• Home
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में बहेगी शास्त्रीय संगीत व नृत्य की धारा
--Advertisement--

विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में बहेगी शास्त्रीय संगीत व नृत्य की धारा

अजमेर|शास्त्रीय संगीत व नृत्य को युवा पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए समर्पित संस्था स्पिक मैके की ओर से आयोजित विरासत...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 03:15 AM IST
अजमेर|शास्त्रीय संगीत व नृत्य को युवा पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए समर्पित संस्था स्पिक मैके की ओर से आयोजित विरासत शृंखला- 2018 का आगाज 17 अप्रैल से होगा। विरासत शृंखला में अजमेर के विभिन्न विद्यालयों व विश्वविद्यालयों में हिंदुस्तानी गायन, कर्नाटक गायन, भरतनाट्यम, कथक एवं सितार वादन के 10 कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

स्पिक मैके के जिला समन्वयक डाॅ. अनंत भटनागर ने बताया कि विरासत शृंखला का आगाज 17 अप्रैल को होगा। पहले दिन द टर्निंग पॉइंट पब्लिक स्कूल में सुबह 9 बजे कर्नाटक शास्त्रीय गायन शैली में विख्यात गायिका सुधा रघुरामन की प्रस्तुति होगी। इसी दिन मध्यान्ह 11.30 बजे चाचियावास स्थित आर्यभट्ट इंजीनियरिंग कॉलेज में भी उनकी प्रस्तुति होगी। केंद्रीय विश्वविद्यालय राजस्थान में 18 अप्रैल को शाम 5 बजे नृत्यांगना मीनाक्षी श्रीनिवासन भरतनाट्यम की नृत्य प्रस्तुति देंगी। 24 अप्रैल को शोवित चक्रवर्ती का कथक नृत्य का आयोजन रखा गया है। चक्रवर्ती सुबह 9 सेंट स्टीफन स्कूल तथा 11.30 बजे मस्कट सीसै स्कूल में प्रस्तुति देंगे। विरासत शृंखला के दो कार्यक्रम मई माह के प्रथम सप्ताह के होंगे। तीन मई को सुबह 10 बजे संस्कृति द स्कूल में सितार वादक सहाना बनर्जी प्रस्तुति देंगी तथा इसी दिन शाम 5 बजे केंद्रीय विश्वविद्यालय में इनका सितार वादन होगा। हिंदुस्तानी गायन का कार्यक्रम 5 मई को होगा, जिसमें प्रख्यात गायक जयतीर्थ मेवुंडी भगवंत विश्वविद्यालय में प्रस्तुति देंगे। डॉ. . भटनागर ने बताया कि स्पिक मैके भारतीय शास्त्रीय कलाओं को युवाओं से परिचित करवाने में प्रयासरत है। संस्था द्वारा दो हजार से अधिक कार्यक्रम देशभर की शैक्षणिक संस्थाओं में प्रतिवर्ष आयोजित किये जाते हैं। उन्होंने बताया कि इन आयोजनों में शहर के संगीत एवं कलाप्रेमी भी भाग ले सकते हैं।