• Home
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • प्राइवेट शिक्षकों से अनुभव प्रमाण न मांगा जाए
--Advertisement--

प्राइवेट शिक्षकों से अनुभव प्रमाण न मांगा जाए

राजस्थान प्राइवेट एज्यूकेशन महासंघ के अध्यक्ष कैलाश चन्द शर्मा ने बताया कि आरपीएससी द्वारा फस्ट ग्रेड परीक्षा...

Danik Bhaskar | May 01, 2018, 03:10 AM IST
राजस्थान प्राइवेट एज्यूकेशन महासंघ के अध्यक्ष कैलाश चन्द शर्मा ने बताया कि आरपीएससी द्वारा फस्ट ग्रेड परीक्षा के लिए सरकारी और निजी विद्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों के लिए कम से कम 5 वर्ष का अनुभव मांगा गया है।

शिक्षा विभाग के अधिकारी निजी विद्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों का अनुभव प्रमाण पत्र जारी नहीं कर रहे हैं। जबकि प्रदेश में कई बेरोजगार निजी विद्यालयों मे कार्यरत है। क्योंकि जब सरकार फस्ट ग्रेड मे परीक्षा आयोजित करेगी एवं मेरिट बनाएगी तो अनुभव की कहां आवश्यकता है।

प्रदेश के कई बेरोजगारों को इसका लाभ मिल सके। लेकिन शिक्षा विभाग सरकार के नियमों की अवहेलना कर रहा है एवं निजी विद्यालयों मे कार्यरत कर्मचारियों को अनुभव प्रमाण पत्र के लिए परेशान किया जा रहा है। यदि सरकारी नौकरी के लिए 5 साल का अनुभव प्रमाण पत्र मांगा गया है तो उसे जारी करना चाहिए या सरकार को निजी विद्यालयों में कार्यरत कर्मचारी की 5 वर्ष की अनुभव प्रमाण पत्र की बाध्यता समाप्त करना चाहिए।