलेक्ट करता था।

X
fake international call center racket busted, duped thousands of australians, three arrested from bihar maharashtra and punjab
COMMENT