• Home
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • एसीबी ने नयानगर पटवारी को 50 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा
--Advertisement--

एसीबी ने नयानगर पटवारी को 50 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा

नयानगर पटवारी को एसीबी अजमेर की टीम ने सोमवार को पटवार घर में 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 03:20 AM IST
नयानगर पटवारी को एसीबी अजमेर की टीम ने सोमवार को पटवार घर में 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने कब्जेशुदा आबादी जमीन को चरागाह बताकर उसे तरमीम कर पुख्ता जमाबंदी करने की एवज में 5 लाख रुपए मांगे थे। जिसकी पहली किस्त वसूल करते समय पकड़ा गया। एसीबी उसे मंगलवार को कोर्ट में पेश करेगी।

अजमेर एसीबी के डिप्टी महिपाल सिंह चौधरी ने बताया कि मेवाड़ी गेट बाहर निवासी अमित प्रजापत ने शिकायत पेश की। इसमें बताया गया कि राजस्व ग्राम गोविंदपुरा तहसील ब्यावर में उसकी 600 वर्गगज जमीन है। यहां स्थित खसरा नंबर 137 की जमीन को पटवारी संजय जैन चरागाह बताकर डरा रहा है। जैन ने जमीन तरमीम कर उसे चरागाह से हटाने और पुख्ता जमाबंदी करने की एवज में उससे पांच लाख रुपए की मांग की। जिसकी पहली किस्त के रूप में 50 हजार रुपए देना तय हुआ।

इसकी शिकायत अमित ने एसीबी में कर दी। एसीबी ने जांच के बाद अमित प्रजापत को केमिकल लगे 50 हजार रुपए देकर सोमवार को ब्यावर पटवार मंडल में भेजा। इस दौरान एसीबी की दो टीमें पहले से ही जाल बिछाकर मौके पर बैठ गई। इससे पहले करीब 25 दिन पहले भी टीम शिकायतकर्ता के साथ ब्यावर पहुंची और उसकी शिकायत की पुष्टि करने के लिए शिकायतकर्ता को एक छोटा टेपरिकॉर्डर दिया। शेष | पेज 8







जिससे आरोपी पटवारी और शिकायतकर्ता के बीच होने वाली बातचीत को सुना जा सके।

बालों पर हाथ घुमाकर किया इशारा

एसीबी टीम ने शिकायतकर्ता अमित प्रजापत को पटवार घर में पटवारी को रिश्वत देने के बाद बाहर आकर बालों पर हाथ घुमाने का इशारा करने के निर्देश दिए थे। जब पटवारी को 50 हजार रुपए रिश्वत देकर बाहर निकला और इशारा किया तो टीम तत्काल हरकत में आई और पटवारी को मौके पर ही धर-दबोचा। तलाशी में उसकी जेब से 50 हजार रुपए की रकम बरामद की। पटवारी को टीम तत्काल सिटी थाने लेकर पहुंची। जहां उसके हाथ धुलवाए तो हाथों पर रंग आ गया।

खुद के हाथ पर लिखकर तय किया था सौदा...

अमित प्रजापत ने बताया कि सोमवार को भी सौदा तय करते समय पटवारी ने पकड़े जाने के डर से एहतिहात बरतते हुए अपने ही हाथ पर 5 लाख रुपए लिखकर अमित प्रजापत को कहा कि इतने तो लगेंगे ही। टीम ने जब पटवारी को पकड़ा तो उसके हाथ पर यही रकम लिखी थी।



अन्य अधिकारी भी शक के दायरे में....

अमित प्रजापत ने आरोप लगाया कि पटवारी ने 5 लाख रुपए मांगते समय कहा कि यह रकम उसके सहित तहसीलदार और गिरदावर में बंटेगी। हालांकि एसीबी ने फिलहाल किसी अधिकारी को जांच में शामिल नहीं किया है।

शिकायतकर्ता।

आरोपी पटवारी।